बिहार चुनाव 2020ः पटना में पुलिस के हिरासत में लेने पर बोलीं पुष्पम प्रिया- नीतीश जी, याद रखूंगी ये दिन

प्लूरल्स पार्टी की प्रमुख पुष्पम प्रिया चौधरी को पुलिस ने हिरासत में लिया।
Publish Date:Tue, 27 Oct 2020 10:43 PM (IST) Author: Akshay Pandey

पटना, जेएनएन। राजधानी में मंगलवार की रात मतदान से ठीक एक दिन पहले ज्ञापन लेकर कार्यकर्ताओं के साथ बिहार के राज्यपाल फागू चौहान से मिलने जा रहीं द प्लूरल्स पार्टी की प्रमुख पुष्पम प्रिया चौधरी को इनकम टैक्स गोलंबर के पास कोतवाली थाने की पुलिस ने रोक दिया। बिना अनुमति के प्रतिबंधित क्षेत्र में घुसने पर कोतवाली पुलिस उन्हें हिरासत में लेकर थाने आई। पुलिस के द्वारा पुष्पम को थाने लाने की जानकारी होने पर बड़ी संख्या में लोग कोतवाली पहुंच गए। इस दौरान काफी देर तक गहमागहमी मची रही। हालांकि, देर रात पुलिस ने द प्लूरल्स पार्टी की प्रमुख पुष्पम प्रिया चौधरी को हिरासत से छोड़ दिया। घटना के बाद पुष्पम ने ट्वीट कर नीतीश कुमार पर हमला बोला है। 

प्रतिबंधित क्षेत्र में घुसने पर पुलिस ने की कार्रवाई

कोतवाली कानून-व्यवस्था एएसपी स्वर्ण प्रभात ने बताया, प्रतिबंधित क्षेत्र में घुसने पर उन्हें रोका गया था। पुलिस के रोकने के बावजूद वह कार्यकर्ताओं के साथ आगे बढ़ रही थीं। उन्हें कोतवाली थाने में लाया गया था। पुष्पम प्रिया वैशाली से ही कार्यकर्ताओं के साथ पैदल ही पटना पहुंचीं। गांधी मैदान होते हुए वह राजभवन की तरफ जा रही थीं। आगे बढ़ने पर भी पुलिस ने नहीं रोका।

इनकम टैक्स गोलंबर के पास बात नहीं बनी तो थाने ले आई पुलिस

जैसे ही पुलिस को खबर लगी कि बिना इजाजत प्रतिबंधित क्षेत्र में द प्लूरल्स पार्टी की प्रमुख पुष्पम प्रिया चौधरी प्रवेश कर रही हैं कोतवाली इंस्पेक्टर सुनील कुमार सिंह ने उन्हें रोक लिया। उन्हें काफी देर समझाने के बाद जब इनकम टैक्स गोलंबर के पास बात नहीं बनी तो पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया। इसके बाद पुलिस उन्हें कोतवाली थाने लेकर चली गई। इंस्पेक्टर ने बताया कि वह ज्ञापन लेकर कार्यकर्ताओं के साथ राजभवन की तरफ जा रही थीं।

मिथिला की बेटी पहले भी रावण की लंका जा चुकी है..

घटना के बाद पुष्पम ने ट्वीट कर नीतीश कुमार पर हमला बोला है। उन्होंने लिखा, नीतीश पिछले पांच घंटों से आपने मुझे अपनी पुलिस और प्रशासन के माध्यम से परेशान किया। मैं ये दिन याद रखूंगी। कुछ ही देर बाद पुष्पम ने एक और ट्वीट किया। लिखा, साथियों, घर आ गई, परेशान न हों। मिथिला की बेटी पहले भी रावण की लंका जा चुकी है, मैं बस कोतवाली थाने गई थी। अगर मर्यादा पुरुषोत्तम आपके मन में हैं तो सुबह उठिये, बिहार के तीस साल का वनवास समाप्त कीजिये, इन राक्षसों का लंका-कांड कर दीजिये। तब मैं मानूंगी कि बिहार मरा नहीं, राम है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.