बिहार: सेहरा पहन नौबतपुर का युवक निकला घर से, पुलिस ने बीच में ही पकड़कर जेल में डाला

नौबतपुर के खजूरी से राहुल कुमार शादी करने दुल्‍हा बनकर सेहरा पहनकर विवाह करने घर से निकला था। लेकिन पुलिस ने रास्ते में ही उससे गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद युवक विवाह मंडप की बजाय सीधा जेल पहुंच गया।

Sumita JaiswalSun, 13 Jun 2021 11:59 AM (IST)
दूल्‍हे के अरमान पर फिरा पानी, सांकेतिक तस्‍वीर।

नौबतपुर (पटना), जागरण संवाददाता। नौबतपुर के खजूरी से राहुल कुमार शादी करने दुल्‍हा बनकर सेहरा पहनकर विवाह करने घर से निकला था। शादी के सपने संजोकर बड़े अरमान से रास्‍ते में जा ही रहा था, लेकिन पुलिस ने रास्ते में ही उससे गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद युवक विवाह मंडल की बजाय सीधा जेल पहुंच गया। युवक पर आरोप था कि वह पहली पत्नी के रहते दूसरी शादी रचाने जा रहा था। पहली पत्नी की शिकायत पर पुलिस ने कार्रवाई की। पहली पत्‍नी क आवेदन के आलोक में पुलिस पूर्व में भी खजुरी निवासी इतवार चौहान के पुत्र राहुल कुमार की तलाश करने गई थी, लेकिन वह फरार मिला। शुक्रवार को भनक लगते ही पुलिस अलर्ट हो गई। राहुल को बिहटा- सरमेरा पथ पर महमदलिचक के समीप से पुलिस ने राहुल कुमार को गिरफ्तार कर लिया।

पहले कर चुका था शादी

राहुल कुमार की शादी पालीगंज के धरहरा निवासी फूलमती कुमारी के साथ वर्ष 2019 में हुई थी। उसके दो संतान भी हैं। शादी के कुछ दिनों बाद से ही राहुल पत्नी को प्रताडि़त करने लगा। इसके बाद पहली पत्नी को मायके में ही छोड़ दिया। इसी बीच पति राहुल ने चुपके से नालंदा जिले की एक युवती से दूसरी शादी तय कर ली।

दहेज में बाइक के लिए महिला को मारपीट कर घर से निकाला

 गोपालगंज, जागरण संवाददाता। उधर, गोपालगंज जिले में दहेज में बुलेट बाइक की मांग पूरी नहीं होने पर शादी के करीब तीन साल बाद एक महिला को उसके पति व ससुराल के अन्य लोगों ने मारपीट कर घर से निकाल दिया। न्यायालय के आदेश के बाद घटना की बुधवार को नगर थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई।  जानकारी के अनुसार नगर थाना क्षेत्र के कररिया गांव की बिंदु देवी की शादी सिवान जिले के जीबीनगर तरवारा थाना क्षेत्र के कोन्हवा पाण्डेयपुर खमरोही गांव के ओमप्रकाश साह के साथ वर्ष 2017 में हुई थी। शादी के कुछ दिनों बाद ही बिंदु देवी पर दहेज में बुलेट बाइक मायके से लाने के लिए ससुराल के लोग दबाव बनाने लगे। इसके बाद भी जब दहेज की मांग पूरी नहीं हुई तो ससुराल के लोगो ने बिंदु देवी को प्रताडि़त करना शुरू कर दिया और मारपीट कर आखिर में घर से निकाल दिया। ससुराल से मायके पहुंचने के बाद पीडि़ता ने नगर थाने में शिकायत दर्ज कराया। लेकिन पुलिस ने कोई भी कार्रवाई नहीं की। आखिर में बिंदु देवी ने न्यायालय में परिवाद पत्र दाखिल किया। न्यायालय के आदेश पर घटना की थाने में दर्ज प्राथमिकी में ओमप्रकाश साह, श्रीराम साह तथा जयप्रकाश साह सहित पांच लोगों को नामजद आरोपित बनाया गया है।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.