Chhath in Bihar: कोरोना संक्रमण को अनदेखा कर छठ घाटों पर उमड़े लोग, उदीयमान सूर्य को दिया अर्घ्‍य

पटना के एक गंगा घाट पर अर्घ्‍य देने पहुंचे व्रती। जागरण

पटना के गंगा घाटों पर डरावनी तस्वीर आस्था की अंजुरी से उदीयमान सूर्य को दिया जा रहा अर्घ्‍य महिलाओं के साथ-साथ पुरुषों ने भी की दिनकर की आराधना कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बावजूद गंगा घाटों पर दिखी भीड़ -घरों में परस्पर सहयोग व प्रेम का अद्भुत नजारा दिखा

Shubh Narayan PathakMon, 19 Apr 2021 06:58 AM (IST)

पटना, जागरण टीम। Chhath Celebration in Bihar: बिहार में कोरोना संक्रमण की भयावह स्थिति के बीच छठ व्रत करने के लिए लोग प्रशासन की मनाही के बावजूद गंगा और अन्‍य नदियों के घाटों पर पहुंचे। लोगों ने आस्‍था का ख्‍याल तो रखा लेकिन अपनी और समाज को कोरोना संक्रमण से बचाने की बात भूल गए। पटना के गंगा घाटों पर रविवार की शाम और फिर अब सोमवार की सुबह भगवान सूर्य को अर्घ्‍य देने के लिए जबर्दस्‍त भीड़ दिखी। लोगों की लापरवाही के आगे प्रशासन इस बार बेबस दिखा। चैत्र शुक्ल पक्ष की षष्ठी पर अनुमंडल के गंगा घाटों पर रविवार को भीड़ दिखी। वहीं गली-मोहल्लों के छतों पर उल्लास का माहौल दिखा। दीपों की पवित्र ज्योति के साथ पारंपरिक गीत गाती महिलाएं विभिन्न गंगा घाटों पर पहुंचीं। संध्या वंदन के साथ गंगा घाटों, छतों पर बने कृत्रिम तालाब व कठौती में खड़े हो आस्था की अंजुरी से सूर्य देवता को अर्घ्‍य दिया।

पटना सिटी के गंगा घाटों पर दिखी भीड़

पुलिस व प्रशासन द्वारा कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों का हवाला दिए जाने के बावजूद लॉ कॉलेज घाट, चौधरी टोला घाट, बालू घाट, घघा घाट, कदम घाट, लोहरवा घाट, राजा घाट, गायघाट, भद्रघाट, महावीर घाट, खाजेकलां घाट, कंगन घाट, किला रोड घाट, दमरिया घाट, दीदारगंज घाट समेत 55 घाटों पर अर्घ्‍य देने के लिए श्रद्धालु घाटों पर पहुंच आस्था के अंजूरी से अस्ताचलगामी सूर्य को अर्घ्‍य दिए। नगर निगम ने  गली-मोहल्लों में सफाई किया था। सभी घाटों पर उल्लास का माहौल दिखा।

व्रतियों ने बिखेरी छठ की छटा

सूर्य साधकों एवं साधिकाओं ने घाटों व घरों के छतों पर छठ पर्व की छटा बिखेरी। निर्जल उपवास कर रहीं महिलाओं ने घाटों तथा छतों पर निर्मित कृत्रिम तालाब व कठौती के पानी में खड़े रहकर सूर्य को अघ्र्य दिया। महिलाओं के साथ-साथ पुरुषों ने भी अघ्र्य दिया। इस दौरान गंगा घाटों तथा छतों पर परस्पर सहयोग व प्रेम का अद्भुत नजारा दिखा। बिना किसी वैदिक मंत्र और बिना किसी कर्मकांड के मनाए जाने वाले लोक आस्था के इस पर्व के अवसर पर छठ व्रतधारियों ने फल और कंद मूल से अस्ताचलगामी सूर्य को अघ्र्य दिया। अनुमंडल प्रशासन द्वारा घाटों पर नहीं जाने की अपील को छठ व्रतियों ने नकार दिया। घाटों पर कहीं-कहीं सुरक्षाकर्मी दिखे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.