Gopalganj Flood News: खतरे के निशान के नीचे पहुंची गंडक नदी, पर अभी भी मुश्किल में पानी से घिरे लोग

Gopalganj Flood News बिहार के गांपालगंज में गंडक नदी खतरे के निशान के नीचे पहुंच गई है। नदी का जल-स्‍तर घट रहा है। इसके बावजूद पानी से घिरे लोगोंं की मुसीबतें बरकरार हैं। आगे भी बाढ़ की आशंका को देख प्रभावित गांवों के लोग अभी भी पलायन कर रहे हैं।

Amit AlokTue, 22 Jun 2021 08:49 AM (IST)
बिहार में आई बाढ़ की फाइल तस्‍वीर।

गोपालगंज, जागरण संवाददाता। Gopalganj Flood News लगातार पांच दिनों तक दियारा के निचले इलाके में तबाही मचाने के बाद गंडक नदी (Gandak River) के जलस्तर में सोमवार से कमी आना प्रारंभ हो गया है। नदी के खतरे के निशान के नीचे (Below Danger Level) जाने के बाद प्रशासन ने राहत की सांस ली है। हालांकि, पानी से घिरे गांवों के लोगों की मुश्किलें कम होती नहीं दिख रही हैं। आने वाले समय में नदी के जलस्तर में उतार-चढ़ाव की आशंका को देखते हुए प्रभावित गांवों के लोग अब भी दियारा इलाके से पलायन कर रहे हैं। करीब चार दर्जन गांवों के अब भी पानी में घिरे होने के कारण लोगों के लिए नाव ही आवगमन का एकमात्र सहारा है। प्रभावित गांवों के लोग छतों व ऊंचे स्थानों पर शरण लिए हुए हैं।

धीरे-धीरे कम हो रहा गंडक नदी का डिस्‍चार्ज

16 जून को गंडक नदी में चार लाख क्यूसेक से अधिक पानी का डिस्चार्ज होने के बाद निचले इलाके के लोगों की मुश्किलें बढ़ गई थीं। नदी के पानी से घिरे गांवों के लोग घर छोड़कर पलायन करने लगे। इसके बाद गंडक नदी में पानी का डिस्चार्ज धीरे-धीरे कम होना प्रारंभ हुआ। सोमवार को नदी में पानी का डिस्चार्ज लेबल 99 हजार क्यूसेक होने के बाद जलस्तर में कमी का सिलसिला प्रारंभ हो गया है।

अभी भी पानी से घिरे चार दर्जन से अधिक गांव

बावजूद इसके वर्तमान समय में गंडक नदी के जलस्तर में बढ़ोत्तरी के कारण जिले के कुचायकोट, मांझा, बरौली, सिधवलिया, बैकुंठपुर व गोपालगंज प्रखंड के दियारा इलाके के बसे चार दर्जन से अधिक गांव बाढ़ की चपेट में हैं। इन गांवों में सदर प्रखंड के जगीरी टोला गांव के 14 टोला के अलावा कठघरवां, खैरटिया रामनगर, मंझरियां, मलाही टोला, मकसूदपुर, खाप मकसूदपुर तथा जगीरी टोला, मांझा प्रखंड के मुगंरहा, निमुईया, विनोद सहनी के टोला, नवका टोला, मथुरा साह के टोला, विशुनपुर सहनी के टोला, वृति टोला, माघी, इस्सापुर, सिधवलिया प्रखंड के सल्लेहपुर, बजरिया व रमपुरवा, बैकुंठपुर प्रखंड के गम्हारी पंचायत के तीन गांव के अलावा फैजुल्लाहपुर पंचायत के दो गांव, बरौली प्रखंड सलेमपुर पंचायत के तीन गांव तथा कुचायकोट प्रखंड काला मटिहनिया पंचायत खतरे के निशान के नीचे पहुंचा गंडक का जलस्तर

शनिवार से गंडक नदी के पानी के डिस्चार्ज का लेबल डेढ़ लाख क्यूसेक से कम होने के बाद रविवार की सुबह से गंडक नदी के जलस्तर में कमी प्रारंभ हुई थी। सोमवार को डिस्चार्ज का लेबल एक लाख क्यूसेक के कम होने के बाद गंडक नदी का जलस्तर खतरे के निशान के नीचे आ गया है। सदर अंचल के सीओ विजय कुमार सिंह ने बताया कि मंगलवार तक नदी के जलस्तर में और कमी आने की संभावना है। जिसके बाद बाढ़ से प्रभावित कई गांवों का सड़क संपर्क फिर बहाल हो जाएगा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.