कोरोना से बचने के चक्‍कर में अपनी मर्जी से मत खाएं दवाएं और विटामिंस, इस तरीके से बढ़ा सकते हैं प्रतिरोधक क्षमता

बगैर डॉक्‍टर के सलाह के गोलियां लेना हो सकता है खतरनाक। प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

Nutritional Diet to Improve Immune System कोरोना से बचाव में सबसे अहम भूमिका है पोषणयुक्‍त भोजन और नियमित दिनचार्य की। इसके जरिये आपके शरीर का प्रतिरक्षा तंत्र मजबूत होगा और आपके शरीर में वायरस से लड़ने की ताकत बढ़ेगी।

Shubh Narayan PathakSat, 17 Apr 2021 07:53 AM (IST)

पटना, जागरण संवाददाता। Nutritional Diet to improve immune system: कोरोना को मात देने के लिए इम्युनिटी पावर बढ़ाना अनिवार्य है, लेकिन इसके चक्कर में लोग दूसरी बीमारियों को आमंत्रण दे रहे हैं। कोरोना से बचने और संक्रमित होने पर सभी का एक जैसा उपचार या दवा की एक सी मात्रा तय नहीं की जा सकती। इसी तरह इम्युनिटी बढ़ाने वाले खाद्य पदार्थों के सेवन में अति भी दूसरी बीमारियों को दावत दे सकती हैं। यह सलाह है एम्स पटना के डीन डॉ. उमेश भदानी की। उनका कहना है कि बगैर चिकित्सक से सलाह लिए अनावश्यक या मात्रा से अधिक खुराक नहीं लें। यदि पहले से किसी गंभीर बीमारी से पीडि़त हैं तो यह घातक हो सकता है।

संतुलित आहार से ही बढ़ेगी इम्यूनिटी, बगैर सलाह नहीं लें दवा की ज्यादा खुराक गंभीर बीमारी से पीडि़त लोगों के लिए खतरनाक हो सका है ज्यादा अनावश्यक आहार ज्यादा देर तक खाली पेट रहने से भी इम्यूनिटी पावर पर पड़ता है प्रतिकूल प्रभाव

विटामिन सी, प्रोटिन, जिंक आदि कई बीमारियों के लिए बेहतर नहीं होता है। जड़ी-बूटी का भी एक नियत मात्रा से अधिक सेवन दुष्प्रभावी होता है। विटामिन व प्रोटीन बढ़ाने के लिए एलापैथिक व आयुर्वेदिक दवाएं आजकल ज्यादा ली जा रही हैं। दवाओं की अधिक मात्रा घातक हो सकती है। ऐसे में संतुलित भोजन हमारे इम्यूनिटी पावर को बढ़ाने में कारगर है। ताजा सब्जी, फल का सेवन ही श्रेयस्कर है।

आहार के अनुसार शारीरिक सक्रियता जरूरी

डॉ. भदानी का कहना है कि यदि हम ज्यादा आहार लेते हैं तो उसे पचाने के लिए शारीरिक सक्रियता भी बढ़ानी होगी, लेकिन यह कोरोना संक्रमण के दौर में संभव नहीं है। ऐसे में नियमित अंतराल पर थोड़ा-थोड़ा भोजन लेना बेहतर रहेगा।  ज्यादा देर तक खाली पेट रहने से भी इम्यूनिटी पावर पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है।

मौसम के अनुकूल नहीं है ज्यादा आहार लेना

इंदिरा गांधी इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (आइजीआइएमएस) की सीनियर डाइटीशियन पल्लवी ने बताया कि इस मौसम में ज्यादा आहार लेने पर गैस और अपच की शिकायत आम है। इस कारण लोग डिहाइड्रेट हो जा रहे है। कोरोना के नए स्ट्रेन से गैस और दस्त की शिकायत मिल रही है। भोजन में प्रोटीन और विटामिन युक्त पदार्थों की मात्रा जरूरत के अनुसार बढ़ा दें। मौसमी साग-सब्जी और फल हमारे इम्युनिटी पावर को दुरुस्त रखने में कारगर हैं। थोड़ा-थोड़ा कर दिन भर में कई बार खाएं। खुराक के बारे में किसी से सलाह लें तो संक्रमित चिकित्सक को अपनी पहले की बीमारी के बारे में जरूर बताएं।

जानें किसमें है, कौन सा विटामिन

विटामिन ए : शकरकंद, गाजर, पालक, शिमला मिर्च, आम।

विटामिन बी : अखरोट, रागी, अरहर, दाल, बादाम।

विटामिन सी : ब्रोकली, ऑरेंज, अमरूद, टमाटर, लाल मिर्च, अनानास, स्ट्रॉबेरी, नींबू आदि।

विटामिन बी सिक्स : हरी सब्जी, मछली।

आयरन : पालक, टोफू आदि।

जिंक : अंकुरित दाल, पनीर, बींस, मशरूम, दालें, दूध आदि।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.