बिहार में पहली बार ईवीएम के सहारे होंगे पंचायत चुनाव, एक ही मशीन से डाले जाएंगे छह वोट

बिहार में पंचायत चुनाव में ईवीएम से डाले जाएंगे वोट। प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

बिहार पंचायत चुनाव में पहली बार ईवीएम के इस्‍तेमाल का रास्‍ता साफ हो गया है। इसके लिए खास किस्‍म की मल्‍टी पोस्‍ट ईवीएम की व्‍यवस्‍था हो रही है। राज्य निर्वाचन आयोग ने ईवीएम से चुनाव कराने का प्रस्ताव बिहार सरकार को दिया था जिसपर सरकार ने मुहर लगा दी है।

Publish Date:Sun, 17 Jan 2021 08:10 AM (IST) Author: Shubh Narayan Pathak

पटना, जागरण टीम। Bihar Panchayat Chunav Update News: बिहार पंचायत चुनाव में पहली बार ईवीएम (EVM) के इस्‍तेमाल का रास्‍ता साफ हो गया है। सरकार ने राज्‍य निर्वाचन पदाधिकारी के प्रस्‍ताव पर अपनी सहमति दे दी है। पंचायत चुनाव के लिए  खास किस्‍म की मल्‍टी पोस्‍ट ईवीएम (Multi Post EVM) का इस्‍तेमाल किया जाएगा। इस ईवीएम के जरिये पंचायत चुनाव के सभी छह पदों के लिए एक साथ मत डाले जा सकेंगे।

पंचायत चुनाव में ऐसा पहली बार होने जा रहा है। इससे पहले पंचायत चुनाव की प्रक्रिया बैलेट पेपर के सहारे ही पूरी की जाती थी। दरअसल पंचायत चुनाव में मतदाता को एक साथ छह पदों के लिए अपने प्रतिनिधि का चुनाव करना होता है। पंचायत चुनाव में ईवीएम के इस्‍तेमाल के लिए हर बूथ पर मल्‍टी पोस्‍ट ईवीएम की व्‍यवस्‍था की जाएगी। ईवीएम से पंचायत चुनाव कराने के राज्य निर्वाचन आयोग के प्रस्ताव पर बिहार सरकार ने मुहर लगा दी है।

सरकार ने आयोग को पत्र लिखकर बकायदा किया है सूचित

पंचायती राज विभाग (Bihar Panchayat Raj Vibhag) ने अपर मुख्य सचिव अमृत लाल मीणा ने पत्र लिखकर आयोग को सूचित कर दिया है। बता दें कि गत माह आयोग ने सरकार को पत्र लिखकर ईवीएम से चुनाव कराने अनुमति मांगी थी। इस पर मुख्य सचिव दीपक कुमार, आयोग के आयुक्त दीपक प्रसाद और अमृत लाल मीणा व अन्य अधिकारियों के सैद्धांतिक सहमति बन गई थी। अब सरकार ने आयोग को पत्र लिखकर बाकायदा सूचित कर दिया है।

मल्‍टी पोस्‍ट ईवीएम में एक साथ सभी छह पदों के लिए डाले जा सकेंगे मत

सरकार के इस निर्णय के बाद अब मल्टी पोस्ट ईवीएम (Multi post EVM) से चुनाव कराने का रास्ता साफ हो गया। यही नहीं, सहमति के बाद आयोग को मल्टी पोस्ट ईवीएम की खरीद प्रक्रिया शुरू करने में सहूलियत होगी। हालांकि अभी राशि की मंजूरी नहीं मिली है। मल्टी पोस्ट ईवीएम की यह खासियत यह है कि मतदाता एक साथ त्रिस्तरीय पंचायत जन प्रतिनिधियों में वार्ड सदस्य, मुखिया, पंच, सरपंच, पंचायत समिति सदस्य और जिला परिषद सदस्यों का एक साथ चुनाव कर सकेंगे। आयोग को मतदान के बाद सबसे अधिक सहूलियत मतगणना में होगी। बिहार में पंचायत चुनावों में अब कुछ हफ्तों का समय ही बचा है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.