top menutop menutop menu

Bihar Flood News: नेपाल में भारी बारिश से उफनाईं बिहार की नदियां; गंडक बराज के सभी फाटक खोले, हाई अलर्ट

पटना, जागरण टीम। नेपाल में लगातार हो रही भारी बारिश के कारण बिहार में नदियां उफान पर हैं। बागमती, कमला, गंडक व कोसी सहित अन्‍य कई नदियाें में पानी लगातार बढ़ रहा है। इससे जगह-जगह बाढ़ का कहर शुरू हो गया है। नेपाल सीमा पर पश्चिम चंपारण स्थित गंडक बराज के सभी फाटकों काे खोल दिया गया है। बराज को हाईअलर्ट पर रखा गया है। किशनगंज व चंपारण के निचले इलाकों में पानी घुस गया है तो अररिया के कई इलाकों का मुख्यालय से सड़क संपर्क भंग हो गया है। कोसी, बागमती खतरे के निशान के पार हैं। अन्‍य नदियां भी उफान मार रहीं हैं। सीतामढ़ी में भी बाढ़ को लेकर रेड अलर्ट जारी किया गया है।

किशनगंज के निचले इलाकों में घुसा पानी

लगातार हो रही बारिश से महानंदा, मेंची, कनकई,  डोक समेत सभी नदियां उफान पर हैं। महानंदा खतरे के निशान से 70 सेमी उपर बह रही है। किशनगंज के दिघलबैंक, पोठिया व कोचाधामन प्रखंड क्षेत्र के एक दर्जन से अधिक गांवों में बाढ़ का पानी प्रवेश कर चुका है। कनकई व कौल नदी किनारे बसे दिघलबैंक प्रखंड के सिंघीमारी पंचायत के तालटोला, बलवाडांगी, मंदिर टोला, गौरीपुर सिमलडांगी कंचनबाड़ी, पथरघट्टी पंचायत के आमबाड़ी आदि गांवों में पानी प्रवेश कर चुका है। इसी  तरह पोठिया व कोचाधामन प्रखंड में भी कई गांवों में महानंदा, मेंची व डोक नदी का पानी फैल रहा है। किशनगंज-ठाकुरगंज मुख्य पथ पर कौआबाड़ी के समीप सड़क के उपर से महानंदा का पानी बह रहा है।

अररिया के कई इलाकों का मुख्यालय से संपर्क भंग

नेपाल सहित सिकटी के जल ग्रहण क्षेत्र मे लगातार भारी बारिश ने प्रखंड क्षेत्र होकर बहने वाली बकरा,नूना सहित सहायक नदियों मे उफान है। पड़रिया पंचायत के अधिकांश वार्डो मे बाढ़ का पानी घुस गया है। रतवा नदी का पानी कुचहा मे तथा नूना का पानी पड़रिया के वार्ड दस बलीगढ़ मे सड़क के उपर बह रहा है। कई इलाकों का मुख्यालय से संपर्क भंग हो गया है।

खगडि़या में कोसी-बागमती खतरे के निशान के पार

खगड़िया में कोसी और बागमती के जलस्तर में वृद्धि जारी है। खगड़िया में कोसी खतरे के निशान से 1.13 मीटर ऊपर बह रही है। बागमती भी खतरे के निशान से एक मीटर 27 सेमी ऊपर है। पानी नीचले इलाके में फैलने लगा है। दियारा से पशुपालक पलायन करने लगे हैं। खगड़िया में काली कोसी भी उफान पर है।

चंपारण के दर्जनो गांवों में घुसा बाढ़ का पानी

पूर्वी चंपारण में बागमती और लालबकेया नदी उफान पर हैं। गंडक, बूढ़ी गंडक और तिलावे में भी पानी बढ़ रहा है। पश्चिम चंपारण में गंडक नदी खतरे के निशान के करीब है। जिले के बगहा के दो दर्जन गांवों में बाढ़ का पानी घुस गया है। गंडक बराज के सभी फाटकों का उठाते हुए बराज को हाईअलर्ट पर रखा गया है। मसान समेत अन्य पहाड़ी नदियां भी उफान पर हैं।

मधुबनी, समस्‍तीपुर व सीतामढ़ी में भी बाढ़

मधुबनी के झंझारपुर में कमला बलान खतरे के निशान से 2.25 मीटर ऊपर है। समस्तीपुर में बूढ़ी गंडक और गंगा में वृद्धि जारी है। बागमती नदी का पानी कल्याणपुर प्रखंड के रमजाननगर के निचले इलाके में फैलने लगा है। सीतामढ़ी जिले में भी बागमती खतरे के निशान से ऊपर है। सोनबरसा प्रखंड की कई पंचायतों में लखनदेई का पानी घुस गया है। जिला प्रशासन ने रेड अलर्ट जारी किया है।  

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.