बिहार में 13.72 लाख किसानों के खाते में भेजा गया कृषि इनपुट अनुदान

किसानों को दी गई कृषि इनपुट अनुदान, सांकेतिक तस्‍वीर ।

कृषि मंत्री ने बताया कि बाढ़ और अतिवृष्टि से हुई फसलों की क्षति वाले जिलों के किसानों को कृषि इनपुट अनुदान दे दिया गया है। मधेपुरा पूर्वी चम्पारण भागलपुर खगडिय़ा मधुबनी सहरसा मुजफ्फरपुर समस्तीपुर बेगूसराय शिवहर पश्चिमी चंपारण सिवान सारण दरभंगा वैशाली सीतामढ़ी और गोपालगंज जिले के 1372344 किसान लाभान्वित

Sumita JaiswalFri, 26 Feb 2021 10:37 AM (IST)

पटना, राज्य ब्यूरो । कृषि मंत्री अमरेंद्र प्रताप सिंह ने गुरुवार को बताया है कि  खरीफ, 2020 में बिहार में अत्यधिक वर्षापात के कारण आई बाढ़ और अतिवृष्टि से हुई फसलों की क्षति वाले जिलों के 13.72 लाख किसानों के खाते में कृषि इनपुट अनुदान की राशि भेज दी गई है।

उन्होंने बताया कि 17 जिले प्रतिवेदित हुए थे। बाढ़ और अतिवृष्टि की चपेट में आने वाले जिलों में मधेपुरा, पूर्वी चम्पारण, भागलपुर, खगडिय़ा, मधुबनी, सहरसा, मुजफ्फरपुर, समस्तीपुर, बेगूसराय, शिवहर, पश्चिमी चंपारण, सिवान, सारण, दरभंगा, वैशाली, सीतामढ़ी और गोपालगंज जिले के 3,251 पंचायतों के 13,72,344 किसान हैं।

किसानों के बीच 567.67 करोड़ रुपये  डीबीटी के माध्यम से कृषि इनपुट अनुदान के रूप में सीधे उनके आधार लिंक बैंक खाते में हस्तांतरित की गई है।

कृषि मंत्री ने कहा कि इसके अतिरिक्त कृषि विभाग द्वारा बाढ़/अत्यधिक वर्षा से हुई फसल क्षति के लिए कटिहार, अररिया, पूर्णिया तथा सुपौल जिला में 337 प्रतिवेदित पंचायतों वाले 22 प्रखंडों के प्रभावित किसानों से 22 फरवरी, 2021 से आवेदन लेने की प्रक्रिया शुरू की गई है। आवेदन लेने की प्रक्रिया पांच मार्च 2021 तक जारी रहेगी। अब तक कृषि इनपुट अनुदान के लिए चार जिलों से प्रभावित किसानों द्वारा 4596 आवेदन ऑनलाइन डीबीटी पोर्टल पर किया गया है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.