जेल में बंद लालू यादव की मुश्किलें बढ़ीं, फोन कर प्रलोभन देने का आरोप लगा, BJP विधायक ने कराई FIR

राष्ट्रीय जनता दल सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव। जागरण आर्काइव।

जेल से मोबाइल फोन से भाजपा विधायक से संपर्क कर प्रलोभन देने के मामले में लालू यादव की मुश्किलें बढ़ गई हैं। भाजपा विधायक ललन पासवान ने लालू के खिलाफ गुरुवार को एफआइआर दर्ज करा दी है। राजद सुप्रीमो पर पटना के विजिलेंस थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है।

Publish Date:Thu, 26 Nov 2020 04:37 PM (IST) Author: Akshay Pandey

पटना, जेएनएन। जेल से मोबाइल फोन के जरिए भाजपा विधायक से संपर्क कर उन्हें प्रलोभन देने के मामले में लालू प्रसाद यादव की मुश्किलें बढ़ गई हैं। भागलपुर जिले के पीरपैंती से भाजपा विधायक ललन पासवान ने लालू के खिलाफ गुरुवार को एफआइआर दर्ज करा दी है। राजद सुप्रीमो पर पटना के विजिलेंस थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। उन्होंने लालू यादव पर भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने का आरोप लगाया है। साथ ही फोन पर विधायक को प्रलोभन देने का भी आरोपित बताया है।

भाजपा नेताओें ने बुलाई प्रेस कॉन्फ्रेंस

मामले को लेकर भाजपा प्रदेश कार्यालय में उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद और भाजपा के वरिष्ठ नेताओं ने प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाई है। पटना में प्राथमिकी दर्ज होते ही बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने अपने ट्विटर अकाउंट पर इसबात की जानकारी दी है। उन्होंने ट्वीट कर बताया कि ललन पासवान ने लालू यादव पर पटना एफआइआर दर्ज करा दी है। ललन पासवान ने आरोप लगाया है कि कथिततौर पर उन्हें फोनकर बिहार विधानसभा स्पीकर के चुनाव में भाग न लेने के लिए कहा गया। साथ ही उन्हें इसके एवज में मंत्री बनाने तक का ऑफर दिया गया था। 

एफआइआर में ललन ने लगाए ये आरोप

ललन पासवान ने कहा कि मेरे पास मोबाइल नंबर 8051216302 से एक टेलीफोन आया। फोन उठाने पर दूसरी तरफ से आवाज आई कि मैं लालू प्रसाद यादव बोल रहा हूं। तब मुझे लगा कि शायद चुनाव जीतने के कारण वो बधाई देने के लिए फोन किए हैं, इसलिए मैंने उनको कहा, आपको चरणस्पर्श। उसके बाद उन्होंने (लालू) मुझे कहा कि वो मुझे आगे बढ़ाएंगे और मुझे मंत्री पद दिलवाएंगे। इसलिए 25 नवंबर को बिहार विधानसभा अध्यक्ष के चुनाव में मैं अनुपस्थित होकर अपना वोट नहीं दूं। उन्होंने यह भी बताया कि इस तरह से वो कल NDA की बिहार में सरकार गिरा देंगे। इसपर मैंने उन्हें कहा कि मैं पार्टी का सदस्य हूं, ऐसा करना मेरे लिए गलत होगा, उसपर उन्होंने मुझे पुनः प्रलोभन दिया और कहा कि आप सदन से गैरहाजिर हो जाइए और कह दीजिये कि कोरोना हो गया है, बाकि हम देख लेंगे। 

सुशील मोदी ने किया था ट्वीट

बताते चलें कि बुधवार को पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने राजद प्रमुख लालू प्रसाद का एक कथित ऑडियो टेप ट्वीट किया था। जिसमें वह महागठबंधन के स्पीकर प्रत्याशी के पक्ष में वोट देने के लिए भाजपा विधायक ललन पासवान को प्रलोभन दे रहे हैं। सुशील मोदी ने एक ट्वीट भी किया था, जिसमें उन्होंने एक नंबर जारी कर कहा था कि उस नंबर पर उनकी लालू यादव से बात हुई है। सजायाफ्ता लालू प्रसाद का ऑडियो टेप आने से बिहार की राजनीति में भूचाल ला दिया है। टेप वायरल होने के बाद सियासी गलियारे से बयानबाजी शुरू हो गई है। भाजपा नेताओं ने लालू को तिहाड़ जेल भेजने की मांग की है।

यह भी देखें: लालू यादव की बढ़ीं मुश्किलें, BJP MLA ललन पासवान ने कराई FIR

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.