Bihar Coronavirus Update: पूर्व मध्‍य रेलवे के 160 आइसोलेशन कोच जरूरत के लिए तैयार

पूर्व मध्‍य रेलवे ने तैयार किए हैं 160 कोविड केयर कोच। प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

Bihar Coronavirus Update News पूर्व मध्‍य रेलवे के 160 आइसोलेशन कोच सुरक्षित 55 कोविड केयर कोच बनाए गए थे दानापुर मंडल की ओर से 45 कोच को फिर से ले लिया गया उपयोग में 64 कोच हो गए बर्बाद

Shubh Narayan PathakMon, 19 Apr 2021 10:38 AM (IST)

पटना, जागरण संवाददाता। अस्पतालों में कोरोना संक्रमितों के बेड की कमी से गंभीर मरीजों को भटकना पड़ रहा है। इसके मद्देनजर रेलवे प्रशासन ने फिर से कोविड केयर कोच की खोजबीन शुरू कर दी है। पूर्व मध्य रेल प्रबंधन की ओर से भी पांचों मंडलों में पिछले साल कोविड केयर कोच बनाए गए थे। खोजबीन में पता चला कि पूर्व मध्य रेल की ओर से बनाए गए 269 कोच में 160 ही बचे हैं। इनको पूर्व मध्य रेल के पांचों मंडलों दानापुर, सोनपुर, समस्तीपुर, धनबाद व डीडीयू के विभिन्न स्टेशनों पर या यार्ड में सुरक्षित रखा गया है। शेष बचे 104 में 45 कोच को फिर से उपयोग में ले लिया गया है। वहीं, 64 कोच को बेकार घोषित कर दिया गया है।

कोरोना की पहली लहर के दौरान तैयार किए गए थे विशेष कोच

विदित हो कि रेलवे बोर्ड के आदेश पर पिछले साल युद्ध स्तर पर पूर्व मध्य रेल की ओर से कोविड संक्रमितों को आइसोलेट करने के लिए बड़े पैमाने पर ट्रेनों की पुराने बोगियों को कोविड केयर कोच में तब्दील किया गया था। एक कोविड केयर कोच में 16 आइसोलेशन बेड बनाए गए थे। इस तरह पूर्व मध्य रेल की ओर से बनाए गए 269 कोच में 4304 आइसोलेशन बेड की व्यवस्था की गई थी। दानापुर मंडल की ओर से 55 ऐसे आइसोलेशन कोविड केयर कोच बनाए गए थे, जिनमें 880 कोविड संक्रमितों के रहने की व्यवस्था की गई थी।  

सभी चिकित्सकीय सुविधाओं से लैस थे कोविड केयर कोच

पटना जंक्शन के प्लेटफॉर्म छह पर 21 आइसोलेशन कोविड केयर कोच लगाए गए थे। इनमें 13 स्लीपर, सात जनरल और एक एसी थ्री कोच थे।  हर बेड के लिए ऑक्सीजन की व्यवस्था थी। एक रैक में एसी थ्री का कोच केवल चिकित्सकों के लिए रखा गया था। हर कोच के साइड लोअर बर्थ पारा मेडिकल स्टाफ के लिए बनाया गया था। इसके साथ ही कोच में इमरजेंसी में काम आने वाली तमाम सुविधाएं व मेडिकल उपकरणों के रखने की व्यवस्था की गई थी।

सरकार मांग करेगी तो शीघ्र कोच मुहैया कराएगा रेलवे

दानापुर मंडल की ओर से बनाए गए 55 कोविड केयर कोच में सात को बेकार घोषित कर दिया गया है। 48 कोच को फिलहाल पाटिलपुत्र स्टेशन पर ही रखा गया है। रेलवे का मानना है कि जब भी राज्य सरकार की ओर से मांग की जाएगी तो शार्ट नोटिस पर इसे उपलब्ध करा दिया जाएगा।

पूर्व मध्‍य रेलवे के मुख्‍य जनसंपर्क अधिकारी राजेश कुमार ने बताया कि रेलवे की ओर से पिछले साल 269 कोविड केयर कोच बनाए गए थे। इसका कोई उपयोग नहीं होने पर इनमें से 45 कोच को वापस रेलवे की ओर से उपयोग में ले लिया गया। 160 कोच अभी भी पूर्व मध्य रेल के विभिन्न वर्कशॉप में तैयार हैं। आदेश मिलते ही इसे उपलब्ध करा दिया जाएगा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.