Bihar Board 10th, 12th Compartment Result: मैट्रिक व इंटर में 2.16 लाख और परीक्षार्थियों को किया पास, शिक्षा मंत्री ने बताई वजह

बिहार बोर्ड ने मैट्रिक एवं इंटर में एक या दो विषय में फेल हुए परीक्षार्थियों को विशेष ग्रेस नंबर देकर उत्तीर्ण करने का निर्णय लिया है। इसका लाभ मैट्रिक और इंटर के दो लाख 16 हजार 63 परीक्षार्थियों को मिला है। आज शाम से छात्र अपना परिणाम देख सकते हैं।

Shubh Narayan PathakFri, 18 Jun 2021 07:33 PM (IST)
बिहार बोर्ड ने जारी किया इंटर और मैट्रिक का पूरक रिजल्‍ट। प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

पटना, जागरण संवाददाता। Bihar Board Compartmental Matric-Inter Result:  बिहार विद्यालय परीक्षा समिति (Bihar School Examination Board) ने एक महत्वपूर्ण निर्णय लेते हुए मैट्रिक एवं इंटर में एक या दो विषय में फेल हुए परीक्षार्थियों को विशेष ग्रेस मार्क्‍स देकर उत्तीर्ण करने का निर्णय लिया है। इसका लाभ मैट्रिक और इंटर के दो लाख 16 हजार 63 परीक्षार्थियों को मिला है। कोरोना संक्रमण की संभावना को देखते हुए बोर्ड ने मैट्रिक और इंटरमीडिएट कंपार्टमेंटल परीक्षा आयोजित नहीं करने का निर्णय लिया है। शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी (Bihar Education Minister Vijay Kumar Chaudhary) ने बताया कि वर्तमान स्थिति को देखते हुए फिलहाल मैट्रिक (Bihar Matric Compartmental Exam) एवं इंटर कंपार्टमेंटल परीक्षा (Bihar Inter Compartmental Exam) संचालित करना संभव नहीं है।

आज शाम देख सकेंगे अपना रिजल्‍ट 

 शिक्षा मंत्री ने कहा कि मौजूदा स्थिति में एक या दो विषय में फेल करने वाले परीक्षार्थियों को विशेष ग्रेस मार्क्‍स देकर पास किया गया है। बोर्ड के प्रस्ताव को शिक्षा विभाग से भी सहमति मिल गई है। शनिवार की शाम तक सफल परीक्षार्थियों की सूची बोर्ड की वेबसाइट पर जारी कर दी जाएगी। परीक्षार्थी 19 जून की शाम से अपना रिजल्ट देख सकेंगे। इसके साथ ही वह शनिवार से प्रारंभ इंटरमीडिएट की नामांकन प्रक्रिया में भी शामिल हो सकते हैं। इस मौके पर शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव संजय कुमार और बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के अध्यक्ष आनंद किशोर मौजूद थे। 

इंटर में 94,747 परीक्षार्थियों को मिला लाभ

इस वर्ष इंटर की परीक्षा में 13 लाख 40 हजार 267 परीक्षार्थी शामिल हुए थे, जिसमें से 10 लाख 48 हजार 846 परीक्षार्थी उत्तीर्ण हुए। बोर्ड द्वारा ग्रेस माक्र्स देने के बाद 94 हजार 747 विद्यार्थी सफल हुए हैं। अब इंटर में कुल सफल विद्यार्थियों की संख्या 11 लाख 46 हजार 320 हो गई है। उत्तीर्णता का फीसद बढ़कर 85.53 हो गया है। ग्रेस माक्र्स का लाभ प्राप्त करने वालों में कला संकाय के 53 हजार 939, वाणिज्य संकाय के 1814 तथा विज्ञान संकाय में 41 हजार 691 परीक्षार्थी शामिल हैं।

मैट्रिक में 1.21 लाख से अधिक हुए सफल

मैट्रिक परीक्षा में इस वर्ष 16 लाख 54 हजार 171 परीक्षार्थी शामिल हुए थे, जिसमें से 12 लाख 93 हजार 54 परीक्षार्थी सफल हुए हैं। मैट्रिक में 78.17 फीसद परीक्षार्थी सफल हुए थे। बोर्ड द्वारा ग्रेस माक्र्स देने के बाद एक लाख 21 हजार 316 अतिरिक्त परीक्षार्थी सफल हुए हैं। अब मैट्रिक में पास होने वाले विद्यार्थियों की संख्या बढ़कर 14 लाख 14 हजार 370 हो गई है। विशेष ग्रेस माक्र्स देने के बाद 85.50 फीसद परीक्षार्थी सफल हुए हैं।

छात्र हित में लिया गया निर्णय : शिक्षा मंत्री 

शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने बताया कि बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने कोरोना संक्रमण के कारण छात्रहित में विशेष ग्रेस माक्र्स की देने की सहमति विभाग से मांगी थी। शिक्षा विभाग ने छात्रहित में यह निर्णय लिया है। इससे छात्रों का एक साल बर्बाद नहीं होगा। इसमें सफल छात्र किसी भी संस्थान में प्रारंभ नामांकन प्रक्रिया में शामिल हो सकते हैं। उन्होंने कहा कि बिहार बोर्ड ने इस साल भी देश में सबसे पहले मैट्रिक व इंटर का रिजल्ट जारी किया है। सीबीएसई, आइसीएसई एवं अन्य राज्य के बोर्ड वार्षिक परीक्षा के आयोजन नहीं होने के कारण मूल्यांकन के विकल्पों पर विचार कर रहे हैं। वहीं, बिहार बोर्ड ने इंटर का रिजल्ट मार्च तथा मैट्रिक का अप्रैल प्रथम सप्ताह में जारी कर दिया था। बिहार बोर्ड का प्रयास सराहनीय है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.