top menutop menutop menu

मीठापुर बस स्टैंड पर जमकर कटे फर्जी टिकट, लाखों की लगाई चपत

मीठापुर बस स्टैंड पर जमकर कटे फर्जी टिकट, लाखों की लगाई चपत
Publish Date:Thu, 16 Jul 2020 08:53 PM (IST) Author: Jagran

पटना । लॉकडाउन के पहले दिन गुरुवार को मीठापुर निजी बस स्टैंड में जमकर लूट मची। बस एजेंटों ने फर्जी टिकट काटकर यात्रियों को थमा दिया। दोपहर से शाम तक यात्री बसों के इंतजार में बैठे रहे। जब कोई बस नहीं खुली तो वे हंगामा करने लगे। इसके बाद थाने की गश्ती पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने राज रथ बस सर्विस का फर्जी टिकट लिया है। जक्कनपुर के प्रभारी थानाध्यक्ष अनिल कुमार सिंह ने बताया कि जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी।

बताते चलें कि पटना जंक्शन पर गुरुवार सुबह कई ट्रेनें आई थीं। वहां से विभिन्न जिलों के यात्री बड़ी संख्या में मीठापुर बस स्टैंड पहुंच गए। स्टैंड से सुबह 55 बसें खुली थीं। लेकिन, दोपहर एक बजे के बाद बसों के पहिए थम गए। हालांकि, यात्रियों की संख्या में कमी नहीं हुई। वे लगातार बस स्टैंड पहुंचते रहे। यात्रियों की संख्या देखकर कुछ एजेंट आ गए और उन्हें समझाने लगे कि सीटें फुल होने के बाद बसें चलेंगी। इसके लिए अग्रिम बुकिंग करानी होगी। यात्री मुंह मांगी कीमत पर टिकटों की बुकिंग कराने लगे। किसी से 300 तो किसी से 500 रुपये तक लेकर टिकट दिए गए। सबसे अधिक राशि उत्तरप्रदेश जाने के लिए वसूली गई। एक दर्जन यात्रियों से 1250 रुपये तक लिए गए। लंबे समय तक इंतजार करने के बाद यात्रियों ने पूछताछ शुरू की तो मालूम हुआ कि उन्हें फर्जी टिकट दिए गए हैं। कई टिकटों पर ऐसी बस सर्विस के नाम लिखे थे, जिनकी बसें मीठापुर बस स्टैंड से खुलती ही नहीं हैं।

बड़ी बात है कि लूट-खसोट का धंधा बस स्टैंड के सामने तैनात ट्रैफिक पुलिस के सामने हुआ मगर उन्हें भनक तक नहीं लगी। बस स्टैंड के गेट नंबर दो के सामने जिला प्रशासन ने टेंट बना रखा है। लेकिन, अब उसमें एक भी कर्मचारी नहीं रहता। उस टेंट में बस एजेंट और यात्री बैठते हैं।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.