top menutop menutop menu

CoronaVirus Update Bihar: 24 घंटे में नौ कोरोना मरीजों की मौत; फिर मिले 478 नए मामले, आंकड़ा पहुंचा 10683‍

पटना, जेएनएन। बिहार में कोरोना का संक्रमण लगातार फैलता जा रहा है। गुरुवार को कुल 478 नए मरीज मिले हैं, जिसके बाद कोरोना मरीजों की संख्या अब 10683 हो गई है। वहीं पिछले 24 घंटे में कुल नौ मरीजों की मौत हो गई है। बुधवार को एक दिन में छह कोरोना मरीजों की मौत हुई थी वहीं आज भी पटना के एनएमसीएच में तीन मरीजों की मौत हो गई है। उसके बाद कोरोना से मृतकों की संख्या भी बढ़कर अब 79 हो गई है। 

नएमसीएच में लगातार दूसरे दिन तीन और कोरोना पॉजिटिव की मौत

बिहार के कोरोना अस्पताल एनएमसीएच के नोडल पदाधिकारी ने बताया कि आज एम्स पटना से रेफर और  फेफड़ा की बीमारी से ग्रसित एक मरीज, पीएमसीएच से रेफर और मधुमेह से पीड़ित मसौढ़ी के 45 वर्षीय मरीज और पीएमसीएच से रेफर भोजपुर के 75 वर्षीय मरीज की मौत हो गई है, वे किडनी की बीमारी से ग्रसित थे। इस तरह तीन कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत हो गई है।

एक दिन में छह कोरोना मरीजों की मौत

स्वास्थ्य विभाग ने बुधवार को जारी मेडिकल बुलेटिन में बताया कि पटना में तीन, मुजफ्फरपुर में एक, समस्तीपुर में एक और सीतामढ़ी में एक व्यक्ति की मौत हुई है। ये सभी लोग कोरोना संक्रमित होने के साथ ही कई दूसरी तरह की बीमारियों से ग्रसित थे। 

कोरोना अस्पताल में बेड पड़े कम, मचा हंगामा 

कोरोना संदिग्ध व संक्रमितों की संख्या तेजी से बढऩे के कारण बिहार के कोरोना एनएमसीएच में अब बेड कम पडऩे लगे हैं। अधिकांश मरीज दूसरे अस्पतालों से यहां रेफर होकर आ रहे हैं। ऐसे में उन्हें भर्ती करने के लिए मंगलवार की रात कुछ देर के लिए हंगामा के हालात उत्पन्न हो गए। यही स्थिति सोमवार की रात भी हुई थी।

उपाधीक्षक डॉ. गोपाल कृष्ण ने बताया कि कई दूसरे विभाग के वार्डों का ताला खोलकर मरीजों को भर्ती किया गया। हालांकि बढ़ती संख्या के अपेक्षाकृत बेड कम पडऩे लगे हैं। कोरोना के गंभीर मरीजों के लिए कुछ बेड बचाकर रखे गए हैं।

डॉ. कृष्ण ने बताया कि करीब सात सौ बेड वाले इस अस्पताल में एक मीटर की दूरी पर बेड लगाने से यह संख्या लगभग चार सौ ही रह गयी है। सर्जरी विभाग, स्त्री एवं प्रसूति विभाग तथा हड्डी रोग विभाग में कोरोना आशंकितों को रखा गया है। अब इनकी संख्या बढऩे से दूसरी जगहों पर बेड की व्यवस्था की जा रही है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.