Bihar Crime: निलंबित एसपी राकेश दुबे के पास मिली करोड़ों की संपत्ति, मनी लांड्रिंग में भी आया नाम

Bihar Crime अवैध बालू खनन मामले में निलंबित आइपीएस अधिकारी राकेश कुमार दुबे के कई ठिकानों पर ईओयू की टीम ने गुरुवार सुबह धावा बोला। पटना के एसके पुरी थाना क्षेत्र के गांधी पार्क स्थित आवास पर दो गाड़‍ियों से पहुंची ईओयू की टीम ने छानबीन की।

Vyas ChandraThu, 16 Sep 2021 09:53 AM (IST)
एसके पुरी थाना क्षेत्र में राकेश दुबे के घर के बाहर लगी अफसर की गाड़ी। जागरण

राज्य ब्यूरो, पटना : बालू के अवैध खनन मामले में निलंबित किए गए भोजपुर के एसपी राकेश दुबे के पटना और जसीडीह के चार ठिकानों पर गुरुवार को आर्थिक अपराध इकाई (ईओयू) ने छापेमारी की जिसमें अकूत संपत्ति का पता चला है। प्राथमिक जांच में करीब दो करोड़ 55 लाख 49 हजार 691 रुपये की आय से अधिक संपत्ति मिली है। 

राकेश दुबे पर अपनी पत्नी, स्वजनों, मित्रों व व्यावसायिक सहभागियों के जरिए काले धन को सफेद बनाने यानी मनी लांड्रिंग करने के भी प्रमाण मिले हैं। बिल्डरों से साठ-गांठ कर कई राज्यों के आधा दर्जन से अधिक कंस्ट्रक्शन कंपनियों में अवैध तरीके से नकद राशि निवेश की गई है। इसके अलावा होटल, रेस्तरां, मैरेज हाल व भू-खंडों में भी करोड़ों रुपये निवेश किए गए हैं। अवैध तरीके से कमाए गए करोड़ों रुपये ब्याज पर भी लगाए गए हैं। ईओयू की टीम अभी इन सारी संपत्तियों का आकलन कर रही है। उनकी मां और बहन के नाम पर भी कई चल एवं अचल संपत्तियों की जानकारी मिली है, जिसका सत्यापन किया जा रहा है। इसके बाद अवैध कमाई की राशि और बढ़ सकती है। 

पटना व जसीडीह के ठिकानों पर छापेमारी 

आर्थिक अपराध इकाई ने बुधवार को निलंबित एसपी राकेश दुबे पर आय से अधिक संपत्ति के मामले में प्राथमिकी दर्ज कराई। इसके बाद निगरानी कोर्ट से सर्च वारंट लिया गया। गुरुवार की सुबह ईओयू की अलग-अलग चार टीमों ने एक साथ छापेमारी की। पटना के कृष्णापुरी थाना अंतर्गत आनंदपुरी के गांधी पथ स्थित आवास और दानापुर थाना अंतर्गत जलालपुर अभियंता नगर में सुदामा पैलेस के फ्लैट नंबर 204 में छापेमारी हुई। इसके अलावा जीसीडीह देवघर स्थित सचिंद्र रेसिडेंसी और जसीडीह के ही सिमरिया गांव स्थित राकेश दुबे के पैतृक आवास की तलाशी ली गई। इस दौरान उनके बैंक खाते, शेयर, बीमा, आयकर रिटर्न, चल-अचल संपत्ति से जुड़े दस्तावेज आदि को जब्त कर लिया गया। 

सैलरी अकाउंट से निकासी नगण्य, बिल्डर के खाते में भेजे 25 लाख

ईओयू की जांच में पाया गया कि अपने सेवा काल के दौरान राकेश दुबे ने वेतन खाते यानी सैलरी अकाउंट से नकद रुपये की निकासी लगभग नगण्य की है। उनके ठिकानों पर छापेमारी के क्रम में बिल्डरों से उनके व्यावसायिक संबंधों के भी साक्ष्य मिले हैं। ख्याति कंस्ट्रक्शन के बैंक खाते में 25 लाख रुपये हस्तांतरित किए जाने का सबूत भी ईओयू को मिला है। इसके अलावा अपने व पत्नी के नाम पर कैनरा रोबेको, आइसीआइसीआइ, एसबीआइ, एलएंडटी, निपन इंडिया व फ्रेंकलीन टेम्लेसन जैसी कंपनियों में म्युचअल फंड के माध्यम से 12 लाख रुपये के निवेश किया गया है। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.