बिहार पंचायत चुनाव को लेकर कल दिल्‍ली में दोनों निर्वाचन आयोगों की अहम बैठक, हो सकता है फैसला

बिहार पंचायत चुनाव पर कल निकल सकता है कोई रास्‍ता, सांकेतिक तस्‍वीर ।

बिहार पंचायत चुनाव को लेकर पटना हाई कोर्ट में मंगलवार को नौवीं बार भी सुनवाई टली। भारत निर्वाचन और राज्‍य निर्वाचन आयोगों के बीच कल दिल्ली में अहम बैठक है। बैठक में भाग लेने राज्य निर्वाचन आयोग के सचिव योगेंद्र राम दिल्ली पहुंच गए हैं। निकल सकता है कोई रास्‍ता

Sumita JaiswalTue, 13 Apr 2021 08:51 PM (IST)

पटना, राज्य ब्यूरो। बिहार में पंचायत चुनाव (Bihar Panchayat Election 2021) में ईवीएम (EVM) के इस्तेमाल को लेकर विवाद पर न तो पटना हाइकोर्ट (Patna High Court) में सुनवाई हो पा रही है और न दोनों आयोगों (Election Commissions) के बीच वार्ता हो रही है। मंगलवार को फिर  हाई कोर्ट नौंवी बार सुनवाई टल गई।

इस बीच भारत निर्वाचन आयोग (Election Commissions of India) के बुलावे पर बैठक में भाग लेने राज्य निर्वाचन आयोग ( State Election Commission) के सचिव योगेंद्र  राम दिल्ली पहुंच गए हैं। माना जा रहा है कि बुधवार को दोनों आयोगों की बैठक में कोई रास्ता निकाल सकता है। लेकिन एक आशंका यह भी है कि भारत निर्वाचन आयोग ने राज्य निर्वाचन आयोग के आयुक्त को तकनीकी टीम के साथ तलब किया था। पर, बैठक में भाग लेने के लिए राज्य निर्वाचन आयोग के आयुक्त की जगह सचिव दिल्ली गए हैं। उधर,ईवीएम विवाद को कोर्ट से बाहर सुलझाने को लिए पटना हाइकोर्ट ने भी निर्देश दे रखा है। इस बीच दोनों आयोगों के बीच कई  बेनतीजा बैठकें भी हो चुकी है। एक बार फिर वार्ता बुधवार को होनी है।

हाई कोर्ट ने दोनों आयोगों को दी नसीहत

बता दें कि  बिहार में पंचायत चुनाव में मल्टीपोस्ट ईवीएम के इस्तेमाल को लेकर इलेक्शन कमीशन ऑफ इंडिया से एनओसी (No objection Certificate ) लेने की शर्त को स्टेट इलेक्शन कमीशन ने पटना हाइकोर्ट में चुनौती दी है। स्टेट इलेक्शन कमीशन की ओर से 19 फरवरी 2021 को पटना हाइकोर्ट में याचिका  दायर की गई थी। कोर्ट ने उस याचिका पर 23 फरवरी को सुनवाई की और दोनों आयोगों को आपसी तालमेल से मामला सुलझा लेने की नसीहत दी। इस नसीहत के बाद कोर्ट में एक बार सुनवाई हुई और नौ दफे सुनवाई टल चुकी है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.