Bihar CoronaVirus Guidelines: शादी में सौ तो श्राद्ध में शामिल हो सकते हैं 25 लोग, बसों में रहेंगे आधे पैसेंजर

बिहार में कोरोना संक्रमण से बचाव की प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर।

Coronavirus Guideline Update in Bihar देश में कोरोना की दूसरी लहर तथा पटना सहित बिहार के पांच जिलों में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के मद्देनजर राज्‍य सरकार ने नई गाइडलाइन जारी की है। इसके प्रावधानों पर आइए डालते हैं नजर।

Publish Date:Fri, 27 Nov 2020 01:09 PM (IST) Author: Amit Alok

पटना, राज्य ब्यूरो। Coronavirus Guideline Update in Bihar देश के कई भागों में कोरोना संक्रमण (CoronaVirus Infection) की दूसरी लहर आने के बाद बिहार सरकार सतर्क हो गई है। गुरुवार को गृह और आपदा प्रबंधन विभागों ने तीन दिसंबर तक के लिए बचाव की नई गाइडलाइन जारी की। इसके अनुसार शादियों में सौ तो अंतिम संस्‍कार में 25 से अधिक लोग शामिल नहीं हो सकते हैं। कार्यालयों में 50 फीसद से अधिक कर्मचारी नहीं बुलाए जा सकते हैं। बसों व ऑटो सहित सार्वजनिक परिवहन वाहनों में क्षमता के आधे पैसेंजर ही बैठाए जा सकते हैं। इस बीच पटना हाईकोर्ट ने भी सरकार से कोरोना से बचाव को लेकर उठाए गए ऐहतियाती कदमों की जानकारी 8 दिसंबर को मांगी है।

विदित हो कि बिहार के पटना, बेगूसराय, जमुई, वैशाली, पश्चिम चंपारण और सारण जिलों में कोरोना संक्रमण में बढ़ोतरी हो रही है। गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव आमिर सुबहानी ने बताया कि इन जिलों में संक्रमण के फैलाव को रोकने तथा दूसरे जिलों के इसके प्रभाव से बचाने के लिए कई एहतियाती कदम उठाए गए हैं।

कोरोना संक्रमण रोकने की नई गाइडलाइन, एक नजर

पटना, पटना, बेगूसराय, जमुई, वैशाली, पश्चिम चंपारण और सारण जिलों में सरकारी व निजी कार्यालयों में अधिकतम 50 फीसद से अधिक कर्मचारी नहीं बुलाए जा सकते हैं। पटना में बस-ऑटो सहित सभी सार्वजनिक वाहनों में क्षमता के आधे पैसेंजर ही बैठाए जा सकते हैं। पटना से बाहर जाने वाले सार्वजनिक वाहनों में भी यही व्यवस्था लागू रहेगी। शादी-समारोह में बैंड बाजा व बारात पर प्रतिबंध लगाया गया है। केवल शादी समारोह के स्थल पर बैंड बाजा बजाया जा सकता है। शादी समारोह में शाररिक दूरी का पालन एवं मास्क पहनना अनिवार्य है। समारोह में थर्मल स्क्रीनिंग के बाद ही एंट्री दी जाएगी। आयोजक को सैनिटाइजर व थर्मल स्कैनर की व्यवस्था करनी पड़ेगी। अंतिम संस्‍कार एवं श्राद्ध कर्म में भी अधिकतम 25 लोग शामिल हो सकते हैं। कार्यक्रम के दौरान शारीरिक दूरी का पालन एवं मास्‍क पहनना अनिवार्य है।

 

कार्तिक पूर्णिमा पर एहतियात बरतने की अपील

राज्‍य सरकार ने 30 नवंबर को होने वाले कार्तिक पूर्णिमा स्‍नान को लेकर एहतियात बरतने की भी अपील की। आपदा प्रबंधन और स्वास्थ्य के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत ने कहा कि कोरोना वायरस पानी के माध्यम से भी फैल सकता है, इसलिए लोग नदी में नहाने से परहेज करें। 60 साल से अधिक के बुजुर्ग घरों में ही रहें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.