पटनाः जमानत याचिका का कोर्ट में विरोध करने पर जदयू नेता के घर के बाहर बम विस्फोट, थर्राया इलाका

खाजेकलां में वारदात के बाद बरामद जिंदा बम।

गुरहट्टा स्थित राय जयकृष्ण रोड में बाइक सवार बदमाशों ने एक जदयू नेता और एक महिला के घर के समीप बम विस्फोट कर इलाका थर्राया दिया। बम की तेज आवाज से लोगों की नींद खुल गई। लोग अपने-अपने घर की छतों से बाहर झांकने लगे।

Akshay PandeyThu, 04 Mar 2021 08:02 PM (IST)

जागरण संवाददाता, पटना सिटी: खाजेकलां थाना क्षेत्र के गुरहट्टा स्थित राय जयकृष्ण रोड में बुधवार की देर रात बाइक सवार बदमाशों ने एक जदयू नेता विपिन सोनी और राजकुमारी के घर के समीप बम विस्फोट कर इलाका थर्राया दिया। बम की तेज आवाज से लोगों की नींद खुल गई। लोग अपने-अपने घर की छतों से बाहर झांकने लगे। बाइक सवार दो युवक बम विस्फोट करते हुए आराम से भाग निकले। गली में लगे सीसीटीवी कैमरे में यह घटना स्पष्ट रूप से रिकॉर्ड हो गई है। थानाध्यक्ष राहुल कुमार ठाकुर का कहना है कि मौके से एक जिंदा बम बरामद किया गया। इसे पानी में डाल कर निष्क्रिय किया गया है। फटे एक बम का अवशेष मिला है। कैमरे के फुटेज के आधार पर पूरे मामले की जांच जारी है। 

याचिका के विरोध पर वारदात

पीड़ित महिला राजकुमारी देवी ने पुलिस को बताया कि तीन बेटों की हत्या के आरोपितों की पटना उच्च न्यायालय में दायर जमानत याचिका का कोर्ट में विरोध करने पर घर के समीप बम फेंक दहशत फैलाया गया है। घटना के बाद पहुंचे थानाध्यक्ष राहुल कुमार ठाकुर ने बताया कि महिला के घर के आगे चाय दुकान के चूल्हे के पास से एक जिंदा बम बरामद किया गया। एक बम जदयू नेता सह व्यवसायी विपिन सोनी के घर के कोने पर फटा है।

चाय की दुकान से टकराया बम

राजकुमारी देवी ने बताया कि बुधवार की रात 10:42 बजे एक बाइक पर सवार दो युवकों में से पीछे बैठे युवक ने घर के दरवाजे के समीप बम चलाया। एक बम घर से 20 गज की दूरी पर विपिन के घर के बाहर फटा। वहीं दूसरा बम महिला के घर के बाहर बनी चाय दुकान से टकराकर रह गया। महिला ने बताया कि खाजेकलां थाना कांड संख्या 137/ 2012 में पटना उच्च न्यायालय में बुधवार को सुनवाई थी। सुनवाई में सूचक की ओर से जमानत का विरोध किया गया। महिला ने बताया कि पूर्व में मेरे दो पुत्र अमित उर्फ लालू तथा अजीत की हत्या करने के बाद षड्यंत्र कर वर्ष 2014 के 16 नवंबर की रात तीसरे पुत्र राजेश यादव की हत्या नामजदों द्वारा की गई। उस मामले में भी कांड संख्या 271/ 2014 दर्ज है। महिला ने बताया कि तीन पुत्रों की हत्या में जमानत का विरोध न करने तथा समझौता का दबाव बनाने के लिए दो अज्ञात युवकों द्वारा बम से हमला किया गया है।

जान से मारने की दे रहे हैं धमकी

वारदात में दो लाइनर की भी अहम भूमिका है। महिला ने बताया है कि इसमें मुख्य षड्यंत्रकारी बक्सी मोहल्ला के रामेश्वर यादव का पुत्र धीरू यादव है। महिला ने दर्ज प्राथमिकी में यह भी बताया है कि कांड संख्या 137/ 2012 में पांच आरोपित जमानत पर हैं। वे लोग बराबर राजकुमारी देवी और उनके परिवार को जान मारने की धमकी दे रहे हैं। महिला ने दावा किया है कि जिन दो युवकों ने घर के समीप बम चलाया है उन्हें देखकर पहचान सकती हूं। पूर्व में मुकदमा उठाने को लेकर फायरिंग की गई थी। वर्ष 2011 में भी भतीजे विजय की हत्या पत्नी के सामने हुई थी। वहीं वर्ष 2008 में बदमाशों ने दो महिलाओं की गोली मारकर घायल किया गया था। महिला का कहना है कि पुलिस सक्रिय होती तो तीनों बेटों की जान बच सकती थी। महिला ने बताया कि कई कांडों का आरोपित धीरू को आज तक पुलिस नहीं पकड़ सकी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.