महीने के अंत तक कांग्रेस का दामन थाम सकते हैं डा. कन्‍हैया कुमार, पंजाब की स्थिति से तय होगी तिथि

वामपंथी नेता डा. कन्‍हैया कुमार और गुजरात के दलित नेता जिग्‍णेश मेवानी 28 सितंबर को कांग्रेस की सदस्‍यता ग्रहण करेंगे। ऐसी खबर आ रही है कि पंजाब में उथल-पुथल शांत होने के बाद दोनों भगत सिंह की जयंती पर पार्टी की सदस्‍यता ग्रहण करेंगे।

Vyas ChandraSun, 19 Sep 2021 10:58 AM (IST)
टीम राहुल गांधी का हिस्‍सा बन सकते हैं कन्‍हैया कुमार। फाइल फोटो

पटना, आनलाइन डेस्‍क। जेएनयू छात्र संघ (JNU Students Union) के पूर्व अध्‍यक्ष और वामपंथी डा. कन्‍हैया कुमार (Dr Kanhaiya Kumar) के कांग्रेस में जाने की अटकलें काफी समय से चल रही है। इस बीच खबर आई है कि वे 28 सितंबर को कांग्रेस की सदस्‍यता ग्रहण करेंगे। उनके साथ गुजरात के बड़गाम विधानसभा के निर्दलीय विधायक और दलित नेता जिग्‍नेश मेवानी भी उस दिन कांग्रेस ज्‍वाइन कर सकते हैं। सूत्रों का कहना है कि पंजाब में कांग्रेस की उथल-पुथल शांत होने के बाद भगत सिंह की जयंती पर दोनों नेता कांग्रेस का हाथ थाम सकते हैं। कन्‍हैया के कांग्रेस में जाने से बिहार में पार्टी को मजबूती मिल सकती है।

हार्दिक पटेल निभा रहे हैं अहम कड़ी 

जानकार बताते हैं कि गुजरात में कांग्रेस के कार्यकारी अध्‍यक्ष हार्दिक पटेल (Gujrat Congress President Hardik Patel) इसकी अहम कड़ी हैं। वे ही दोनों युवा नेताओं और पार्टी के बीच तार जोड़ने के प्रयास में हैं। लेकिन अभी पंजाब प्रकरण के कारण कांग्रेस में आंतरिक घमासान मचा है। ऐसे में यदि वहां की राजनीतिक स्थिति सामान्‍य होती है तो ये कन्‍हैया और जिग्‍नेश 28 को हाथ पकड़ सकते हैं। बिहार के बेगूसराय के रहने वाले कन्‍हैया की छवि तेजतर्रार छात्र नेता के रूप में रही है। हालांकि जवाहर लाल नेहरू विश्‍वविद्यालय में कथित देशविरोधी नारेबाजी के कारण वे लाइमलाइट में आए थे। उन्‍हें जेल भी जाना पड़ा। लेकिन इसके बाद वे केंद्र सरकार पर हमला करने का एक भी मौका नहीं चूकते। 

माले प्रत्‍याशी के रूप में लड़ा था लोकसभा चुनाव 

2019 के लोकसभा चुनाव (2019 Loksabha Election) में भाकपा माले (CPI ML) प्रत्‍याशी के रूप में वे भाजपा के कद्दावर नेता और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह के खिलाफ मैदान में उतरे थे। लेकिन उन्‍हें मात खानी पड़ी थी। पिछले दिनों खबर आई कि वे कांग्रेस नेता राहुल गांधी से मिले हैं। तब से ही कयास लगाए जा रहे थे कि वे कांग्रेस का दामन थाम सकते हैं। 

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.