Bihar School Reopens Guidelines: बिहार में खुल गए स्कूल, कोरोना महामारी के कारण ज्‍यादातर पैरेंट्स ने बच्‍चों को नहीं भेजा स्‍कूल

लॉकडाउन के बाद पहली बार खुल रहे स्‍कूल। सांकेतिक तस्‍वीर ।
Publish Date:Sun, 27 Sep 2020 09:06 PM (IST) Author: Sumita Jaiswal

पटना, जेएनएन। Bihar School Reopens : 28 सितंबर, सोमवार से नौवीं से बारहवीं तक के सरकारी एवं निजी स्कूल (Government and Private School) खुल गए, लेकिन कक्षाओं में विद्यार्थियों की उपस्थिति (attendance) बहुत कम रही। प्रधानाध्यापकों (Principals) ने स्वीकार किया कि अधिकांश अभिभावकों (Parents and guardiand)  ने कोविड-19 महामारी (Covid-19 Pandemic)  के संक्रमण चलते अपने बच्चों को स्कूलों में भेजने की सहमति (consent)  नहीं दी। जबकि 50 फीसद शिक्षकों (50 percent teachers)  ने अपनी उपस्थिति स्कूलों में दर्ज करायी। वहीं शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव (Pricipal Secretary of Education Department) संजय कुमार के मुताबिक राज्य में खुलने वाले स्कूलों में कोरोना गाइडलाइन (Corona Guidelines)  का पूरा अनुपालन किया गया। स्कूलों में प्रार्थना सत्र (Prayer Assembly)  का आयोजन नहीं कराया गया। यह पहले ही निर्देश दिया गया है कि बच्चों की सुरक्षा सर्वोच्च प्राथमिकता है। इसमें किसी तरह की लापरवाही नहीं होनी चाहिए।

जारी रहेगी ऑनलाइन पढ़ाई

शिक्षा विभाग ने सभी जिलों से नौवीं से बारहवीं कक्षा तक के स्कूलों के खोले जाने के बारे में फीडबैक लिया। विभाग के स्तर से जिला शिक्षा अधिकारियों से यह भी जानकारी ली गई कि माता-पिता या अभिभावक की लिखित सहमति और स्वेच्छा से ही बच्चे मार्गदर्शन के लिए स्कूलों में आएं। ऑनलाइन पढ़ाई पूर्व की भांति चलती रहेगी। सभी जिलों को यह निर्देश भी दिया गया कि कंटेनमेंट जोन से बाहर के विद्यालयों में विद्यार्थी को शिक्षकों से मार्गदर्शन प्राप्त करने हेतु विद्यालय आने की अनुमति है, इसका अनुपालन सुनिश्चित होना चाहिए। कंटेनमेंट जोन में निवास करने वाले विद्यार्थियों, शिक्षकों व कर्मियों को विद्यालय आने की अनुमति नहीं है।  मास्क, सैनिटाइजर आदि एहतियात के साथ शारीरिक दूरी का अनुपालन होते रहना चाहिए।

बता दें कि फिलहाल नियमित कक्षाओं का संचालन अभी बंद रहेगा। केवल इच्छुक बच्चे अभिभावक की सहमति से स्कूल जाकर शिक्षक से मिलकर पढ़ाई संबंधी समस्या का समाधान कर सकेंगे।

कुछ स्कूल फिलहाल रहेंगे बंद

सीबीएसई के सिटी कोऑर्डिनेटर डॉ. राजीव रंजन प्रसाद का कहना है कि सरकार की अनुमति से अधिकांश प्राइवेट स्कूल खुल गए। हालांकि राजधानी के अधिकांश मिशन स्कूल, डॉन बास्को एवं डीएवी शास्त्रीनगर स्कूल फिलहाल बंद रहेगा। वहीं राजधानी के केंद्रीय विद्यालय के साथ-साथ बाल्डविन एकेडमी, बीडी पब्लिक स्कूल एवं एसवीएम सहित कई स्कूल खुल गए । 

10 बजे से मैट्रिक एवं एक बजे से इंटर के बच्चे आएंगे

शास्त्रीनगर बालक हाईस्कूल के प्राचार्य श्रीकांत शर्मा का कहना है कि स्कूलों में भीड़ न हो इसका ध्यान रखते हुए मैट्रिक के छात्रों को सुबह 10 बजे से एवं इंटर के बच्चों को एक बजे के बाद बुलाया गया। एक कमरे में 10 से अधिक बच्चों को बैठने की अनुमति नहीं दी गई। स्कूल में शारीरिक दूरी का हर संभव ख्याल रखा गया। डीएवी शास्त्रीनगर के प्राचार्य डॉ.विष्णु ओझा का कहना है कि वर्तमान में स्कूल में कंपार्टमेंटल परीक्षा चल रही है। ऐसे में बच्चों को स्कूल बुलाना सही नहीं है। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.