पटना में तेजस्‍वी यादव व मीसा भारती पर पांच करोड़ की ठगी की FIR, पैसे लेकर टिकट नहीं देने का आरोप

पटना के कोतवाली थाना में तेजस्‍वी यादव तथा मीसा भारती के खिलाफ ठगी का मुकदमा दर्ज हुआ है। उनके खिलाफ लोकसभा चुनाव में पैसे लेकर पार्टी का टिकट नहीं देने का आरोप लगाया गया है। क्‍या है मामला जानिए इस खबर में।

Amit AlokWed, 22 Sep 2021 05:00 PM (IST)
तेजस्‍वी यादव, मीसा भारती एवं लालू प्रसाद यादव। फाइल तस्‍वीरें।

पटना, आनलाइन डेस्‍क। बिहार के पटना से यह बड़ी खबर है। राष्ट्रीय जनता दल (RJD) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) के बेटे व बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव (Tejashwi Yadav) तथा उनकी बहन व राज्‍यसभा सदस्‍य मीसा भारती (Misa Bharti) पर पटना के कोतवाली थाना (Kotwali Police Station, Patna) में ठगी का मुकदमा (Cheating Case) दर्ज किया गया है। उनपर बीते लोकसभा चुनाव (Lok Shabaha Election) में पैसे लेकर टिकट नहीं देने का आरोप लगाया गया है।

लोकसभा चुनाव में टिकट के नाम पर ठगी का आरोप

ज्ञात हो कि कांग्रेस नेता व अधिवक्‍ता संजीव कुमार सिंह ने पटना के मुख्‍य न्‍यायिक दंडाधिकारी की अदालत (CJM Court, Patna) में 18 अगस्त को आरजेडी नेता तेजस्वी यादव व मीसा भारती तथा कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा (Madan Mohan Jha), सदानंद सिंह (Sadanand Singh) के बेटे शुभानंद मुकेश (Shubhanand Mukesh) तथा राजेश राठौर (Rahesh Rathaur) सहित कुल छह लोगों को आरोपित बनाया गया। संजीव कुमार सिंह ने उनपर बीते लोकसभा चुनाव में पैसे लेकर टिकट न देने का आरोप लगाया है। कहा है कि टिकट देने के नाम पर पांच करोड़ की ठगी की गई है।

रुपये वापस मांगने पर तेजस्वी ने दी हत्‍या की धमकी

कांग्रेस नेता संजीव कुमार सिंह ने मुकदमे में आरोप लगाया है कि आरजेडी में उनसे लोकसभा चुनाव का टिकट देने के नाम पर पांच करोड़ रुपये ठग लिए गए। टिकट भी नहीं दिया गया। फिर, बाद में विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election 2020) का टिकट देने का गलत आश्वासन दिया गया। संजीव का आरोप है कि उन्‍होंने टिकट के लिए आरजेडी कार्यालय में तेजस्वी यादव और मदन मोहन झा को पांच करोड़ रुपये दिए थे। बाद में टिकट नहीं मिलने पर रुपये वापस मांगने पर तेजस्वी यादव ने हत्‍या की धमकी दी थी।

कोर्ट के आदेश पर कोतवाली थाना में एफआइआर दर्ज

संजीव कुमार सिंह के मुकदमे में सीजेएम काेर्ट ने 16 सितंबर को पटना के एसएसपी उपेंद्र शर्मा के माध्‍यम से कोतवाली थाना को एफआइआर दर्ज करने का आदेश दिया। इसके बाद बुधवार को यह एफआइआर दर्ज कर ली गई है।

तेजस्‍वी यादव ने सफाई में कही ये बातें

इस मामले में तेजस्वी यादव ने कहा कि पूरे मामले की निष्पक्ष जांच हो तो सब साफ हो जाएगा। आरोप लगाने वाले से यह भी पूछना जरूरी है कि उसके पास पांच करोड़ रुपये कहां से आए। कानून अपना काम करेगा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.