भाजपा विधायक के रिश्‍तेदार की निकली AK-47 और दो सौ गोलियां, बेगूसराय में रविवार को हुई थी बरामद

बेगूसराय नगर थाना क्षेत्र से रविवार देर रात बरामद अत्‍याधुनिक AK-47 और गोलियों का कनेक्‍शन पाालिटिकल होता जा रहा है। एसपी अवकाश कुमार ने बताया कि मुख्‍य आरोपित नंदन चौधरी भाजपा के एक विधायक का भाई है। वह अभी तक फरार है।

Vyas ChandraTue, 21 Sep 2021 02:18 PM (IST)
प्रेस कांफ्रेंस करते एसपी अवकाश कुमार। जागरण

बेगूसराय, जागरण संवाददाता। बेगूसराय नगर थाना क्षेत्र के कपस्‍या मोहल्‍ले से अत्‍याधुनिक एके 47 (Moder AK 47) और करीब दो सौ गोलियों की बरामदगी ने पुलिस की नींदें उड़ा दी हैं। अब इस मामले का पालिटिकल कनेक्‍शन (Political Connection) भी सामने आ रहा है। पुलिस अब इस बात का पता लगाने में जुटी है कि आखिर इन हथियारों से किसी बड़े वारदात की अंजाम दिए जाने की तैयारी तो नहीं थी। फिलहाल एसपी अवकाश कुमार ने कहा कि मुख्‍य आरोपित मेयर का भांजा नंदन चौधरी है। उसकी गिरफ्तारी का प्रयास चल रहा है। बता दें कि मेयर वर्तमान नगर विधायक के पिता हैं।  

रविवार देर रात पुलिस ने की थी छापेमारी 

एसपी ने बताया कि सूचना मिली कि कपस्‍या चौक स्थित मंजेश कुमार उर्फ बड़े के घर कुछ अपराधियों को एके 47 और गोलियों के साथ देखा गया है। इसके बाद पुलिस ने कार्रवाई की।इसके बाद उन्‍होंने सदर एसडीपीओ अमित कुमार के नेतृत्‍व में टीम का गठन किया। इसमें  नगर थानाध्‍यक्ष अभय शंकर, एसआइ नीरज कुमार सिंह, एसआइ वरुण कुमार, एएसआइ आलमगीर और दिनेश कुमार को शामिल किया गया। छापेमारी दल ने नगर थाना क्षेत्र के कपस्‍या मोहल्‍ले में चंद्रदेव कुंवर के बेटे मंजेश कुमार उर्फ बड़े के घर छापेमारी की। वहां से एक AK 46 राइफल, दो लोडेड मैगजिन, 188 गोलियां, एक बाइक और एक मोबाइल बरामद की गई। मंजेश को गिरफ्तार कर लिया गया। उसपर नगर थाने में मामला दर्ज कर लिया गया। 

एक साल पहले नंदन ने दिए थे हथियार 

एसपी ने बताया कि पूछताछ में मंजेश ने बताया कि वह भाजपा विधायक के ममेरे भाई नंदन चौधरी का चालक है। ये हथियार उसने ही रखने के लिए दिए थे। एक साल पहले ही नंदन चौधरी ने उसे ये गोलियां दी थीं। एसपी ने बताया कि मुख्‍य आरोपित नंदन चौधरी की गिरफ्तारी के लिए प्रयास किए जा रहे हैं। उसकी गिरफ्तारी से ही पता चल सकेगा क‍ि इन हथियारों को किस उद्देश्‍य से रखा गया था। मालूम हो कि बेगूसराय के मेयर उपेंद्र सिंह हैं। उनके पुत्र सदर विधायक कुंदन सिंह हैं। ऐसे में नंदन चौधरी विधायक कुंदन सिंह का ममेरा भाई है। एके बरामदगी में निवर्तमान मेयर सह देश के बड़े ठीकेदार उपेन्द्र प्रसाद सिंह के भांजे, भतीजे व नगर विधायक कुंदन सिंह के फुफेरे व चचेरे भाई की संलिप्तता उजागर होने के बाद मामला हाई प्रोफाइल बन गया है। एसपी अवकाश कुमार ने बताया कि एके 47 जैसे स्वचालित हथियार रखने की पीछे की मंशा का खुलासा नंदन चौधरी की गिरफ्तारी के बाद ही हो सकेगा। फिलहाल इस मामले में जिले के रसूखदार, राजनीतिज्ञ समेत अन्य लोगों ने चुप्पी साध रखी है। बता दें कि रविवार को की रात पुलिस ने छापेमारी की थी। इतनी बड़ी मात्रा में हथियारों की बरामदगी के बाद एक अन्‍य जगह पर छापेमारी कर दो भाइयों को हिरासत में लिया गया।  

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.