Bihar Election: तेजप्रताप की राह मुश्किल करेंगी ऐश्‍वर्या, लालू के लाल का साथ देंगी साली करिश्मा

तेज प्रताप यादव एवं उनकी पत्‍नी ऐश्‍वर्या राय, फाइल फोटो।
Publish Date:Mon, 28 Sep 2020 01:14 PM (IST) Author: Amit Alok

पटना, जेएनएन। Bihar Assembly Election 2020: बिहार विधानसभा चुनाव के दौरान कुछ मुकाबले बेहद दिलचस्‍प होंगे। इस कारण ये सीटें भी हॉट रहेंगी। ऐसी ही एक जंग समस्तीपुर के हसनपुर में होती दिख रही है। कहा जा रहा है कि पत्नी ऐश्‍वर्या राय (Aishwarya Rai) के डर से वैशाली के महुआ की अपनी सीट छोड़ कर हसनपुर से चुनाव लड़ने की तैयारी में लगे राष्‍ट्रीय जनता दल (RJD) सु्प्रीमो लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) के बेटे तेज प्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) के लिए पत्नी (Wife) यहां भी मुसीबत बनकर खड़ी हो सकतीं हैं। इस जंग में ऐश्‍वर्या लालू परिवार (Lalu Family) के खिलाफ इमोशनल कार्ड (Emotional Card) चलतीं नजर आएंगीं तो उनके पिता अपने दामाद की बखिया उघेड़ने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। तेज प्रताप के लिए राहत की बात यह है कि इस जंग में उन्हें साली करिश्मा राय (Karishma Rai) का साथ मिलेगा।

लालू परिवार को चुनावी पटखनी देंगी ऐश्‍वर्या

विदित हो कि तेज प्रताप यादव का विवाह तत्कालीन आरजेडी विधायक चंद्रिका राय (Chandrika Rai) की बेटी ऐश्‍वर्या राय के साथ हुआ है। तेज प्रताप ने पत्‍नी के खिलाफ तलाक का मुकदमा (Divorce Case) दायर कर रखा है। इस मुकदमे के बाद लालू प्रसाद यादव तथा चंद्रिका राय के परिवारों के बीच खटास आ गई है। ऐश्‍वर्या राय ने भी लालू परिवार को चुनावी पटखनी देकर सबक सिखाने का मन बनाया है।

पत्‍नी के डर से बदली सीट, वहां भी डर कायम

बिहार विधानासभा चुनाव में तेज प्रताप यादव आरजेडी के टिकट पर हसनपुर से चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे हैं। गत विधानसभा चुनाव में उन्होंने वैशाली के महुआ से जीत दर्ज की थी। इस बार वहां से पत्नी के अपने खिलाफ खड़ा होने की आशंका को देखते हुए उन्होंने समस्तीपुर के हसनपुर से चुनाव लड़ने की घोषणा की है। हालांकि, अब ऐश्‍वर्या के वहां से भी चुनाव लड़ने की संभावना व्‍यक्‍त की जा रही है।

ऐश्‍वर्या के पिता ने इशारों में कह दी अपनी बात

ऐश्‍वर्या के पति के खिलाफ हसनपुर से चुनाव लड़ने की संभावना को उनके पिता चंद्रिका राय के इशारों में कही बात से बल मिला है। बीते दिनों उन्होंने कहा था कि यह ऐश्‍वर्या का अपना फैसला होगा, लेकिन अगर ऐसा फैसला करती हैं तो वे साथ देंगे।

लालू परिवार के खिलाफ एनडीए देगा पूरा साथ

लालू परिवार को चुनावी पटखनी देने में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) कोई कसर नहीं छोड़ेगा, यह तय है। ऐसे में अगर ऐश्‍वर्या अपने पति के खिलाफ मैदान में कूदती हैं तो उन्हें एनडीए का पूरा साथ मिलना तय है। चुनाव में ऐश्‍वर्या लालू परिवार के खिलाफ प्रताड़ना का इमोशनल कार्ड चलती नजर आएंगीं। ऐश्‍वर्या को पिता चंद्रिका राय का भी पूरा साथ मिलेगा। चंद्रिका राय अपने दामाद की बखिया उघेड़ते नजर आएंगे। इसमें एनडीए के नेता पूरा साथ देंगे।

लालू के लाल के लिए राहत की बात, साली देंगी साथ

तेज प्रताप यादव के लिए थोड़ी राहत की बात यह है कि उनके खिलाफ ऐश्‍वर्या के इमोशनल कार्ड की काट के रूप में साली डॉ. करिश्मा राय साथ हैं। करिश्‍मा राय ने बीते दिनों आरजेडी की सदस्यता ग्रहण की थी।

सीटों के बंटवारे के बाद जेडीयू करेगा कोई फैसला

बीते विधानसभा चुनाव में हसनपुर सीट पर जेडीयू के राजकुमार राय जीते थे। अगर ऐश्‍वर्या राय को पार्टी यहां से मैदान में उतारती है, तो राजकुमार राय को दूसरी सीट पर शिफ्ट किया जा सकता है। राजकुमार को विधान परिषद भी भेजा जा सकता है। जेडीयू ने इस मुद्दे पर कोई आधिकारिक बयान नहीं दिया है। माना जा रहा है कि एनडीए में यह सीट जेडीयू के खाते में आएगी। सीटों के बंटवारे के बाद इसपर कोई फैसला लिया जाएगा।

तेज प्रताप मानते सुरक्षित सीट, ससुर बोले- हार तय

समस्तीपुर का हसनपुर विधानसभा क्षेत्र पर यादव वोट बैंक का दबदबा रहा है। साल 1967 के बाद से यहां हमेशा यादव जाति के ही विधायक रहे हैं। बीते दो विधानसभा चुनाव से जीत रहे जेडीयू के राजकुमार राय भी यादव जाति से ही हैं। ऐसे में तेज प्रताप यादव ने इसे अपने लिए सुरक्षित सीट माना है। हालांकि, उनके ससुर चंद्रिका राय कहते हैं कि तेज प्रताप व उनके भाई तेजस्‍वी कहीं से भी चुनाव लड़ें, उनकी हार तय है।

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.