Bihar Assembly Election 2020: प्रचार सभाओं में कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन, 25 प्राथमिकी

कोरोना गाइडलाइन का पालन नहीं करने पर अब तक 25 पर एफआइआर।

Bihar Assembly Election 2020 बिहार विधानसभा चुनाव में प्रचार-प्रसार और सभाओं में कोरोना गाइडलाइन का पालन नहीं करने पर अब तक 25 एफआइआर दर्ज की जा चुकी है जबकि जांच अधिकारी ने 15 और प्राथमिकी की अनुशंसा की है।

Publish Date:Fri, 23 Oct 2020 06:39 AM (IST) Author: Akshay Pandey

पटना, जेएनएन। विधानसभा चुनाव में प्रचार-प्रसार और सभाओं में कोरोना गाइडलाइन का पालन नहीं करने पर अब तक 25 एफआइआर दर्ज की जा चुकी है, जबकि जांच अधिकारी ने 15 और प्राथमिकी की अनुशंसा की है। अब तक चार सौ से अधिक जनसभाओं की अनुमति दी जा चुकी है। इनमें आधी से ज्यादा सभाएं हो चुकी हैं। जिला निर्वाचन पदाधिकारियों ने कोरोना गाइडलाइन का पालन नहीं करने वाले प्रत्याशी व उनके समर्थकों पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय को विभिन्न एजेंसियों ने पांच दर्जन से अधिक सभाओं की जांच करने की जानकारी दी है। 

 

सूत्रों की मानें तो जांच में सरकारी एजेंसियों द्वारा सभा का वीडियो, सोशल मीडिया पर विभिन्न दलों व प्रत्याशियों द्वारा पोस्ट की गई तस्वीर व वीडियो, समाचार पत्रों में प्रकाशित फोटो आदि को आधार बनाया जा रहा है। आमजनों ने भी आवेदन देकर सभा में मानक से अधिक भीड़ होने के कारण संक्रमण फैलने की शिकायत की है।

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी एचएन श्रीनिवास ने बताया, प्रचार-प्रसार और सभा में कोरोना गाइडलाइन का पालन नहीं करने पर प्राथमिकी की गई है। जिन्होंने सभा की अनुमति ली है, उन्हें नामजद किया जा रहा है। कितनी प्राथमिकी अब तक दर्ज की गई है, इसकी जानकारी जल्द सार्वजनिक की जाएगी। उन्होंने बताया, कोविड काल में इतने बड़े स्तर पर पहली बार चुनाव कराया जा रहा है। इसे बेहतर तरीके से संपन्न कराने में सबकी भागीदारी जरूरी है। उन्होंने कहा, सभा में जिनके पास मास्क नहीं है, वह गमछा, दुपट्टा आदि का भी उपयोग मास्क के रूप में कर सकते हैं। 

 

सभी को गाइडलाइन की जानकारी 


उन्होंने बताया कि कोरोना काल में क्या-क्या सावधानी बरतनी है? इसकी जानकारी सभी दल व प्रत्याशी को है। यह आयोग व मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी की वेबसाइट पर अपलोड है। कई बैठकों में इसकी अनिवार्यता की जानकारी दी गई है। किस मैदान में कितने लोग सभा में मौजूद रहेंगे। इसकी सूची पूर्व में ही सार्वजनिक की जा चुकी है। इसका पालन नहीं करने पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.