Bihar Politics: सदन में मुख्‍य विपक्षी पार्टी के विधायक ने मोदी-योगी की तारीफों के बांधे पुल

पीएम मोदी और यूपी के सीएम योगी आदित्‍यनााथ की तस्‍वीर ।

विधानपरिषद में एक समय ऐसा भी आया जब राजद के विधान पार्षद रामबली सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कोविड-19 के समय किए गए कार्यो की जमकर सराहना की। यह वाकई आश्‍चर्यजनक था।

Sumita JaiswalWed, 24 Feb 2021 03:10 PM (IST)

पटना, राज्‍य ब्‍यूरो । ठीक ही कहा गया है कि राजनीति में कोई लंबे समय तक ना ही दोस्‍त रहता, ना ही दुश्‍मन। विधानपरिषद में एक समय ऐसा भी आया जब राजद के विधान पार्षद रामबली सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कार्यो की सराहना की। यह वाकई आश्‍चर्यजनक रहा। क्‍योंकि लालू यादव की पार्टी राजद बीजेपी और भगवा की हमेशा धुर राजनीतिक विरोधी रही है। 

बहरहाल, राजद के रामबली सिंह कोरोना काल में पलायन कर आ रहे लोगों की सुविधा का मसला उठा रहे थे। इसी बीच उन्होंने पड़ोसी राज्य के सीएम की तारीफ की। सत्ता पक्ष के पार्षदों ने सीएम का नाम लेने को कहा तो स्‍पष्‍ट किया- उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी जी। फिर बोले, अच्छा काम होगा, तो वह भी तारीफ करेंगे  उन्होंने नीति आयोग की बैठक के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बिहार के सीडी रेशियो को ठीक करने और जातीय जनगणना से जुड़े मुद्दों का समर्थन किया।

गुलाम गौस से भिड़ गए सुबोध कुमार

विधानपरिषद के दूसरे सत्र में सत्ता पक्ष और विपक्ष में तीखी नोक-झोंक भी हुई। सबसे ज्यादा हो-हंगामा जदयू के गुलाम गौस के भाषण के दौरान हुआ। बिना पूर्व सूचना के उनके सत्ता पक्ष की ओर से जवाब देने पर विपक्ष के पार्षद सुबोध कुमार ने आपत्ति जताई। सभापति अवधेश नारायण सिंह के समझाने के बाद भी उन्होंने विरोध जारी रखा तो सत्ता पक्ष की ओर से इसे सदन का अपमान बताया जाने लगा। विपक्ष ने उनके नाम पर टिप्पणी करते हुए कहा कि आप भाजपा के गुलाम हैं। इसका भी सत्ता पक्ष की ओर से तीखा विरोध हुआ।

आप भी तो उसी में थे

विधानपरिषद में रामचंद्र पूर्वे ने जब पटना विवि की नैक ग्रेडिंग पर सवाल उठाया तो सत्ता पक्ष की ओर मंत्री अशोक चौधरी ने कहा कि आपलोग चरवाहा स्कूल खोले थे, तो खराब रैंकिंग क्यों नहीं आएगी। धीरे-धीरे सुधार हो रहा है। इस पर विपक्ष से आवाज आई- 'आप भी तो तब उसी में थे और लंबे समय तक रहे थे' अशोक चौधरी हल्की मुस्कान के साथ फोन देखने लगें।

जब आसन पर बैठे नवल किशोर यादव

विधान परिषद का दूसरा सत्र शुरू होने के थोड़ी देर बाद ही सभापति अवधेश नारायण सिंह थोड़ी देर के लिए सदन से बाहर चले गए। उनकी जगह कार्यकारी सभापति के तौर पर भाजपा के नवल किशोर यादव ने कमान संभाली। इस दौरान बोल रहे रामचंद्र पूर्वे ने कुर्सी पर बदला चेहरा देखकर कहा-'चाइल्ड इज द फादर ऑफ द नेशन।' सदन में खिलखिलाहट बिखर गई।

ऑफ द रिकॉर्ड मंत्री जी संतुष्ट नहीं

राजद के सुबोध कुमार ने कहा कि आइजीआइएमएम में बिना पैरवी के बेड नहीं मिलता है। कई बार तो पैरवी भी नहीं सुनी जाती। उन्होंने सदन में बैठे स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय की ओर इशारा करते हुए कहा कि मंत्री जी भी ऑफ द रिकॉर्ड इस बात से संतुष्ट नहीं होंगे। इस पर भी खूब हंसी-ठिठोली हुई।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.