मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने सीधे डीजीपी को लगाया फोन, रूपेश हत्‍याकांड पर कह दी बड़ी बात

मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने अपराध नियंत्रण पर दिए सवालों के जवाब। जागरण

मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार बोले- अपराधी कोई भी हो छोड़ेंगे नहीं अपराध की वजह को भी देखना चाहिए रूपेश हत्याकांड में संलिप्त अपराधी का कराएंगे स्पीडी ट्रायल पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही अपराध कौन कर रहा यह भी देखें

Publish Date:Fri, 15 Jan 2021 12:08 PM (IST) Author: Shubh Narayan Pathak

पटना, राज्य ब्यूरो। बिहार के मुख्‍यमंत्री मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Bihar Chief Minister Nitish Kumar) ने बिहार में कानून-व्‍यवस्‍था के मुद्दे पर सीधे डीजीपी (CM Nitish Called DGP on Law and Order) को फोन लगाकर बात की है। पटना एयरपोर्ट (Patna Airport) पर तैनात इंडिगो एयरलाइंस के अधिकारी रूपेश कुमार सिंह (Murder of Indigo airlines officer Rupesh Kumar Singh) की उनके घर के ठीक सामने हत्‍या से जुड़े सवालों पर उन्‍होंने शुक्रवार को कहा कि अपराधी चाहे कोई भी हो उसे छोड़ा नहीं जाएगा। अपराध की वजह को भी देखना चाहिए। राजधानी पटना में नवनिर्मित आर ब्‍लॉक-दीघा सिक्‍स लेन सड़क (अटल पथ) के लोकार्पण समारोह में पत्रकारों से बातचीत के क्रम में मुख्यमंत्री ने ये बातें कहीं।

अपराधी पूछकर नहीं करते अपराध, संज्ञेय अपराधों में बिहार की हालत बेहतर

मुख्यमंत्री ने कहा कि पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है। मैंने इस बारे में खुद डीजीपी से बात की है। इस हत्याकांड में संलिप्त अपराधी का स्पीडी ट्रायल कराएंगे। उन्होंने कहा कि अपराध कौन कर रहा, यह भी देखना चाहिए। कौन सी वजह से हत्या को अंजाम दिया गया, यह भी देखें। अपराधी किसी से अनुमति लेकर अपराध नहीं करता। हत्या की कोई न कोई वजह होती है। बिहार संज्ञेय अपराध के मामले में पूरे देश में काफी नीचे है। एक्शन नहीं लेने वाले पुलिस अधिकारियों पर भी कार्रवाई होती है।

अपराध की कुछ वारदातों को बढ़ा-चढ़ाकर पेश करने से पहले देखें पति-पत्‍नी का काल

मुख्यमंत्री ने कहा पति-पत्नी के पंद्रह वर्षों के शासनकाल में अपराध की क्या स्थिति थी, यह भी ध्यान में रख कोई बात की जाए। उन्‍होंने कहा कि बिहार की कानून-व्‍यवस्‍था पहले से बेहतर है और सरकार अपराधियों पर कार्रवाई के लिए पूरी तरह गंभीर है। मुख्यमंत्री से पत्रकारों ने यह कहा कि डीजीपी फोन ही नहीं उठाते हैं। जानकारी आखिर किससे ली जाए? इस पर मुख्यमंत्री ने सीएम ने डीजीपी को फोन कर कहा कि मीडिया से जुड़े लोगों का फोन उठाएं और उनका जबाव जरूर दें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.