कोविड टीकाकरण के प्रति जागरूकता को लेकर नुक्कड़ नाटक आयोजित

नवादा वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण के कारण हो रहा है। नवादा जिला में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए जिला प्रशासन के द्वारा हर संभव कदम उठाया जा रहा है।

JagranMon, 26 Jul 2021 11:33 PM (IST)
कोविड टीकाकरण के प्रति जागरूकता को लेकर नुक्कड़ नाटक आयोजित

नवादा : वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण के कारण हो रहा है। नवादा जिला में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए जिला प्रशासन के द्वारा हर संभव कदम उठाया जा रहा है। जिलाधिकारी यशपाल मीणा के निर्देश के आलोक में सोमवार को उप विकास आयुक्त वैभव चौधरी ने समाहरणालय परिसर से हरी झंडी दिखाकर नुक्कड़ नाटक टीम को रवाना किए। इस अवसर पर उन्होंने बताया कि बताया कि सभी जिले वासियों को टीकाकरण के लिए जिला प्रशासन प्रयत्नशील है। इसमें आम भागीदारी भी जरूरी है। जन प्रतिनिधियों का भी इसमें अपेक्षित सहयोग मिल रहा है। प्रतिदिन इसके लिए विशेष कार्यबल का गठन किया गया है। जिलाधिकारी नवादा के आदेश के आलोक में जिले में चयनित स्थलों पर सभी विभागों का समन्वय एवं नुक्कड़ नाटक के माध्यम से जागरूक किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि कोविड संक्रमण की स्थाई बचाव के लिए टीकाकरण आज की प्राथमिकता है। आप अपने परिवार के साथ आएं और आज ही टीकाकरण अवश्य कराएं और जिले को तीसरी लहर की संभावना से मुक्त करें। आज नुक्कड़ नाटक की टीम के द्वारा नगर परिषद नवादा के पौरा, मिर्जापुर और भदौनी टोले में नुक्कड़ नाटक का प्रदर्शन कर लोगों को टीकाकरण के लिए जागरूक किया। ''भाई सगरो कोरोना महामारी, की जन जीवन तबाह कर दी।'' जिला जनसंपर्क अधिकारी सत्येंद्र प्रसाद ने इस नाटक की सारांश के बारे में बताया कि - एक गांव में राजू और सोहन दोनों टीका के डर से भागने लगते हैं, उनके काका ने पूछा कि दोनों क्यों भाग रहे हो तो राजू ने बताया कि देखो ना गांव में टीका देने के लिए आया है, तो उसके काका और समाज सेवक ने बताया कि, इस टीका से भागना नहीं है हम लोग इसका महीनों से इंतजार कर रहे थे। कोरोना वायरस एक जानलेवा बीमारी है, इससे बचने के लिए टीका बहुत जरूरी है। सोहन अपने घर में जाकर पत्नी को बताता है कि देखो ना टीका देने वाला है, हम लोग छुप जाओ। उसकी पत्नी समझदार है पढ़ी लिखी है वह बताती है कि टीका से भागना क्यों है। टीका तो जीवन रक्षक के लिए बनता है कोरोना बीमारी से बचना है तो टीका हम लोगों को लगाना होगा। हम लोग पूरे परिवार मिलकर चलेंगे और टीका हंसी खुशी से लगवा लेंगे। लेकिन उसका पति उसके बात पर विश्वास नहीं करता है। इसके बाद एक गीत है, ''जिसके लिए था इंतजार वो वैक्सीन आ गई, वो वेक्सीन आ गई।'' पत्नी के समझाने पर सोहन जो उसका पति है नहीं मानता है। उसके परिवार में पत्नी और 06 बेटा बेटी टीका लगवा लेते हैं लेकिन हटी और जिद्दी पति टीका केंद्र पर नहीं गया और टीका भी नहीं लगाया। 10 दिन के बाद उसका पति संक्रमित हो गया। लाख दिखाने के बाद भी पति ठीक नहीं हुआ और अंत में उसका निधन हो गया। पति के निधन के बाद उसकी पत्नी काफी उदास हुई काफी दुखी थी। लेकिन उन्होंने गांव वालों से कहा कि यदि मेरे पति समय पर कोरोना वायरस का टीका लगा लेते तो आज भी जीवित रहते। इसलिए मैं सभी गांव वालों से यही कहूंगी कि जीना है तो टीका जरूर लगवा लो।

कोविड संक्रमण से बचाव के लिए टीका कारगर और महत्वपूर्ण है। आज के समय में टीका से कोई बेहतर उपाय नहीं है। कोविड संक्रमण से बचने के लिए टीका सशक्त और महत्वपूर्ण हथियार है। किसी के बहकावे में नहीं आए, मन में कोई डर नहीं रखे, अफवाह पर ध्यान नहीं दें। सुरक्षित रहने के लिए टीका जरूर लगाएं। इससे कोई साइड इफेक्ट नहीं होता है और न इससे अन्य किसी प्रकार का कोई बीमारी होती है। वह पूरी तरह सुरक्षित है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.