टीबी मरीजों के लिए मददगार बनेगा आरोग्य साथी मोबाइल ऐप, हर महीने सरकार देगी इतने रुपये

टीबी रोग से ग्रसित मरीजों के लिए अब आरोग्य साथी एप मददगार बनेगा। इस एप के माध्यम से मरीज न सिर्फ अपनी रिपोर्ट देख सकेंगे बल्कि टीबी से जुड़ी सारी जानकारी भी मिलेगी। इसके साथ ही केन्द्र सरकार की तरफ से 500 रुपये भी दिए जाएंगे।

Rahul KumarSun, 05 Dec 2021 04:36 PM (IST)
टीबी मरीजों की मदद करेगा आरोग्य साथी ऐप। सांकेतिक तस्वीर

गोपालगंज, जागरण संवाददाता। क्षय रोग से ग्रसित मरीजों के लिए अब टीबी आरोग्य साथी ऐप मददगार बनेगा। इस ऐप के माध्यम से रोगी न सिर्फ अपनी प्रगति रिपोर्ट देख सकेंगे, बल्कि टीबी से संबंधित समस्त जानकारी भी मरीज को मिल सकेगी। साथ ही मरीज अपना आईडी डाल निश्चय योजना द्वारा मिलने वाली राशि की स्थिति देख सकेंगे। यह एक ऐसा प्लेटफार्म होगा, जहां टीबी से जुड़ी हर जानकारी उपलब्ध होगी। सिविल सर्जन ने इस बात की जानकारी देते हुए बताया कि टीबी के मरीज को कोई परेशानी ना हो, इसके लिए मरीज की सुविधा के लिए दो माह की दवा एक ही बार दी जाएगी। मरीज अपने नजदीकी डाट सेंटर से जाकर दवा ले सकते हैं। प्ले स्टोर से इस ऐप को डाउनलोड किया जा सकता है।  

 सिविल सर्जन ने बताया कि एनटीईपी के तहत पंजीकृत रोगियों के लिए यह डिजिटल रिकार्ड तक पहुंचने के लिए एक पोर्टल की तरह कार्य करेगा। इसके अंतर्गत टीबी परीक्षण और उपचार विवरण, विभिन्न प्रोत्साहन योजनाओं के तहत देय राशि का विवरण, स्वास्थ्य प्रदाता तक पहुंच और उपचार या किसी भी जानकारी के लिए अनुरोध किया जा सकता है। इसके अतिरिक्त टीबी से संबंधित समस्त जानकारी, टीबी जांच एवं उपचार की नजदीकी सुविधा, टीबी के जोखिम का आकलन करने के लिए स्क्रीनिंग टूल, पोषण संबंधी सहायता एवं परामर्श आदि भी इस ऐप के माध्यम से मिल सकेगी।

निक्षय पोषण योजना के तहत मिलेंगे 500 रुपये

गोपालगंज : सीएस ने बताया कि टीबी मरीजों को उचित खुराक उपलब्ध कराने के लिए केंद्र सरकार की तरफ से निक्षय पोषण योजना चलायी गयी है। जिसमें टीबी के मरीजों को उचित पोषण के लिए 500 रुपये प्रत्येक महीने दिए जाते हैं। यह राशि उनके खाते में सीधे पहुंचती है। सरकार की मंशा है कि टीबी के मरीजों में 2025 तक 90 प्रतिशत की कमी लायी जा सके।

हर व्यक्ति की नि:शुल्क जांच व इलाज

सिविल सर्जन ने बताया जिले के सभी प्रखंडों में प्राथमिक या सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों पर टीबी के मरीजों के इलाज की नि:शुल्क सुविधा उपलब्ध है। जहां पर वह अपना इलाज करा सकते हैं। इसके साथ उनको नि:शुल्क दवा भी दी जाती है। जो नजदीक स्वास्थ्य केंद्रों पर उपलब्ध है। इससे टीबी के मरीजों को काफी सहूलियत होती है। टीबी मुक्त बनाने का संकल्प है और इसीलिए टीबी रोग की रोकथाम के विभिन्न उपाय किए जा रहे हैं। टीबी रोगी सघन खोज अभियान में टीबी के लक्षण मिलने पर उसके बलगम की जांच की जाती है। साथ ही टीबी रोग पर नियंत्रण करने के लिए लोगों को सावधानियां बताते हुए जागरूक करने का प्रयास भी किया गया है। 

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.