बिहार में अपराध नियंत्रण को ले NDA दो-फाड़, योगी आदित्‍यनाथ व नीतीश मॉडल पर गहराया विवाद

योगी आदित्‍यनाथ व नीतीश कुमार। फाइल तस्‍वीरें।

बिहार में अपराध नियंत्रण को लेकर सत्‍ताधारी एनडीए के दोनों घटक दल बीजेपी व जेडीयू के अलग-अलग सुर सुनाई दे रहे हैं। बीजेपी बिहार में अपराध नियंत्रण का योगी आदित्‍यनाथ मॉडल लागू कराना चाहती है तो जेडीयू नीतीश मॉडल को सही मानता है।

Amit AlokFri, 05 Mar 2021 11:17 AM (IST)

पटना, राज्य ब्यूरो। Bihar Politics बिहार में कानून-व्‍यवस्‍था (Law and Order) व अपराध नियंत्रण (Crime Control) की स्थिति को लेकर सत्‍ताधारी राष्‍ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) के दोनों घटक दल भारतीय जनता पार्टी (BJP) एवं जनता दल यूनाइटेड (JDU) आमने-समाने दिख रहे हैं। बीजेपी विधायकों ने राज्‍य में अपराध नियंत्रण के लिए उत्तर प्रदेश के योगी आदित्‍यनाथ मॉडल (Yogi Adityanath Model of Crime Control) लागू करने पर बल दिया तो जेडीयू मंत्री व विधायक ने कहा कि बिहार में नीतीश मॉडल (Nitish Model of Crime Control) ही चलेगा।

बीजेपी बोली: बिहार में भी लागू हो योगी मॉडल

बिहार विधानसभा परिसर में गुरुवार को बीजेपी विधायक पवन जायसवाल (Pawan Jaiswal) बढ़ते अपराध और सीतामढ़ी में हुए एनकाउन्टर के मसले पर मीडिया से बातचीत कर रहे थे। इसी क्रम में उन्होंने सीतामढ़ी की घटना का हवाला देकर कहा बिहार में भी गाड़ी पलटनी चाहिए। अपराध पर अंकुश लगाने के लिए उत्तर प्रदेश (UP) की तर्ज पर योगी आदित्‍यनाथ मॉडल लागू होना चाहिए। इसके पहले बीजेपी विधायक मिथिलेश कुमार (Mithilesh Kumar) ने भी कहा था कि बिहार में एनडीए-1 (NDA-1) व एनडीए-2 (NDA-2) की सरकारों के बीच महागठबंधन (Mahagathbandhan) की सरकार बनने के बाद से कानून-व्‍यवस्‍था की हालत खराब हो गई है। अपराध नियंत्रण के लिए बिहार ही नहीं पूरे देश में योगी मॉडल लागू किया जाना चाहिए।

जेडीयू का पलटवार: यहां नीतीश मॉडल ही चलेगा

बीजेपी विधायक का यह बयान सहयोगी जेडीयू को रास नहीं आया। जेडीयू के वरिष्ठ नेता और नीतीश कैबिनेट में भवन निर्माण मंत्री डॉ. अशोक चौधरी (Dr. Ashok Chaudhary) ने पवन जायसवाल के बयान पर पलटवार करते हए कहा कि बिहार में सिर्फ नीतीश मॉडल ही चलेगा। उन्होंने कहा कि पिछले 15 वर्षों से बिहार में नीतीश मॉडल लागू है और सफल भी है। यहां यूपी की योगी मॉडल की जरूरत नहीं है। अशोक चौधरी के अलावा जेडीयू विधायक गोपाल मंडल (Gopal Mandal) ने भी बीजेपी विधायक के बयान पर पलटवार किया। उन्‍होंने कहा कि वे खुद लाइसेंसी हथियार रखते हैं। अपराधी आएगा तो उसे समझ में आ जाएगा कि कहां आया है। उन्होंने कहा बिहार में नीतीश मॉडल लागू है आगे भी वही लागू रहेगा। लोग यूपी मॉडल के बारे में सोचना छोड़ दें।

बिहार में हुईं अपराध की कई बड़ी घटनाएं

ज्ञात हो कि बीते हाल के दिनों में कई बड़े अपराध हुए हैं। हाल ही में शराब माफिया ने एक पुलिस सब-इंस्पेक्टर की हत्या कर दी तो पटना, समस्तीपुर और बेगूसराय में लूट की घटनाएं भी हुईं। इनमें बैंक लूट की दो घटनाएं भी शामिल हैं।

बीजेपी पहले भी खड़े कर चुकी है सवाल

बिहार में अपराध को लेकर विपक्ष के हमले के बीच नीतीश सरकार में सहयोगी बीजेपी भी सवाल खड़े करती रही है। खुद बीजेपी के प्रदेश अध्‍यक्ष डॉ. संजय जायसवाल भी कानून-व्‍यवस्‍था को लेकर बयान दे चुके हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.