बिहार में सीएम नीतीश के सामने एनडीए विधायकों ने सुनाई पीड़ा, अपने ही मंत्रियों के रवैये दिखे आहत

Bihar Politics राजग के विधायकों ने 23 मार्च के हंगामा के लिए विपक्ष को जिम्मेदार ठहराया शिक्षा मंत्री विजय चौधरी ने कहा- विधानसभा अध्यक्ष अनुशंसा करें सरकार अमल करेगी तारकिशोर और रेणु ने की सदन में मौजूद रहने की अपील कुछ विधायकों ने ट्रांसफर-पोस्टिंग में अनदेखी का आरोप लगाया

Shubh Narayan PathakTue, 27 Jul 2021 08:11 AM (IST)
बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार। फाइल फोटो

पटना, राज्य ब्यूरो। बिहार विधानमंडल के मानसून सत्र की रणनीति बनाने के लिए एनडीए विधान मंडल दल की बैठक में कई विधायकों और विधान पार्षदों ने ट्रांसफर-पोस्टिंग में उनकी नहीं सुने जाने की पीड़ा को उठा दिया। बैठक में मौजूद कुछ विधायकों ने स्थानीय पदाधिकारियों के ट्रांसफर-पोस्टिंग में विधायकों की अनुशंसा की अनदेखी का आरोप लगाया। मुख्यमंत्री ने विधायकों को सलाह दी कि वह अपनी अपेक्षा से संबंधित मंत्री को अवगत कराएं। अगर कहीं चूक हुई है तो उसका परिमार्जन किया जाएगा। उन्होंने कहा-जरूरत पड़े तो विधायक उन्हें भी पत्र लिख सकते हैं।

23 मार्च के हंगामे के लिए विपक्ष को ठहराया जिम्‍मेदार

राजद ही नहीं, राजग (राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन) विधायक दल की बैठक में भी विधानसभा में 23 मार्च को हुए हंगामा का मामला उठा। भाजपा-जदयू के दर्जन से अधिक विधायक कह रहे थे कि उस दिन की अराजक स्थिति के लिए विपक्ष जिम्मेदार है। उनकी पहचान कर कार्रवाई होनी चाहिए। संसदीय कार्य मंत्री विजय कुमार चौधरी ने कहा कि विधानसभा अध्यक्ष को ही इस मामले में कोई भी कार्रवाई करने का अधिकार है। वह अगर किसी सरकारी कर्मी के खिलाफ कार्रवाई की सिफारिश करते हैं तो सरकार उस पर अमल करेगी।

उप मुख्‍यमंत्री ने दी पेश होने वाले विधेयकों की जानकारी

संसदीय कार्य मंत्री ने कहा कि 23 मार्च की घटना के बारे में खुद विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा ने नियमन दिया था कि वे वीडियो रिकार्डिंग देख कर कार्रवाई सुनिश्चित करेंगे। हम सब उनके निर्णय की प्रतीक्षा कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि विधानसभा के व्हाइट लाइन के भीतर का हिस्सा विधानसभा अध्यक्ष के विशेषाधिकार का क्षेत्र होता है। इस दायरे के भीतर की घटनाओं पर कार्रवाई का अधिकार भी उन्हें ही है। सरकार उनकी उनकी अनुशंसा पर जरूर अमल करेगी। उप मुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद ने विधानसभा में पेश होने वाले विधेयकों की जानकारी दी। उप मुख्यमंत्री रेणु देवी ने कहा कि राजग के सभी विधायक सदन में उपस्थित रहें।

मांझी ने सरकार के कामकाज की तारीफ की

हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा के अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी ने कोरोना से बचाव में राज्य सरकार के कामकाज की तारीफ की। उन्होंने कहा कि सदन में हम सबको मजबूती से डटे रहना है। बैठक का संचालन कर रहे ग्रामीण कार्य मंत्री एवं सत्तारूढ़ दल के मुख्य सचेतक श्रवण कुमार ने कहा कि सदन में विपक्ष के विधायक अधिक संख्या में मौजूद रहते हैं। राजग के विधायकों को भी चाहिए वे चलते सत्र में कहीं नहीं जाएं। सदन में उपस्थिति का लाभ उन्हें मिलेगा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.