चीन की साजिश है 5G की टेस्टिंग से कोरोना वायरस को जोड़ने वाली अफवाह! पटना वाले खान सर ने खोल दिया राज

खान सर से जानें क्‍या है 5जी टेस्टिंग वाली अफवाह का सच। प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

Rumor Exposed on 5G Testing कई वायरल मैसेज वीडियो और तस्‍वीरों के जरिये यह अफवाह उड़ाई जा रही है कि लोग कोरोना वायरस के कारण नहीं बल्कि देश में चल रही 5जी की टेस्टिंग प्रक्रिया के चलते मर रहे हैं। यह अफवाह गांव-गांव तक पसर चुकी है।

Shubh Narayan PathakMon, 10 May 2021 08:21 AM (IST)

पटना, ऑनलाइन डेस्‍क। Bihar CoronaVirus News: बिहार में कोरोना वायरस महामारी के बीच एक अफवाह काफी तेजी से फैल रही है। यह अफवाह है 5जी टेस्टिंग को लेकर। कई वायरल मैसेज, वीडियो और तस्‍वीरों के जरिये यह अफवाह उड़ाई जा रही है कि लोग कोरोना वायरस के कारण नहीं, बल्कि देश में चल रही 5जी की टेस्टिंग प्रक्रिया के चलते मर रहे हैं। यह अफवाह गांव-गांव तक पसर चुकी है। अब पटना के खान सर ने इस अफवाह के पीछे की साजिश का भंडाफोड़ कर दिया है। हमने खुद भी इस मामले की पड़ताल की है। जानिए क्‍या है सच्‍चाई...

देश में अभी शुरू ही नहीं हुई है 5जी टेस्टिंग

भारत में अभी 5जी की टेस्टिंग ही शुरू नहीं हुई है। यह टेक्‍नोलॉजी काफी महंगी है और कोरोना काल में टेलिकॉम कंपनियां इतनी प्रतिस्‍पर्धा झेल रही हैं कि वह इस पर बहुत अधिक इंवेस्‍ट करने को उतावली फिलहाल नहीं हैं। टेलिकॉम कंपनियों ने अभी 5जी टेस्टिंग के लिए जरूरी उपकरण तक नहीं खरीदे हैं। इन उपकरणों को खरीदने के लिए बहुत बड़े इंवेस्‍टमेंट की जरूरत होगी।

इसी हफ्ते मिली है टेस्टिंग की मंजूरी

भारत में 5जी टेस्टिंग के लिए चुनिंदा कंपनियों को इसी हफ्ते मंजूरी मिली है। सरकार ने इन कंपनियों को टेस्टिंग के लिए जरूरी उपकरण खरीदने के लिए दो महीने का मौका दिया है। टेलिकॉम कंपनियां शुरुआत में सीमित उपकरणों के साथ सीमित क्षेत्रों में ही टेस्टिंग शुरू करने की तैयारी में हैं। देश के ग्रामीण इलाकों में 5जी की टेस्टिंग शुरू होने की कोई संभावना नहीं है। बिहार में भी ऐसी कोई तैयारी नहीं है। कंपनियां 5जी टेस्टिंग बड़े शहरों से शुरू कर सकती हैं। इसमें हैदराबाद, बेंगलुरु, दिल्ली और मुंबई जैसे शहर शामिल हैं।

बिहार के कई गांवों में तो अभी 3जी नेटवर्क भी नहीं

कोरोना के कारण गांव-गांव तक लोग कोरोना से संक्रमित हो रहे हैं और मर रहे हैं, जबकि इनमें से कई गांव ऐसे हैं, जहां अभी 2जी या 3जी नेटवर्क भी सही तरीके से काम नहीं करता। संसाधनों की कमी के चलते ही बिहार में सरकारी टेलिकॉम कंपनी बीएसएनएल अब तक 4जी भी लांच नहीं कर पाई है। ऐसे में आप खुद समझ सकते हैं कि बिहार के गांवों तक 5जी पहुंचना अभी बहुत दूर की कौड़ी है।

पटना वाले खान सर ने क्‍या कहा

कोरोना पर लगातर कई वीडियो बनाकर लोगों को जागरूक कर रहे पटना के खान सर ने कहा कि 5जी टेस्टिंग से आदमी मर जाए, यह सोचना बिल्‍कुल फिजुल है। यह जरूर है कि 5जी का रेडिएशन अधिक होता है, लेकिन यह आदमी के लिए जानलेवा नहीं हो सकता है। उन्‍होंने कहा कि यह अफवाह भी बेबुनियाद है कि 5जी रेडिएशन के जरिये कोरोना का वायरस फैल रहा है। उन्‍होंने कहा कि कोरोना का वायरस केवल ड्रॉपलेट्स और हवा में मौजूद धूल के जरिये फैल सकता है। रेडिएशन से कोई वायरस नहीं फैलता है।

साजिश के पीछे कहीं चीन तो नहीं

खान सर ने इस अफवाह के पीछे चीन का हाथ होने की आशंका जाहिर की है। उन्‍होंने कहा कि भारत में 5जी के लिए प्रस्‍ताव तो काफी समय से था। शुरुआत में इस प्रक्रिया में चीन की कंपनियों को मौका दिया जा रहा था, लेकिन बाद में उन्‍हें प्रक्रिया से बाहर कर दिया गया। कुछ साल पहले तक चीन को 5जी के जरिये बड़ा कारोबार नजर आ रहा था, लेकिन अब वह हाथ मल रहा है। ऐसी हालत में उसने अपनी खुफिया एजेंसी के सहारे भारत में ऐसी अफवाह फैलानी शुरू कर दी है।

भारत को तकनीक में पीछे छोड़ना मकसद

खान सर ने कहा कि चीन नहीं चाहता कि भारत उससे आगे निकले। इसके लिए वह 5जी की टेस्टिंग में अड़चन डालने के लिए साजिश का सहारा ले रहा है। अगर भारत में 5जी की टेस्टिंग टली तो हमारा देश तकनीक के मामले में काफी पीछे हो जाएगा। कई देश इसके लिए पहले से काम कर चुके हैं। उन्‍होंने कहा कि भारत में जब कंप्‍यूटर आया था, तब भी इसी तरह का माहौल बनाने की कोशिश की गई थी।

कौन हैं खान सर

खान सर, युवाओं के बीच काफी लोकप्रिय हैं और इंटरनेट मीडिया पर इन्‍हें लगभग हर कोई जानता है। वे मूलत: शिक्षक हैं और इंटरनेट पर अलग-अलग मुद्दों पर वीडियो शेयर कर लोगों को जागरूक करते हैं। वे रहने वाले तो मूलत: यूपी के गोरखपुर के हैं, लेकिन पटना में अपना कार्यक्षेत्र बना रखा है। कोरोना वायरस से जुड़े विषयों पर उन्‍होंने करीब सात वीडियो इंटरनेट पर शेयर किए हैं।

जागरण डॉट कॉम की सलाह

कोरोना वायरस जनित महामारी काफी खतरनाक रूप ले चुकी है। ऐसे में जागरण डॉट कॉम की सलाह है कि अविश्‍वनीय स्रोतों से मिलने वाली सूचनाओं पर भरोसा नहीं करें और उन्‍हें आगे नहीं बढ़ाएं। jagran.com पर आपको लगातार कोरोना से जुड़ी हर जरूरी और महत्‍वपूर्ण खबर पूरी सत्‍यता के साथ मिलती रहेगी। इसलिए लॉकडाउन का पालन करें, अपने घर में रहें और सरकार की ओर से जारी सलाह को अपनाकर खुद को वायरस से सुरक्षित रखें। जितनी जल्‍दी हो सके कोरोना का टीका जरूर लगा लें।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.