दस दिन से लापता लखीसराय के छात्र का शव गंगा से बरामद

दस दिन से लापता लखीसराय के छात्र का शव गंगा से बरामद

दानापुर। करीब दस दिन से लापता 20 वर्षीय छात्र सूरज का शव बुधवार को दीघा के गेट संख्या-92 स्थित घाट से बरामद किया गया।

Publish Date:Thu, 21 Jan 2021 02:42 AM (IST) Author: Jagran

दानापुर। करीब दस दिन से लापता 20 वर्षीय छात्र सूरज का शव बुधवार को दीघा के गेट संख्या-92 स्थित गंगा घाट से स्वजनों को मिला। शव की शिनाख्त स्वजनों ने ट्राउजर से की। रूपसपुर पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा है। मौत की खबर मिलते ही मां किरण देवी व बहन रोशनी चीत्कार मार रो पड़ी। वहीं, स्वजन सुबह से शव के पोस्टमॉर्टम के लिए रूपसपुर से पीएमसीएच व दानापुर का चक्कर काटते रहे।

मृतक सूरज कुमार मिश्र लखीसराय के पिरीबाजार थाना क्षेत्र के अभयपुर मसुदन निवासी सूबेदार सुबोध कुमार मिश्र का इकलौता पुत्र था। वह पढ़ाई के लिए विजयनगर के रोड नंबर-तीन में किराये पर मां व बहन के साथ रहता था। बताया जाता है कि वह नौ जनवरी को शाम चार बजे साइकिल से निकला था, लेकिन लौटा नहीं। सूरज के चचेरे भाई संजीव ने बताया कि सूरज साइकिलिंग करता था और बॉक्सिग में ब्लैक बेल्ट था। यहां रहकर बीसीए में पढ़ रहा था। घर नहीं लौटने पर रूपसपुर थाने में लिखित शिकायत दर्ज कराई थी, पर कुछ नहीं हो सका। इसके बाद हम लोग अपने स्तर से खोजबीन कर रहे थे। मंगलवार रात दीघा के गेट संख्या 92 के सामने गंगा घाट पर एक शव दिखा। शव सड़ा-गला था। उसका केवल ढांचा नजर आया और उस पर ट्राउजर, गंजी व जांघिया थी। ट्राउजर व कपडे़ से उसकी पहचान हम लोगों ने की। पुलिस को सूचना दी गई। संजीव ने बताया कि चाचा सीएमपी में सूबेदार हैं। वे बाहर ड्यूटी पर हैं। प्रभारी थानाध्यक्ष रंजन कुमार ने बताया कि स्वजनों के शिनाख्त करने के बाद शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया है। रिपोर्ट आने पर मौत का कारण स्पष्ट होगा। नहीं लगा बीएओ का सुराग, पुलिस ने एक दुकानदार से की पूछताछ

मसौढ़ी। लापता प्रखंड कृषि पदाधिकारी अजय कुमार का 72 घंटे बाद भी सुराग लगा पाने में पुलिस विफल रही है। हालांकि बीएओ की कॉल डिटेल के आधार पर पुलिस ने मंगलवार की रात पुनपुन के लखना निवासी एक खाद विक्रेता के घर पर छापेमारी की और उससे पूछताछ की। थानाध्यक्ष शुभम आर्य ने बताया कि फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है। उन्होंने बीएओ को बंधक बनाए रखने की भी आशंका जताई। उन्होंने बताया कि पुलिस सभी बिदुओं पर पड़ताल कर रही है।

गौरतलब है कि मसौढ़ी के प्रखंड कृषि पदाधिकारी अजय कुमार पटना के कंकड़बाग के दक्षिणी चांदमारी रोड, बुद्धनगर रोड नंबर-2 में स्वजनों के साथ किराए के मकान में रहते थे। वे बीते सोमवार की सुबह साढे़ सात बजे मसौढ़ी कार्यालय के लिए ट्रेन पकड़ने घर से निकले थे। लेकिन कार्यालय नहीं पहुंचे। ट्रेन से उतरकर बीएओ ने एक दुकान पर पी थी चाय :

सोमवार की सुबह पटना से ट्रेन के जरिये बीएओ अजय कुमार मसौढ़ी कोर्ट हॉल्ट पहुंचे थे और फिर उन्होंने अनुमंडल चौराहे के पास स्थित खाद-बीज की दुकान पर बिना चीनी की चाय भी पी थी। इसके बाद वे सैलून में दाढ़ी बनवाने की बात कह चल दिए। लेकिन कार्यालय नहीं पहुंचे। थानाध्य्क्ष ने बुधवार को उक्त दुकानदार से भी पूछताछ की। लेकिन वह किसी खास नतीजे पर नहीं पहुंच सके। 12 घंटे बाद कुछ देर के लिए ऑन हुआ था मोबाइल :

बताया जाता है कि बीएओ का मोबाइल उनके लापता होने के एक दिन बाद मंगलवार सुबह नौ बजे के बाद बंद हो गया था। लेकिन सूत्रों के मुताबिक मंगलवार रात नौ बजे फिर उनका मोबाइल कुछ देर के लिए ऑन हुआ था, फिर बंद हो गया। हालाकि उनके मोबाइल की टावर लोकेशन पहले की भांति मसौढ़ी थाने के सरवां गांव का ही बता रही थी। गौरतलब है कि सोमवार को अंतिम बार अनुमंडल चौराहे के पास एक दुकान पर देखे जाने के बाद फिर बीएओ को किसी ने नहीं देखा और अनुमंडल चौराहे से सरवां की दूरी महज चंद गज ही है। स्वजनों ने एसडीपीओ से मिलकर की सकुशल बरामदगी की मांग :

प्रखंड कृषि पदाधिकारी के पुत्र, दामाद व भाई समेत अन्य स्वजनों ने बुधवार को एसडीपीओ सोनू कुमार राय से उनके कार्यालय में मुलाकात की। उन्होंने बीएओ की शीघ्र सकुशल बरामद करने और कार्रवाई की मांग की। इस पर एसडीपीओ ने उन्हें आश्वासन दिया है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.