BJP ने RJD नेता रघुवंश प्रसाद सिंह को दिया खुला अॉफर, क्या वहां फंसे हैं, यहां आ जाइए

पटना, जेएनएन। बिहार के डिप्टी सीएम और बीजेपी नेता सुशील कुमार मोदी ने राजद के वरिष्ठ नेता रघुवंश प्रसाद सिंह को खुला अॉफर देते हुए कहा है कि रघुवंश बाबू जैसे नेता की जगह आरजेडी में नहीं है, उन्हें एनडीए में पूरा सम्मान मिलेगा। गुरुवार को पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि रघुवंश जैसे नेता को राजद में उचित सम्मान नहीं दिया जा रहा है और न ही उनकी बातें सुनी जा रही हैं। उन्हें राजद छोड़कर एनडीए में आ जाना चाहिए। 

दरअसल सवर्ण आरक्षण के मुद्दे पर एक ओर राजद में दो सवर्ण नेताओं के बीच मतभेद खुलकर सामने आ गए हैं। जहां राज्यसभा सांसद मनोज झा ने संसद में सवर्ण आरक्षण का विरोध किया था और संसद में इस मुद्दे पर बहस के दौरान एक ‘‘झुनझुना’’ दिखाकर कहा था कि ये झुनझुना फिलहाल सत्तारूढ़ प्रतिष्ठान के पास है। हिलता तो है  लेकिन बजता नहीं है।

वहीं उसके बाद पार्टी के वरिष्ठ नेता रघुवंश प्रसाद सिंह ने इसे 'चूक' करार देते हुए कहा कि सवर्ण आरक्षण के विरोध पर राजद पार्टी पुनर्विचार कर रही है। संसद में पार्टी से इस मसले पर चूक हो गई क्योंकि पार्टी हमेशा से सवर्ण आरक्षण की पक्षधर रही है। तेजस्वी यादव ने भी कहा है कि ये गलत प्रचार किया जा रहा है कि हम सवर्ण आरक्षण का विरोध कर रहे हैं।

जाहिर है कि सवर्ण आरक्षण को लेकर राजद में अंतर्विरोध की बात सामने आ रही है तो एनडीए भी इस अंतर्विरोध को भुनाने की कोशिश में लग गयी है। हालांकि तेजस्वी यादव ने ये भी कहा है कि रघुवंश बाबू के बयान को तोड़-मरोड़कर पेश किया गया है।

बता दें कि राजद के राज्यसभा सांसद मनोज झा ने कहा है कि रघुवंश बाबू ने जो कहा वह उनकी राय है, लेकिन मैंने पार्टी की आधिकारिक राय सदन में रखी थी, जो पार्टी के ट्विटर हैंडल पर भी है। उन्होंने कहा था कि पार्टी की एक आधिकारिक राय होती है, मैं तो पार्टी का मैसेंजर हूं।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.