Bihar Coronavirus Update: पटना में ऑक्‍सीजन सिलेंडर का उत्‍पादन बढ़ा, कोरोना मरीजों के लिए राहत की बात

पटना में ऑक्‍सीजन सिलेंडर की उपलब्‍धता बढ़ा। फाइल फोटो

Bihar Coronavirus Update News राजधानी पटना में रिकॉर्ड 5358 ऑक्सीजन सिलेंडर की आपूर्ति पटना के जिला प्रशासन की पहल चार दिनों में 200 फीसद से पार किया उत्पादन झारखंड से रोजाना पहुंचने लगी 45 हजार लीटर तरल ऑक्सीजन

Shubh Narayan PathakWed, 21 Apr 2021 07:27 AM (IST)

पटना, जागरण संवाददाता। Bihar Coronavirus Update News: कोरोनावायरस महामारी का असर बढ़ते ही ऑक्‍सीजन सिलेंडर की आपूर्ति पूरे देश में एक समस्‍या बन गई है। बिहार सरकार और स्‍थानीय जिला प्रशासन की कोशिशों से पटना में मंगलवार को रिकॉर्ड 5358 ऑक्सीजन सिलेंडर की आपूर्ति की गई। बीते चार दिनों के भीतर राजधानी में ऑक्सीजन के उत्पादन और वितरण की मात्रा करीब 200 फीसद से पार कर गई। मंगलवार को भी पटना के तीनों ऑक्सीजन प्लांटों में 45 टन तरल ऑक्सीजन की आपूर्ति जिला प्रशासन ने झारखंड से कराई है।

पटना में रिकॉर्ड स्‍तर पर हो रहा ऑक्‍सीजन का उत्‍पादन

पटना में इतनी मात्रा में ऑक्सीजन सिलेंडर का उत्पादन पहली बार संभव हुआ है। इसके लिए 16 अप्रैल से तरल ऑक्सीजन झारखंड के बोकारो और जमशेदपुर से मंगाई जा रही है। उपविकास आयुक्त रिची पांडेय की देखरेख में पटना के तीन और नालंदा जिले के एक प्लांट से राजधानी क्षेत्र के सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों में ऑक्सीजन का प्रबंध किया जा रहा है।

पटना के तीन प्‍लांटों में तीन शिफ्टों में हो रही सिलेंडर की फ‍िलिंग

जिलाधिकारी डॉ. चंद्रशेखर सिंह के आदेश पर अब पटना के तीनों प्लांट में तीन शिफ्टों में ऑक्सीजन सिलेंडर का फिलिंग और आपूर्ति की जा रही है। अप्रैल के प्रथम सप्ताह तक पटना में औसत प्रतिदिन 2200 ऑक्सीजन सिलेंडर की आपूर्ति की जा रही थी। कोरोना मरीजों की संख्या बढऩे के साथ हाई फ्लो ऑक्सीजन खपत बढऩे के बाद 14 अप्रैल को त्राहिमाम मच गया था। जिला प्रशासन ने समय रहते झारखंड से तरल ऑक्सीजन 16 अप्रैल से आपूर्ति शुरू कराई है। जिला प्रशासन कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या के मद्देनजर उत्पाद लक्ष्य बढ़ाकर 6500 सिलेंडर करने का प्रयास में है।

हर घंटे 300 सिलेंडर फिलिंग की क्षमता पटना के प्‍लांटों में

पटना के उप विकास आयुक्‍त रिची पांडेय ने कहा कि प्लांट में शिफ्ट बदलने और तरल ऑक्सीजन का टैंक खाली होने के समय उत्पादन में थोड़ी कमी आती है। वैसे प्रति घंटे 100 ऑक्सीजन सिलेंडर उत्पादन क्षमता है। तीनों प्लांट एक घंटे में 300 ऑक्सीजन सिलेंडर फिलिंग कर सकते हैं। व्यवहारिक रूप से क्षमता का 90 फीसद तक उत्पादन होने पर 6500 सिलेंडर 24 घंटे में फिलिंग करने का लक्ष्य रखा गया है।

तिथि -  सिलेंडर आपूर्ति

17 अप्रैल - 3900

18 अप्रैल - 3973

19 अप्रैल - 4230

20 अप्रैल - 5358

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.