बिहार के पूर्व डीजीपी गुप्‍तेश्‍वर पांडेय वृंदावन में सुनाएंगे श्रीमद्भागवत कथा, 25 जुलाई से होगा प्रवचन

बिहार के पूर्व पुलिस महानिदेशक गुप्‍तेश्‍वर पांडेय वृंंदावन में श्रीमद्भागत कथा का प्रवचन करेंगे। उनका यह कार्यक्रम 25 जुलाई को शुरू होगा। आयोजन का शुभारंभ केंद्रीय राज्‍य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे करेंगे। इसमें यूपी के मंत्री और बिहार के सांसद भी शामिल होंगे।

Vyas ChandraFri, 23 Jul 2021 01:00 PM (IST)
कथावाचक के वेश में गुप्‍तेश्‍वर पांडेय। फाइल फोटो

पटना, राज्‍य ब्‍यूराे। बिहार के पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय (Ex DGP Gupteshwar Pandey)  वृंदावन स्थित पराशर अध्यात्मपीठ में 25 जुलाई से श्रीमद्भागवत कथा का आयोजन करने जा रहे हैं। सात दिनों तक चलने वाले इस कार्यक्रम का उद्घाटन केंद्रीय राज्यमंत्री अश्वनी चौबे (Union Minister for State Ashwini Chaube) करेंगे। उत्तर प्रदेश सरकार के मंत्री सुनील भराला (UP Minister Sunil Bharala) मुख्य अतिथि और बिहार के भाजपा सांसद प्रदीप कुमार सिंह (BJP MP Pradeep Kumar Singh) विशेष अतिथि होंगे। रोज शाम तीन बजे कथा शुरू होगी और शाम छह बजे तक चलेगी। इसका लाइव प्रसारण शाम तीन बजे से शाम छह बजे तक सुभारती चैनल पर किया जाएगा। 

वीआरएस लेने के बाद से आध्‍यात्‍म में रमे हैं पूर्व डीजीपी  

आइपीएस से वीआरएस लेने के बाद कुछ दिनों तक राजनीति में सक्रिय रहे गुप्‍तेश्‍वर पांडेय बीते कुछ दिनों से पूरी तरह आध्‍यात्‍म में रमे हुए हैं। एक बड़े अधिकारी के इस अवतार की काफी चर्चा हुई। इस बाबत जब पूर्व पुलिस महानिदेशक से बात की गई तो उनका कहना था कि वे महज 14 वर्ष की उम्र से अलग-अलग अवसरों पर कथावाचन करते रहे हैं। शुरू से उनकी रुचि आध्‍यात्‍म में रही है। अपनी सेवा अवधि में भी वे इस तरह के कार्यक्रम में सक्रिय रहे। हालांकि उस दौरान कथावाचन की अनुमति नहीं थी। इसलिए तब वे कथावाचन नहीं करते थे। गुप्‍तेश्‍व पांडेय कहते हैं कि ईश्‍वर के चरणों में जगह पाना ही मानव जीवन का अंतिम लक्ष्‍य है। 

चर्चित आइपीएस अधिकारी रहे गुप्‍तेश्‍वर पांडेय 

मालूम हो कि फिल्‍म स्‍टार सुशांत सिंह राजपूत (Actor Sushant Singh Rajput) की मौत के बाद अपने बयानों के कारण वे चर्चा में आए थे। बिहार में हुए विधानसभा चुनाव से पहले उन्‍होंने नौकरी से वीआरएस ले लिया। बिहार के बक्‍सर जिले के रहने वाले गुप्‍तेश्‍वर पांडेय 1987 बैच के आइपीएस अधिकारी रहे हैं। सेवाकाल के दौरान वे काफी चर्चित रहे। सेवा के बाद भी वे सुर्ख‍ियों में बने रहते हैं। 

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.