पटना में लाइट शो के जरिये दिखाया जाएगा दस सिख गुरुओं का इतिहास, 13 करोड़ रुपए होंगे खर्च

बिहार सरकार का पर्यटन विभाग पटना सिटी स्थित कमलिया स्टेडियम के नजदीक प्रकाश पुंज को विकसित करेगा। यहां आडियो-वीडियो विजुअल पेंटिंग आदि के जरिए पर्यटकों और श्रद्धालुओं के लिए सिखों के सभी दस गुरुओं के जीवन से जुड़े प्रसंगों का ग्राफिक चित्रण किया जाएगा।

Shubh Narayan PathakMon, 14 Jun 2021 07:58 PM (IST)
पटना सिटी के मनोज कमलिया स्‍टेडियम में बनेगा प्रकाश पुंज। प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

पटना, राज्य ब्यूरो। Patna News: बिहार सरकार का पर्यटन विभाग पटना सिटी स्थित कमलिया स्टेडियम के नजदीक प्रकाश पुंज को विकसित करेगा। यहां आडियो-वीडियो विजुअल, पेंटिंग आदि के जरिए पर्यटकों और श्रद्धालुओं के लिए सिखों के सभी दस गुरुओं के जीवन से जुड़े प्रसंगों का ग्राफिक चित्रण किया जाएगा। इस पर 13 करोड़ 38 लाख 20 हजार की राशि खर्च करेगा। इसके लिए जल्द ही निविदा प्रकाशन की कार्रवाई की जाएगी। पटना सिटी सिखों के लिए प्रमुख तीर्थ है। यहां सिख पंथ का प्रसिद्ध तख्‍त श्रीहरिमंदिरजी साहिब बेहद भव्‍य गुरुद्वारा है, जहां दसवें और आखिरी गुरु गोविंद सिंह का जन्‍म हुआ और बचपन का काफी वक्‍त गुजरा। पटना सिटी में सिखों के तीन गुरुओं से जुड़ी यादें संरक्षित हैं।

पर्यटन केंद्र के रूप में विकसित होगा प्रकाश पुंज

बिहार सरकार के पर्यटन मंत्री नारायण प्रसाद (Bihar tourism minister Narayan Prasad) ने सोमवार को बताया कि प्रकाश पुंज को महत्वपूर्ण पर्यटन केंद्र के रूप में विकसित किया जाएगा। प्रथम प्रदर्शनी हाल में सिखों के नौ गुरुओं के जीवनवृत्त को ग्राफिक के माध्यम से प्रदर्शित किया जाएगा। सिखों के दसवें गुरु गोविंद सिंह महाराज की जीवनी से जुड़े सभी पहलुओं को दूसरे प्रदर्शनी हाल में दर्शाया जाएगा।

गुरु गोविंद सिंह से जुड़ी चीजें की जाएंगी प्रदर्शित

मंत्री ने बताया कि गुरु गोविंद सिंह के द्वारा युद्ध के दौरान उपयोग में लाए गए अस्त्र-शस्त्र, पोशाक, कलम आदि को भी प्रदर्शनी में दिखाया जाएगा, ताकि दूर-दराज से आने वाले पर्यटकों एवं श्रद्धालुओं को उनके जीवन से संबंधित जानकारियां मिल सकें। उनके क्रियाकलाप एवं साहित्य से जुड़ी वस्तुओं को भी दिखाया जाएगा।

सिख पंथ के पांचों तख्त की भी मिलेगी जानकारी

सिख धर्म के पांचों प्रसिद्ध तख्त गुरुद्वारा से संबंधित जानकारी भी प्रदर्शनी, ग्राफिक्स, आडियो एवं वीडियो के माध्यम से प्रदर्शित की जाएगी। योजना के तहत प्रवेश द्वार को 'बाबा अजीत सिंह द्वार' बनाया जाएगा। इसके अलावा 'बाबा झज्झर सिंह द्वार' को भी सुसज्जित किया जाएगा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.