नक्‍सल प्रभावित 10 राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ अमित शाह ने की बैठक, बिहार से CM नीतीश भी हुए शामिल

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने रविवार को देश के 10 नक्‍सल प्रभावित राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ हाई लेवल बैठक की। इसमें बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार भी शामिल हुए। बैठक के बाद नीतीश कुमार ने मीडिया से बातचीत में जातिगत जनगणना के पक्ष में भी अपनी राय रखी।

Amit AlokSun, 26 Sep 2021 06:45 AM (IST)
बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार एवं केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह। फाइल तस्‍वीरें।

पटना, आनलाइन डेस्‍क। देश में नक्सली समस्या (Naxal Problem) से निपटने को लेकर केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार (Narendra Modi Government) गंभीर है। इसी सिलसिले में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने रविवार को देश के 10 नक्‍सल प्रभावित राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक की। दिल्ली के विज्ञान भवन में हुई इस हाई लेवल बैठक में संबंधित राज्यों के मुख्य सचिव (CS) और पुलिस महानिदेशक (DGP) भी शामिल हुए। बैठक के बाद बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) ने मीडिया से बातचीत में कहा कि नक्‍सलवाद को खत्‍म करना जरूरी है। मुख्‍यमंत्री ने जातिगत जनगणना के पक्ष में भी अपनी राय रखी।

बैठक में नक्सली समस्या पर किया गया विचार

बैठक में देश में व्‍याप्‍त नक्सली समस्या पर विचार किया गया। समस्‍या को खत्म करने में आ रही परेशानियों पर चर्चा की गई। नक्‍सल प्रभावित राज्‍यों को केंद्रीय मदद देकर आगे की रणनीति भी बनाई गई। केंद्रीय गृह मंत्रालय के वाम उग्रवाद विभाग के अनुसार देश के 10 राज्‍यों के 70 जिले नक्‍सल प्रभावित हैं। 11 राज्यों के 23 जिले नक्सल प्रभाव से मुक्त हो चुके हैं। बिहार की बात करें तो 16 जिले नक्सल प्रभावित थे, जिनमें मुजफ्फरपुर, वैशाली, नालंदा, जहानाबाद, अरवल व पूर्वी चंपारण समस्‍या से मुक्‍त माने गए हैं। केंद्रीय गृह मंत्रालय के अनुसार बिहार के 10 जिले नक्‍सल प्रभावित रह गए हैं।

बिहार के गया, जमुई व लखीसराय अति नक्‍सल प्रभावित

केंद्रीय गृह मंत्रालय का वाम उग्रवाद विभाग नक्सली समस्‍या की समीक्षा करता रहता है। इसके अनुसार बिहार के

गया, जमुई व लखीसराय जिले नक्‍सली समस्‍या से अत्यधिक प्रभावित हैं। ये जिले देश के आठ राज्यों के 25 अत्यधिक नक्सल प्रभावित जिलों की सूची में शामिल हैं। इस सूची में सबसे अधिक आठ जिले झारखंड के हैं। जबकि, इसमें छत्तीसगढ़ के सात जिले भी शामिल हैं। गृह मंत्रालय की रिपोर्ट के अनुसार एक नई श्रेणी ऐसे इलाकों की है, जहां नक्सलवाद फैल रहा है। इसमें शामिल देश के छह राज्यों के आठ जिलों में बिहार से एकमात्र जिला औरंगाबाद है। इन जिलों को 'डिस्ट्रिक्ट ऑफ कंसर्न' माना गया है।

देश के राज्‍यों में नक्‍सल प्रभावित जिले, एक नजर

झारखंड: 16 छत्तीसगढ़: 14 बिहार: 10 ओडिशा: 10 तेलंगाना: 06 आंध्र प्रदेश: 05 केरल: 03 मध्य प्रदेश: 03 महाराष्ट्: 02 बंगाल: 01

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.