पूमरे की 10 जोड़ी सवारी गाड़ियां होंगी एक्सप्रेस में अपग्रेड

पूमरे की 10 जोड़ी सवारी गाड़ियां होंगी एक्सप्रेस में अपग्रेड
Publish Date:Fri, 23 Oct 2020 10:36 AM (IST) Author: Jagran

चंद्रशेखर, पटना। रेलवे अब यात्रियों को उनके गंतव्य स्टेशन तक त्वरित गति से पहुंचाने की कोशिश में जुट गई है। एक और तेज गति से चलने वाली बुलेट ट्रेन को लाया जा रहा है वहीं दूसरी ओर सवारी ट्रेनों को मेल-एक्सप्रेस में अपग्रेड करने की कवायद शुरू कर दी गई है। पहले जो लंबी दूरी की सवारी गाड़ियां चलती थीं, उन्हें अब उसी समय में एक्सप्रेस ट्रेन बनाकर चलाया जाएगा। इन ट्रेनों का ठहराव भी काफी कम कर दिया जाएगा। मेल-एक्सप्रेस में अपग्रेड होने वाली ट्रेनें अब छोटे-छोटे स्टेशनों अथवा हाल्ट स्टेशनों पर नहीं रुकेंगी। इन ट्रेनों की गति भी अब 110 किमी प्रति घटे की हो जाएंगी। हा, यात्रियों को इन ट्रेनों पर सवार होने के लिए अपनी जेब थोड़ी ढीली करनी पड़ेगी। इन ट्रेनों में एक्सप्रेस ट्रेन का ही भाड़ा वसूला जाएगा।

आधिकारिक सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक रेलवे बोर्ड की ओर पूर्व मध्य रेल की 10 जोड़ी सवारी गाड़ियों को मेल-एक्सप्रेस में अपग्रेड करने का आदेश जारी किया गया है। रेलवे बोर्ड की ओर से इस संबंध में आदेश जारी कर दिया गया है। 10 जोड़ी ट्रेनों की नई समय-सारणी तय करने का निर्देश जारी किया गया है। पूर्व मध्य रेल मुख्यालय की ओर से शीघ्र ही इन अपग्रेडेड ट्रेनों का समय सारणी घोषित कर दी जाएगी। जब नियमित ट्रेनों का परिचालन शुरू होगा, तब यह नए समय सारणी व नए ठहराव के साथ चलेंगी।

ये ट्रेनें की जानी हैं अपग्रेड

55527 जयनगर- पटना

55528 पटना- जयनगर

63208 पटना-जसीडीह

63211 जसीडीह पटना

63227 पटना - डीडीयू

63228 डीडीयू - पटना

75215 रक्सौल - पाटलिपुत्र

73216 पाटलिपुत्र- रक्सौल

53041 हावड़ा- जयनगर

53042 जयनगर - हावड़ा

53049 हावड़ा - मोकामा

53050 मोकामा - हावड़ा

63545 आसनसोल-गया

63546 गया-आसनसोल

63553 आसनसोल-वाराणसी

63554 वाराणसी आसनसोल

53345 चोपन प्रयागराज

53346 प्रयागराज चोपन

55008 गोरखपुर पाटलिपुत्र

55007 पाटलिपुत्र गोरखपुर

----

अधिकारी बोले :

रेलवे की ओर से लंबी दूरी की सवारी गाड़ियों को अत्याधुनिक यात्री सुविधाओं से सुसज्जित रैक देकर इसे एक्सप्रेस ट्रेन में अपग्रेड किया जा रहा है। इन ट्रेनों की गति बढ़ाई जाएगी। इसका ठहराव भी काफी कम कर दिया गया है। इससे यात्री कम समय में गंतव्य स्टेशन तक पहुंच सकेंगे।

- राजेश कुमार, मुख्य जनसंपर्क अधिकारी, पूर्व मध्य रेल

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.