Bihar Politics: भाजपा ने बिहार के तीन नेताओं का कद बढ़ाया, दी नई जिम्‍मेदारी

भाजपा का राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राधा मोहन सिंह, विधायक संजीव चौरसिया और नितिन नवीन की तस्‍वीर ।

भाजपा के राधामोहन सिंह संजीव चौरसिया और नितिन नवीन को पार्टी में नई जिम्‍मेदारी दी गई है। पार्टी अब ज्‍यादातर युवा नेताओं पर भरोसा जता रही है। वरिष्‍ठ नेता राधामोहन सिंह मोतिहारी से सांसद हैं भाजपा के उपाध्‍यक्ष और उत्‍तर प्रदेश के प्रभारी भी बनाए गए हैं।

Publish Date:Thu, 26 Nov 2020 11:50 AM (IST) Author: Sumita Jaiswal

पटना, राज्य ब्यूरो। भाजपा (BJP) ने बिहार के तीन नेताओं का कद बढ़ाया है। इसमें पूर्वी चंपारण के सांसद राधा मोहन सिंह, पटना जिला से दीघा विधान सभा क्षेत्र के विधायक संजीव चौरसिया और पटना के बांकीपुर विधान सभा क्षेत्र के विधायक नितिन नवीन हैं।

राधामोहन सिंह यूपी के प्रभारी भी बने

भाजपा का राष्ट्रीय उपाध्यक्ष (Vice President) बनने के बाद पूर्व केंद्रीय मंत्री राधा मोहन सिंह (Ex Union Minister Radha Mohan Singh) आज गुरुवार (26 November) दोपहर तीन बजे पटना (Patna) पहुंच रहे हैं। राधामोहन सिंह मोतिहारी के सांसद भी हैं। ऐसे में पार्टी के कार्यकर्ताओं ने  राष्ट्रीय उपाध्यक्ष के भव्य स्वागत की तैयारी की है। पटना एयरपोर्ट से  राधा मोहन सिंह वीरचंद पटेल पथ स्थित पार्टी के प्रदेश मुख्यालय आएंगे। यहां भी कार्यकर्ताओं ने और प्रदेश पदाधिकारियों की ओर से स्वागत की तैयारी है।

 बिहार भाजपा के पूर्व अध्यक्ष रहे राधामोहन की  सांगठनिक क्षमता को देखते हुए पार्टी ने पूर्व केंद्रीय मंत्री को उपाध्यक्ष के साथ-साथ उत्तर प्रदेश का प्रभारी भी बनाया है।

पटना के दो नेताओं का कद बढ़ा

पार्टी ने बिहार भाजपा के दो और नेताओं का कद बढ़ाया है। दीघा (Digha)  विधायक संजीव चौरसिया (Sanjeev Chaurasia) उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के सह प्रभारी बनाए गए हैं। वहीं, बांकीपुर (Bankipore) से भाजपा के विधायक नितिन नवीन (Nitin Navin) को छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के सह प्रभारी की जिम्मेदारी दी गई है। पार्टी के राष्ट्रीय नेतृत्व में बिहार से तीन नेताओं को संगठन के काम लगाया है।

बता दें कि संजीव चौरासिया दूसरी बार विधायक बने हैं। जबकि नितिन नवीन चौथी बार चुनााव जीतकर एमएलए बने हैं। इस बार नितिन नवीन ने बांकीपुर से कांग्रेस के टिकट पर चुनावी मैदान में डटे शत्रुध्‍न सिन्‍हा के बेटे लव सिन्‍हा को हराया था ।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.