top menutop menutop menu

राजधानी में 277 नए मरीजों की हुई पहचान, स्थिति देखने पहुंची केंद्रीय टीम

पटना । राजधानी में हर दिन डेंगू मरीजों की संख्या बढ़ रही है। शुक्रवार को डेंगू के 113 नए मरीज मिले। पीएमसीएच के वायरोलॉजी लैब में इसकी पुष्टि हुई। अब तक केवल पीएमसीएच में 1755 मरीज की पहचान हुई है। जबकि राज्य में 2366 मरीजों की पहचान हुई। शुक्रवार को19 नए डेंगू मरीज पीएमसीएच के डेंगू वार्ड में भर्ती किए गए। इससे वहां भर्ती मरीजों की संख्या 43 हो गई। पीएमसीएच अधीक्षक डॉ. राजीव रंजन प्रसाद ने बताया कि लगातार मरीजों की निगरानी की जा रही है। राजधानी में डेंगू की भयावह स्थिति को देखते हुए चार सदस्यीय केंद्रीय टीम ने पीएमसीएच का दौरा किया। इस दौरान डेंगू वार्ड, वायरोलॉजी लैब का निरीक्षण किया गया। मरीजों एवं चिकित्सकों से बात की। सभी बेड पर मच्छरदानी लगे हुए थे। टीम में शामिल डॉक्टरों ने व्यवस्था को संतोषजनक बताया। इसमें केंद्रीय वेक्टर जनित रोग के सीएमओ डॉ. रविशंकर सिंह, राम मनोहर लोहिया अस्पताल, दिल्ली के मेडिसीन विभाग के डॉ. प्रभात कुमार, कोलकाता के डॉ. पापिया दास, डॉ. भट्टाचार्य, पीएमसीएच के प्राचार्य डॉ. विद्यापति चौधरी, अधीक्षक डॉ. राजीव रंजन प्रसाद आदि भी थे। मरीजों की सहायता के लिए हुआ रक्तदान

बिहार स्टेट एड्स कंट्रोल सोसायटी एवं नव्याकृति सोशल फाउंडेशन व लायंस क्लब पटना सेंट्रल क्लासिक की ओर से डेंगू मरीजों को सुविधा देने के लिए शुक्रवार को पीएमसीएच में रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। इस दौरान पीएमसीएच के मुख्य आकस्मिक चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. अभिजीत सिंह, जेडीए अध्यक्ष डॉ. शंकर भारती, जूनियर डॉक्टरों ने रक्तदान किया। लगभग 81 यूनिट रक्तदान हुआ। सोसायटी की ओर से उपनिदेशक डॉ. एनके गुप्ता, अस्पताल प्रबंधक आलोक रंजन, मुकेश हिसारिया, विमल जैन, डॉ. एम रहमान, नंदन कुमार भी मौजूद रहे। बोरिग रोड, मंदिरी, कंकड़बाग इलाके से डेंगू की अधिक शिकायत

राजधानी में बोरिग रोड, मंदिरी, कंकड़बाग इलाके से डेंगू के अधिक मरीज अस्पताल पहुंच रहे है। डेंगू को लेकर कई निजी अस्पतालों में भी काफी मरीज भर्ती किए गए है। हालांकि स्वास्थ्य विभाग की ओर से लगातार दवा छिड़काव के साथ-साथ फॉगिंग का दावा किया जा रहा है। कई ब्लड बैंक में निगेटिव ग्रुप के प्लेटलेट्स खत्म

डेंगू के बढ़ते कहर के कारण अस्पतालों से कई निगेटिव ग्रुपों के प्लेटलेट्स गायब हो गए हैं। जबकि पॉजिटिव ग्रुप के प्लेटलेट्स प्रचुर मात्रा में सभी ब्लड बैंकों में उपलब्ध है।

निगेटिव ग्रुप

ब्लड बैंक ए बी एबी ओ

पारस 00 00 00 00

एम्स 03 03 00 01

जय प्रभा 02 02 01 02

पीएमसीएच 02 02 01 01

महावीर कैंसर 00 01 00 00

एनएमसीएच 00 00 00 00

कुर्जी फैमिली 01 00 00 00 एनएमसीएच में फर्श पर मरीजों को लिटाकर किया जा रहा इलाज जागरण संवाददाता, पटना सिटी : शुक्रवार को डेंगू के 164 एवं चिकनगुनिया के 33 नए मरीज मिलने से प्रभावित इलाकों में हड़कंप मचा रहा। एनएमसीएच के मेडिसिन विभाग के वार्ड में भर्ती 13 डेंगू पीड़ित महिला-पुरुष का इलाज जारी है। यहां की इमरजेंसी में डेंगू लक्षण वाले दस मरीज बुरी हालत में भर्ती हैं। इनके लिए बेड उपलब्ध नहीं हो पा रहा है। कई मरीजों का इलाज फर्श पर लिटाकर किया जा रहा है।

एनएमसीएच के माइक्रो बायोलॉजी विभाग के लैब में हुए 178 संदिग्ध मरीजों के नमूनों की जांच में 73 की डेंगू रिपोर्ट पॉजिटिव प्राप्त हुई। वहीं, आरएमआरआइ की लैब में 217 मरीजों के नमूनों की जांच की गई। निदेशक डॉ. प्रदीप दास ने बताया कि 91 मरीजों को डेंगू और 33 को चिकनगुनिया होने की पुष्टि हुई। इनमें 26 ऐसे मरीज थे जिनकी डेंगू और चिकनगुनिया दोनों रिपोर्ट पॉजिटिव थी।

एनएमसीएच के मेडिसिन विभाग के अध्यक्ष डॉ. उमा शंकर प्रसाद, डॉ. अजय कुमार सिंहा समेत अन्य चिकित्सक तथा उपाधीक्षक डॉ. गोपाल कृष्ण डेंगू वार्ड में सक्रिय रहे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.