नए तौर-तरीके से 12 दिसम्बर को लगेगी राष्ट्रीय लोक अदालत

नए तौर-तरीके से 12 दिसम्बर को लगेगी राष्ट्रीय लोक अदालत

बिहारशरीफ। जिला विधिक सेवा प्राधिकार अध्यक्ष रमेश चन्द्र द्विवेदी की अध्यक्षता तथा सचिव आदित्य पांडेय के निर्देशन में 12 दिसम्बर को जिला न्यायालय परिसर में राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन होना है। इस अदालत का मुख्य माध्यम एसएएमए एजेंसी होगी। जो पक्षकारों से संपर्क कर नोटिस निर्गत करते हुए काउंसलर से संपर्क कराएगी। हालांकि बातचीत या निर्णय में एजेंसी का कोई दखल नहीं होगा।

Publish Date:Tue, 24 Nov 2020 12:01 AM (IST) Author: Jagran

बिहारशरीफ। जिला विधिक सेवा प्राधिकार अध्यक्ष रमेश चन्द्र द्विवेदी की अध्यक्षता तथा सचिव आदित्य पांडेय के निर्देशन में 12 दिसम्बर को जिला न्यायालय परिसर में राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन होना है। इस अदालत का मुख्य माध्यम एसएएमए एजेंसी होगी। जो पक्षकारों से संपर्क कर नोटिस निर्गत करते हुए काउंसलर से संपर्क कराएगी। हालांकि बातचीत या निर्णय में एजेंसी का कोई दखल नहीं होगा। सचिव ने कहा कि सभी संबंधित मामलों को 27 नवंबर तक विधिक प्राधिकार में सूची बनाकर भेजना है। यह प्रक्रिया लगातार दस दिनों तक जारी रहेगी। सूचीबद्ध मामलों की काउंसलिग 5 से 11 दिसम्बर को होगी। पूर्व की भांति ऑनलाइन फॉर्मेट और सुलहनामा दोनों पक्षों से लिया जाएगा। जिसकी प्रक्रिया ऑनलाइन रहेगी। काउंसलिग के बाद पक्षकारों को एक ओटीपी नंबर दिया जाएगा। 12 दिसम्बर को अंतिम अवार्ड देकर मामले का निपटारा कर किया जाएगा। जिनके पास मोबाइल या अन्य समस्याएं है। वे 12 दिसम्बर को विधिक प्राधिकार पहुंचकर अपना निपटारा करा सकते हैं। अन्यथा प्राधिकार के लैंडलाइन एवं मोबाइल नंबर 06112 238004 एवं 9386036502 पर सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक संपर्क कर जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। सचिव ने कहा कि मध्यस्थकार एवं काउंसलर की सूची शीघ्र ही बना दी जाएगी। फोन पर सम्पर्क करके दोनों पक्ष की सुनी जाएगी दलील

मालूम हो विधिक प्राधिकार ने सुलह की यह नई पद्धति आरंभ की है। सुलह के लिए पहले दोनों पक्षकारों से फोन पर संपर्क किया जाएगा। उनकी समस्याएं सुनी जाएगी। जब दोनों सुलह को तैयार होंगे तो उन्हें 12 दिसम्बर को अंतिम अवार्ड दिया जाएगा। यह तमाम प्रक्रिया भीड़ पर अंकुश लगाने के लिए किया गया है। बैंक, इंश्योरेंश तथा अन्य संबंधित कार्यालयों की बैठके कर निपटारे से संबंधित मामलों की सूची तैयार की जा रही है। उन्हें मामलों की सूची शीघ्र सौंपने को कहा गया है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.