Bihar Crime: पटना में संपत्ति विवाद को लेकर हुई थी जाप नेता पर फायरिंग, भाई ने ही रची हत्या की साजिश

Bihar Crime बिहार की राजधानी पटना में जाप नेता और व्यवसायी पर आधी रात को हुई फायरिंग को लेकर पटना पुलिस ने खुलासा किया है। पुलिस के मुताबिक संपत्ति विवाद को लेकर भाई ने ही हत्या की साजिश रची थी।

Rahul KumarThu, 16 Sep 2021 09:54 AM (IST)
पटना में जाप नेता पर हुई फायरिंग का पुलिस ने किया खुलासा। सांकेतिक तस्वीर

पटना, जागरण संवाददाता। Biahr Crime राजधानी पटना के पाटलिपुत्र कालोनी में आधी रात को घर से बुलाकर व्यवसायी सह जाप नेता आनंद कुमार उर्फ डब्बू सिंह को गोली मारने का मास्टरमाइंड उनका सगा भाई अमित सिंह उर्फ शेखर ही निकला। शेखर का डब्बू सिंह से संपत्ति विवाद चल रहा था। साथ ही शेखर को संदेह था कि डब्बू ने ही उसकी पत्नी के खिलाफ मुखबिरी की थी जो कुछ दिन एक मामले में पूर्व जेल गई थी। इसके बाद शेखर ने डब्बू को रास्ते से हटाने के लिए सुपारी किलर हायर किया। हत्या की योजना बनाने के लिए शूटर को तीन लाख रुपये देने की बात हुई थी।

शूटर को किया गया था हायर

तीनों अपराधी और शेखर स्विफ्ट कार से रविवार की आधी रात को पाटलिपुत्र कालोनी पहुंचे और डब्बू को घर से बाहर बुलाया। फिर डब्बू पर तीन राउंड फायरिंग कर सभी फरार हो गए। घायल डब्बू का इलाज चल रहा है। जांच के क्रम में मंगलवार की देर रात पुलिस को सभी का लोकेशन मिला। पुलिस ने अटल पथ से मुख्य आरोपित शेखर, शूटर मनमीत सिंह उर्फ मंजीत सिंह निवासी गर्दनीबाद, नवादा निवासी राहुल सिन्हा और राजीव नगर निवासी गणेश कुमार को गिरफ्तार कर लिया। साथ ही वारदात में इस्तेमाल स्विफ्ट डिजायर कार, तीन पिस्टल, चार मैग्जीन, लूट का मोबाइल और हत्या के समय पहने गए कपड़े बरामद कर लिए। पूछताछ में पता चला कि शेखर ने शूटर को एडवांस में पांच हजार रुपये दिया था। 

दोस्त को सुपारी के एवज में देता एक कट्ठा जमीन 

पुलिस की पूछताछ में शेखर ने बताया कि पुराने दोस्त राहुल सिन्हा को एक कट्ठा जमीन की सुपारी के एवज में डब्बू की हत्या में साथ देने को तैयार किया था। राहुल भी पुराना अपराधी है, इसके खिलाफ अपहरण, हत्या और आम्र्स एक्ट का मामला दर्ज है। राहुल कुख्यात मनमीत सिंह से मिला। मनमीत के खिलाफ डेढ़ दर्जन थानों में हत्या, लूट, डकैती, छिनतई के मामले दर्ज है। मनमीत ने पुलिस को बताया कि उसकी राहुल से दोस्ती जेल में हुई थी। हाल ही में जेल से छूटने के बाद राहुल ने उससे संपर्क किया था और तीन लाख रुपये में डब्बू सिंह की हत्या करने की बात कहीं थी। इस काम में गणेश कुमार ने भी साथ दिया। 

वारदात के बाद नालंदा गए थे सभी, पेट्रोल पंप पर की फायरिंग 

पूछताछ में चारों आरोपितों ने बताया कि डब्बू सिंह पर फायरिंग के बाद सभी कार से नालंदा गए, जहां अगले दिन लूटपाट की नीयत से एकंगरसराय स्थित रक्सा पेट्रोल पंप पर भी फायरिंग की थी। जानकारी के मुताबिक मनजीत उर्फ ऋषि सरदार 2019 में धनतेरस की रात मां गायत्री ज्वेलर्स में डकैती व हत्या में जेल भेजा गया था। वहीं राहुल सिन्हा उर्फ राहुल आनंद मूल रूप से नवादा जिला का रहने वाला है, जो कंकड़बाग में किराये के घर में रहता है। उसके खिलाफ लखनऊ के चिनहट में दो मामले दर्ज है, जबकि पटना में पांच मामले दर्ज है। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.