Bihar CoronaVirus Alert: बिहार में बीजेपी और कांग्रेस लॉकडाउन के पक्ष में, कांग्रेस-भाकपा की अलग राय

बिहार बीजेपी अध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल, राजद नेता तेजस्वी यादव और बिहार कांग्रेस अध्यक्ष डॉ.मदन मोहन झा। जागरण आर्काइव।

भारतीय जनता पार्टी ने पांच दिन रोजगार और दो दिन कोरोना पर प्रहार का मंत्र दिया। वहीं राजद ने कहा है कि सरकार वीकेंड कर्फ्यू लगाए। कांग्रेस का मानना है कि आम लोगों के साथ अन्य राज्यों से आने वालों की सुरक्षा का ख्याल रखते हुए ठोस कदम उठाए जाएं।

Akshay PandeySun, 18 Apr 2021 11:10 AM (IST)

जागरण टीम, पटना। बिहार में कोरोना के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। अब एक दिन सात हजार से अधिक संक्रमित मिल रहे हैं। भारतीय जनता पार्टी ने पांच दिन रोजगार और दो दिन कोरोना पर प्रहार का मंत्र दिया। वहीं राजद ने कहा है कि सरकार वीकेंड कर्फ्यू लगाए। लॉकडाउन का इरादा है तो इसकी पूर्व सूचना आम नागरिकों को दे। कांग्रेस का मानना है कि सरकार आम लोगों के साथ अन्य राज्यों से आने वाले लोगों की सुरक्षा और सुविधा का ख्याल रखते हुए ठोस कदम उठाए।

सरकार सख्त निर्णय ले, कांग्रेस देगी साथ: डॉ. झा

राज्य ब्यूरो, पटना : प्रदेश कांग्रेस का मानना है कि कोरोना से राज्य के हालात बिगड़ते जा रहे हैं। स्थिति और न बिगड़े, इसके लिए आवश्यक है कि सरकार गरीबों के हितों को ध्यान में रखते हुए सख्त कदम उठाए। कांग्रेस सरकार को हर सहयोग देगी। उन्होंने कांग्रेस मुख्यालय सदाकत आश्रम के साथ ही सभी जिला कार्यालयों को आइसोलेशन सेंटर बनाने का प्रस्ताव भी सरकार को दिया। शनिवार को राज्य सरकार द्वारा आयोजित सर्वदलीय बैठक में कांग्रेस की ओर से पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ.मदन मोहन झा शामिल हुए। उन्होंने कहा कि देश के साथ बिहार में कोरोना की वजह से हालात दिन प्रति दिन खराब होते जा रहे हैं। लेकिन संक्रमण के मामलों की जानकारी राज्य के लोगों को सही समय पर नहीं मिल रही। अस्पतालों में बेड और ऑक्सीजन को लेकर भी हालात बदतर होते जा रहे हैं। डॉ. झा ने कहा कि वक्त है, सरकार आम लोगों के साथ अन्य राज्यों से आने वाले लोगों की सुरक्षा और सुविधा का ख्याल रखते हुए ठोस कदम उठाए। उन्होंने लॉकडाउन को लेकर कुछ भी नहीं कहा और ना ही पंचायत चुनाव को लेकर ही कोई बात रखी। कहा कि सरकार को लोगों के बीच कोरोना से जागरूक करने के लिए भी काम करना चाहिए।

पांच दिन रोजगार, दो दिन कोरोना पर प्रहार : जायसवाल

राज्य ब्यूरो, पटना: भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल ने कहा है कि शुक्रवार शाम छह बजे से सोमवार सुबह आठ बजे तक लॉकडाउन लगाया जाना चाहिए। उन्होंने पांच दिन रोजगार और दो दिन कोरोना पर प्रहार का मंत्र दिया। वे शनिवार को सर्वदलीय बैठक में शामिल हुए थे। डॉ. जायसवाल ने कहा कि प्रत्येक सप्ताह 62 घंटे की बंदी से कोरोना की चेन ब्रेक होगी। जिससे संक्रमण की दर घटेगी। इसके लिए गुरुवार से जनता को जागरूक करना शुरू कर देना होगा ताकि किसी को समस्या न हो। कोरोना के नए स्वरूप पर चिंता जाहिर करते हुए उन्होंने 18 अप्रैल से 1 जून तक गर्मी की छुट्टी घोषित कर देने का सुझाव दिया। इस कदम से ब'चों और स्कूल के कॢमयों को कम से कम नुकसान होगा। ब'चों की पढ़ाई का नुकसान न हो इसके लिए जाड़े के समय होने वाली छुट्टियां कैंसिल कर कम से कम डेढ़ सौ दिन क्लास चलाए जा सकते हैं। अपने तीसरे सुझाव में भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि बेतिया, मधेपुरा, दरभंगा जैसे जिलों में कोविड से निपटने के लिए एक भी डेडिकेटेड अस्पताल नहीं है, इस दिशा में कार्रवाई तुरंत प्रारंभ की जाए। जिस अस्पताल में सबसे अधिक ऑक्सीजन उपलब्ध हो, उस एक अस्पताल को डेडीकेटेड कोविड हॉस्पिटल घोषित किया जाए। उन्होंने अन्य सुझाव में कहा कि सरकार को अपनी जान हथेली पर ले कोरोना से जूझने वाले फ्रंटलाइन वर्कर्स का विशेष ख्याल रखना चाहिए। उनके लिए हर समय कम से कम 50 बेड रिजर्व रखने चाहिए। उन्होंने जीवनरक्षक दवाएं भी पर्याप्त मात्रा में रहें, इसकी भी जरूरत बताई।

कोरोना मरीजों के लिए इस्तेमाल करें मेरा सरकारी आवासः तेजस्वी

शनिवार को आयोजित सर्वदलीय बैठक में तेजस्वी यादव ने 30 सुझाव दिए। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार मेदांता जयप्रभा सहित अन्य बड़े निजी अस्पतालों का अस्थायी तौर पर अधिग्रहण करे। सरकार वीकेंड कर्फ्यू लगाए। लॉकडाउन का इरादा है तो इसकी पूर्व सूचना आम नागरिकों को दे। उन्होंने राजद कार्यालय और अपने सरकारी आवास को कोरोना संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए देने की पेशकश की। उन्होंने आक्सीजन और जरूरी दवाओं की कालाबाजारी रोकने के लिए सप्लाई चेन दुरुस्त करने, मोबाइल टीकाकरण, टीका और जांच की पृथक व्यवस्था, जल्द से जल्द रिपोर्ट देने और महामारी से जुड़े आंकड़ों को पारदर्शी बनाने की सलाह दी। वहीं महागठबंधल में शामिल भाकपा-माले और माकपा ने लॉकडाउन का जोरदार विरोध किया।

 

लॉकडाउन के विरोध में हम, जांच और सुविधाएं बढ़ें : मांझी

राज्य ब्यूरो, पटना: हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (हम) के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने राज्यपाल के साथ सर्वदलीय बैठक में लॉकडाउन लगाने का विरोध किया। मांझी ने सुझाव दिया कि बिहार में किसी क़ीमत पर लॉकडाउन नहीं लगाया जाए। उन्होंने कहा कि हम कभी लॉकडाउन के पक्ष में नहीं हैं। लॉकडाउन से गरीब व भूखे लोग मर जाएंगे। लॉकडाउन की जगह कोरोना की जांच तेज हो और स्वास्थ्य सुविधाएं बढ़ाई जाएं। चिकित्सकों की कमी को देखते हुए प्राइवेट चिकित्सकों की मदद ली जाए। उन्होंने कहा कि बाहर से आ रहे मज़दूर भाइयों की जांच की जाए एवं उनको सभी सुविधाएं मुहैया कराई जाएं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.