बेउर जेल में 176 कैदी रखेंगे रोजा, 55 करेंगे चैती नवरात्र

बेउर जेल में 176 कैदी रखेंगे रोजा, 55 करेंगे चैती नवरात्र

आदर्श केंद्रीय कारा बेउर में इन दिनों सांप्रदायिक सौहार्द देखते ही बन रहा है। वर्तमान में बेउर जेल में लगभग 4500 कैदी रह रहे हैं। इस बार नवरात्र और रमजान लगभग एक साथ शुरू होने से बेउर जेल का वातावरण भक्तिमय है।

JagranWed, 14 Apr 2021 01:53 AM (IST)

पटना । आदर्श केंद्रीय कारा बेउर में इन दिनों सांप्रदायिक सौहार्द देखते ही बन रहा है। वर्तमान में बेउर जेल में लगभग 4500 कैदी रह रहे हैं। इस बार नवरात्र और रमजान लगभग एक साथ शुरू होने से बेउर जेल का वातावरण भक्तिमय है। सुबह-शाम प्रार्थना के साथ-साथ आरती गूंज सुनाई दे रही है। जेल की साफ-सफाई व फॉगिंग के लिए नगर निगम से विशेष अनुरोध किया गया है। जेल की जलनिकासी को दुरुस्त करने के लिए भी निगम से अनुरोध किया गया है।

काराधीक्षक जितेन्द्र कुमार ने बताया कि बेउर जेल में अभी 167 कैदी अल्पसंख्यक समुदाय के हैं। हिदू समुदाय के भी नौ कैदियों द्वारा रमजान में उपवास रखने की घोषणा की गई है। जेल में सांप्रदायिक सौहार्द का यह बेहतर उदाहरण है। कारा प्रशासन की ओर से रमजान में उपवास रखने वाले कैदियों को अलग से वार्ड में रखने की योजना बनाई गई है। इस वार्ड में 176 कैदियों को रखा जा रहा है। इनके लिए अलग से सहरी व इफ्तार की व्यवस्था कारा प्रशासन की ओर से किया जा रहा है। सारे कैदियों को एक-एक टोपी भी कारा प्रशासन की ओर से दिया जा रहा है।

फलाहार व दूध-दही

की पूरी व्यवस्था

चैत्र नवरात्र की शुरूआत हो चुकी है। जेल में बंद 55 कैदियों ने नवरात्र के दौरान उपवास अथवा फलाहार पर रहने की घोषणा कर रखा है। इनके लिए फलाहार व दूध-दही की व्यवस्था कारा प्रशासन की ओर से की जा रही है। पूजा-पाठ व हवन सामग्री की व्यवस्था भी कारा प्रशासन की ओर से किया जा रहा है। नवरात्र पर सुबह-शाम देवी पाठ व आरती की गूंज से पूरा जेल भक्तिमय हो उठा है।

---------

22 पुरुष व 10 महिला

कैदी रखेंगे उपवास

चैत्र में छठ पूजा में उपवास पर रहने के लिए 32 कैदियों ने जेल प्रशासन को अपनी सहमति दे दी है। इनमें से 22 पुरुष और 10 महिला कैदी हैं। छठ में व्रत रखने वाले इन कैदियों के लिए कारा प्रशासन की ओर से अलग से व्यवस्था की गई है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.