बिहार के एलपीजी उपभोक्‍ताओं के लिए बड़ी खुशखबरी, अब बुकिंग के बाद नहीं करना होगा इंतजार

आइओसीएल यानी इंडेन ने बिहार में बढ़ाई गैस बॉटलिंग की क्षमता। प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

आइओसी की बॉटलिंग क्षमता बढ़ी आसानी से मिलेगा एलपीजी सिलेंडर गिद्धा प्लांट में लगी नई मशीन 12000 एलपीजी सिलेंडर की प्रतिदिन होगी बॉाटलिंग पटना भोजपुर बक्सर सासाराम कैमूर गया नालंदा जहानाबाद वैशाली और छपरा के उपभोक्ताओं को मिलेगा फायदा

Publish Date:Fri, 08 Jan 2021 06:13 AM (IST) Author: Shubh Narayan Pathak

पटना, जागरण संवाददाता। इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (Indian Oil Corporation) यानी आइओसी (IOC) के उपभोक्ताओं (Indane Consumers) को अब और आसानी से रसोई गैस (LPG) सिलेंडर की आपूर्ति हो सकेगी। दरअसल, आइओसी ने अपने आरा के गिद्धा स्थित बॉटलिंग प्लांट की क्षमता में वृद्धि कर दी है। यहां बॉटलिंग की एक और मशीन काम करने लगी है। इससे 12,000 सिलेंडरों की रीफिलिंग प्रतिदिन होने लगी है। आइओसीएल, इंडेन के ब्रांड नाम से एलपीजी का कारोबार करती है।

आरा में काम करने लगी है नई बॉटलिंग मशीन

आरा के गिद्धा स्थित आइओसी के प्लांट में अब तक 45,000 सिलेंडर की रीफिलिंग प्रतिदिन होती थी। रसोई गैस की बढ़ती खपत को देखते हुए इस प्लांट में एक और बॉटलिंग मशीन लगा दी गई है। इसी सप्ताह से इस नई मशीन से प्रतिदिन 12,000 सिलेंडरों की रीफिलिंग होने लगी है।

अब केवल आरा में ही रोज निकलेंगे 140 ट्रक सिलिंडर

आइओसी की चीफ मैनेजर (प्लानिंग एंड क्वार्डिनेशन, बिहार -झारखंड) वीणा कुमारी ने कहा कि गिद्धा प्लांट की बॉटलिंग क्षमता में वृद्धि की गई है। अब यहां प्रतिदिन 57,000 सिलेंडरों की बॉटलिंग हो सकेगी। यह 140 ट्रक होता है। एक ट्रक में 342 सिलेंडर आते हैं। नई मशीन लगने से पूर्व गिद्धा प्लांट से बॉटलिंग होकर 110 ट्रक सिलेंडर निकलते थे। उन्होंने कहा कि इससे पटना, भोजपुर, बक्सर, सासाराम, कैमूर, गया, नालंदा, जहानाबाद, वैशाली और छपरा के उपभोक्ताओं को समय से रसोई गैस सिलेंडर की आपूर्ति हो सकेगी। 

इंडेन का दावा- 48 घंटे में हर उपभोक्‍ता को डिलिवरी

बिहार एलपीजी डिस्ट्रीब्यूटर्स एसोसिएशन के महासचिव डॉ. रामनरेश सिंहा ने कहा कि फिलहाल भी रसोई गैस का कोई बैकलॉग नहीं है। उपभोक्ताओं को 48 घंटे के अंदर ही सिलेंडर की डिलीवरी हो रही है। गिद्धा प्लांट की उत्पादन क्षमता बढऩे से पटना सहित दस जिलों के उपभोक्ताओं को और सहजता से रसोई गैस सिलेंडर की आपूर्ति सुनिश्चित हो सकेगी। एलपीजी आपूर्ति में लगातार सुधार के प्रयास हो रहे हैं।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.