top menutop menutop menu

स्टेशन के पास कपड़े की दुकान में फायरिग, दो गिरफ्तार

पटना। कोतवाली थाना क्षेत्र में कबाड़ी मार्केट के सामने भुवनेश्वर प्लाजा स्थित निजामी ट्रेडर्स नामक दुकान में गुरुवार की दोपहर एक बदमाश ने दहशत फैलाने के इरादे से फायरिग की। वारदात में नामजद सुल्तानगंज थानांतर्गत शाहगंज निवासी मो. सोनू और उसकी पत्नी को पुलिस ने घटना के तुरंत बाद गिरफ्तार कर लिया। हालांकि, गोली चलाने वाला बदमाश अब तक गिरफ्त में नहीं आ सका है। थानाध्यक्ष राम शंकर सिंह ने बताया कि आरोपित की पहचान कर ली गई है। उसकी गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है।

शटर पर चलाई थीं गोलियां

निजामी ट्रेडर्स के कर्मचारी तन्नू ने बताया कि दोपहर करीब साढ़े बारह बजे वह दुकान में बैठा था। उसके मालिक मो. नौशाद अहमद उर्फ नौशी बगल की दुकान में थे। तभी लंबे-चौड़े कद-काठी का बदमाश दुकान में पिस्तौल लेकर घुसा। उसने चेहरे को गमछे से ढक रखा था। वह हाथ में पिस्तौल लेकर जहां-तहां इशारा कर रहा था और कहा रहा था कि नौशी को सोनू भैया से पंगा लेना बहुत महंगा पड़ेगा। इसके बाद उसने दुकान की शटर पर दो राउंड फायरिग की। एक गोली शटर में लगी और दूसरी नीचे गिर गई। पूरी वारदात सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई। सूचना पर पहुंचे पुलिस ने घटनास्थल से दो खोखे बरामद किए।

सोनू की है टी-शर्ट की दुकान

तन्नू ने बताया कि बुद्धा प्लाजा में सोनू की टी-शर्ट की दुकान है। उसकी एक दुकान भुवनेश्वर प्लाजा में भी थी। वहीं, निजामी ट्रेडर्स के मालिक मो. नौशाद करबिगहिया स्थित मलिक मंजिल के रहने वाले हैं। घर में अक्सर पानी घुस जाने के कारण वह अब परिवार के साथ राजा बाजार पिलर संख्या 52 के सामने समनपुरा मोहल्ले में रहते हैं। नौशाद और सोनू दोस्त थे। दोनों ने मिलकर पटना सिटी की एक विवादित जमीन खरीदी थी। विवाद सामने आते ही सोनू ने हाथ खींच लिए और अपना हिस्सा मांगने लगा। नौशाद रुपये लौटाने के लिए तैयार हो गए। उन्होंने अलग-अलग राशि का चेक दिए। जैसे-जैसे रुपये लौटाते रहे, वैसे-वैसे अपना चेक वापस लेते गए।

बुधवार को भी दिए थे एक लाख रुपये

तन्नू के मुताबिक, बुधवार को सोनू और उसकी पत्नी दुकान में घुसकर नौशाद से झगड़ने लगे। नौशाद ने उन्हें एक लाख रुपये दिए। इसके बावजूद सोनू की पत्नी चिल्ला रही थी। दुकान के बाहर लोगों की भीड़ जमा हो गई। तब नौशाद भी गुस्सा हो गए। दोनों पक्षों में हाथापाई की नौबत आ गई। स्थानीय दुकानदारों ने उन्हें अलग कराया। जाने से पहले सोनू ने देख लेने की धमकी दी थी। बताया जाता है कि सोनू को अब केवल एक लाख रुपये और लौटाने बाकी हैं। सोनू के पक्ष में कोतवाली पहुंचे दुकानदार

फायरिग मामले में रहबर आजम उर्फ सोनू और उसकी पत्नी की गिरफ्तारी से नाराज बुद्धा प्लाजा व भुवनेश्वर प्लाजा के दर्जनों दुकानदार गुरुवार की शाम कोतवाली पहुंचे। दुकानदारों ने थाने में आवेदन देकर सोनू को फंसाए जाने की बात कही है। सोनू के पक्ष में सब्जीबाग के लोग भी आए हैं। दुकानदारों का कहना है कि नौशाद दो साल से रुपये लौटाने में टाल-मटोल का रवैया अपना रहा था इसलिए सोनू की पत्नी बुधवार को उससे मिलने के लिए दुकान पर गई थी। दुकानदारों ने आवेदन में लिखा है कि नौशाद के बेटे किंग्स ऑफ पटना नामक बाइकर्स गैंग के सदस्य हैं। आरोप है कि नौशाद ने ही सोनू को फंसाने के लिए दुकान पर फायरिग करवाई। दुकानदारों ने पुलिस से निष्पक्ष जांच कराने की मांग की है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.