मुजफ्फरपुर शेल्‍टर होम की लड़की से सामूहिक दुष्‍कर्म के आरोपित गिरफ्तार, वायरल AUDIO में कही थी ये बात

पटना [जागरण टीम]। बिहार के मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड (Muzaffarpur Shelter Home Case) की पीड़ित लड़की को अगवा कर चलती गाड़ी में सामूहिक दुष्‍कर्म के चार आरोपित गिरफ्तार कर लिए गए हैं। इस वारदात का राष्‍ट्रीय महिला आयोग (Central Women's Commission) ने स्‍वत: संज्ञान लिया है।

इस बीच एक आरोपित के कबूलनामा का कथित ऑडियो (Confessional Audio) वायरल हो गया है। घटना की जांच के सिलसिले में पुलिस की फोरेंसिक टीम (Forensic Team) ने पीड़िता से पूछताछ की है। पुलिस ने पीड़िता की मेडिकल जांच करा ली है। उसका इलाज बेतिया के गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज व अस्‍पताल में चल रहा है।

घर के पास गाड़ी में सामूहिक दुष्‍कर्म

पीड़ित लड़की पहले मुजफ्फरपुर बालिका गृह में थी। वह वहां बड़े पैमाने पर लड़कियों के साथ सामूहिक दुष्‍कर्म के मामले के खुलासे से दो दिन पहले ही भेजी गई थी। कांड के खुलासे के बाद उसे अन्‍यत्र स्‍थानांतरित कर दिया गया था। यह लड़की मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड में दुष्‍कर्म पीड़िता तो नहीं रही, लेकिन वहां की मानसिक पीड़ा की पीड़िता जरूर रही। वह वहां तो बच गई, लेकिन हवस के दरिंदों ने उसे अपने घर के पास नहीं छोड़ा।

घटना की जानकारी पुलिस को तब हुई, जब का वह नगर थाने पहुंची। पुलिस ने उसे इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया। घटना की जांच के लिए महिला थानाध्यक्ष के नेतृत्व में टीम बनाई गई है। इस बीच फरार आरोपित गिरफ्तार कर लिए गए हैं।

कांड के चार आरोपित गिरफ्तार

बिहार के एडीजी (मुख्‍यालय) जितेंद्र कुमार ने बताया कि कांड के तीन नामजद एवं एक अज्ञात आरोपित को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। उन्‍होंने एक और आरोपित का नाम बताया है। एसपी जयंतकांत ने बताया कि एसडीपीओ पंकज कुमार रावत के नेतृत्व में बनाई गयी विशेष टीम ने उन्‍हें बिहार*उत्तर प्रदेश बॉर्डर के समीप से गिरफ्तार किया। एसपी ने बताया कि गिरफ्तार आरोपित साजन कुमार, कुंदन कुमार, आकाश कुमार एवं अंशु कुमार हैं। कांड का एक नामजद आरोपित अभी भी पकड़ से बाहर है। घटना में इस्तेमाल स्कॉर्पियो और उसके ड्राइवर की भी तलाश की जा रही है।

ADG (Police HQs) Jitendra Kumar on alleged rape of a woman in Bettiah, Bihar: 4 accused were named in the case. Three of them were arrested yesterday itself, one more has now been arrested. They have given us the name of one more accused, efforts are underway to arrest him too. pic.twitter.com/X4UHlIahmR

चार नहीं पांच ने किया था दुष्‍कर्म

पीड़िता ने बताया था कि शुक्रवार को चार लोगों ने उसे घर के पास से एक स्‍कॉर्पियों में खींच लिया था। आरोपियों ने चलती गाड़ी में सामूहिक दुष्‍कर्म किया तथा धमकी देकर छोड़ दिया, लेकिन घटना के एक आरोपित का कथित ऑडियो वायरल होने के बाद पांचवें दुष्‍कर्मी का भी खुलासा हुआ है। ऑडियो के अनुसार, ड्राइवर ने भी उसके साथ सामूहिक दुष्‍कर्म किया था।

एक आरोपित का कथित ऑडियो वायरल

गिरफ्तारी के पहले एक आरोपित (आकाश) का कथित ऑडियो वायरल हो गया था। इसमें वह सामूहिक दुष्‍कर्म की बात कबूल रहा है। ढ़ाई मिनट का यह ऑडियो आकाश का मामा से मोबाइल पर बातचीत का है। इसमें आकाश बताता है कि उसने अपने दोस्‍तों दीनानाथ, कुंदन व राजकुमार के साथ चलती गाड़ी सामूहिक दुष्‍कर्म किया था। उसके अनुसार, गाड़ी के ड्राइवर ने भी दुष्‍कर्म किया था।

राष्‍ट्रीय महिला आयोग ने लिया स्‍वत: संज्ञान

घटना का स्‍वत: संज्ञान राष्‍ट्रीय महिला आयोग ने लिया है। उसने बिहार के पुलिस महानिदेशक (DGP) को नोटिस जारी कर घटना की जानकारी मांगी है। साथ ही घटना पर कार्रवाई व आरोपितों की शीघ्र गिरफ्तारी का आदेश दिया। इसके बाद मंगलवार को चार आरोपित गिरफ्तार कर लिए गए।

घटना को लेकर पुलिस मुख्‍यालय गंभीर

घटना को लेकर पुलिस मुख्‍यालय गंभीर है। सोमवार को पुलिस की फोरेंसिक टीम ने अस्‍पताल जाकर घटना की जांच की तथा पीड़ित लड़की से पूछताछ की। फोरेंसिक टीम ने जांच के लिए पीड़िता के कपड़े जब्त किए हैं। उन्‍हें फोरेंसिक लैब भेज दिया गया है।

पीड़िता को सांस लेने में समस्‍या

इस बीच सामूहिक दुष्कर्म की पीड़िता का इलाज बेतिया के गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज व अस्‍पताल के आइसीयू में जारी है। उसे अचानक सांस लेने में शिकायत हो गई है। अस्पताल उपाधीक्षक डॉ केबीएन सिंह ने बताया कि उसकी हालत में सुधार है।

दोषियों के खिलाफ चलेगा स्पीडी ट्रायल

एडीजी (मुख्यालय) जितेंद्र कुमार ने बताया कि दोषियों को सजा दिलाने के लिए स्पीडी ट्रायल चलाया जाएगा।

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.