top menutop menutop menu

CoronaVirus Patna: पर्यटन सुविधा केन्द्र अब आइसोलेशन वार्ड में होगा तब्दील, 150 बेड और वेंटिलेटर के साथ जानिए क्‍या है खास

जेएनएन, पटना।  लगातार बढ़ रहे कोरोना के मरीज के बाद एक्टिव केस के मामले में पटना बिहार में पहले पायदान पर पहुंच गया है। पटना में अबतक संक्रमितों की संख्या 965 पहुंच गई है जिसमें 487 एक्टिव मामले हैं। स्‍वास्‍थ्‍य विभाग ने कोराेना से जंग लड़ने के लिए अब अपनी कमर कस ली है। इसी कड़ी में पटना सिटी में पॉजिटिव मरीजों की लगातार बढ़ती संख्या को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने चौक थाना अन्तर्गत कंगन घाट किनारे नवनिर्मित पर्यटन सुविधा केन्द्र को आइसोलेशन वार्ड में तब्दील कर दिया है। यहां 150 मरीजों को रखने की व्यवस्था की जा रही है। घनी आबादी से दूर गंगा किनारे बने इस आइसोलेशन वार्ड में मरीजों के इलाज व देखभाल की व्यवस्था का जायजा अनुमंडलाधिकारी राजेश रौशन ने लेते हुए बताया कि यहां अनुमंडल क्षेत्र के कोरोना पॉजिटिव मरीज रखे जाएंगे।  केवल गंभीर तथा अति गंभीर मरीजों को ही कोरोना अस्पताल एनएमसीएच में भेजा जाएगा।

तीन शिफ्टों में लगाई गई है डॉक्टरों एवं नर्सों की ड्यूटी

यह आइसोलेशन वार्ड श्री गुरु गोविंद सिंह सदर अस्पताल के अधीन संचालित करने का निर्देश है। यहां कोरोना संक्रमितों की सेवा के लिए वहां के डॉक्टरों एवं नर्सों की ड्यूटी तीनों शिफ्ट में लगाई गयी है ताकि किसी संक्रमित को किसी चीज की कोई दिक्‍कत न हो।

कंट्रोल रूम से मरीज स्‍वजन की ले सकेंगे जानकारी

यहां की चिकित्सकीय व्यवस्था को सदर अस्पताल की अधीक्षक डॉ. मणि दीपा मजुमदार देखेंगी। एसडीओ ने बताया कि इस केंद्र में एक बड़ा हॉल तथा 28 कमरे हैं। दूरी रखते हुए प्रत्येक कमरे में दो-दो बेड एवं हॉल में साठ बेड लगाया जा रहा है। मरीजों के लिए यहां ऑक्सीजन की व्यवस्था होगी। आवश्यकता पडऩे पर वेंटिलेटर भी लगाया जाएगा। इस वार्ड में रहने वाले मरीजों को खाना के साथ दैनिक आवश्यकता से जुड़ी सामग्री दी जाएगी। अस्पताल प्रबंधक शब्बीर खान ने कहा कि इस केन्द्र में कंट्रोल रूम भी काम करेगा। जहां से मरीज संबंधित जानकारी स्वजन ले सकेंगे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.