रामगढ़ के चार शहीदों के परिजनों को बीएसएफ ने किया सम्मानित

एक दीया शहीदों के नाम के तहत सोमवार को हाई स्कूल में कार्यक्रम हुआ। जिसमें देश की रक्षा के लिए वीर गति को प्राप्त कर चुके शहीदों को नमन किया गया तथा उनके तैल चित्र के समीप दीया जलाया गया। तत्पश्चात उनके परिजनों को बीएसएफ हजारीबाग प्रशिक्षण केंद्र के प्रशिक्षु हेड कांस्टेबल अखिलेश पांडेय द्वारा अंगवस्त्र देकर सम्मानित किया गया। देश की रक्षा में शहादत दे चुके रामगढ़ के चार जाबांज शहीदों को रामगढ़ हाईस्कूल में श्रद्धांजलि दी गई। इस मौके पर छात्रों, शिक्षकों व समाजसेवियों ने शहीदों के तैलचित्र पर फूलमाला चढ़ा नमन किया।

बीएसएफ की तरफ से परिजनों को फूलों का गुलदस्ता व शॉल भेंट कर सम्मान से नवाजा। प्रधानाध्यापक रमेश गुप्ता ने भी शहीदों के परिजनों को सम्मानित किया। भारत माता के जयकारा व वंदे मातरम के जयघोष से स्कूल परिसर गूंज हो उठा। बरगद वृक्ष के नीचे स्थित ऐतिहासिक चबूतरे पर शहीद भगवान सिंह, शहीद धर्मेन्द्र कुमार सिंह, शहीद बच्चन सिंह व शहीद त्रिवेणी सिंह को लोगों ने श्रद्धा के साथ नमन व वंदन किया।

प्रधानाचार्य रमेश गुप्ता ने कहा कि इसी स्कूल से शिक्षा ग्रहण कर देश की रक्षा में वीरगति प्राप्त करने वाले शहीदों पर हमें गर्व है। संचालन कर रहे शिक्षक देवेन्द्र पांडेय ने चारों शहीदों के वीरगति प्राप्त होने की घटनाओं की जानकारी दी तो छात्रों ने नम आंखों और बुलंद हौसले के साथ शहीदों को सलामी दी। इस दौरान सहुका की शहीद त्रिवेणी सिंह की पत्नी मानिकराज कुंअर, रामगढ़ के भगवान सिंह की पत्नी कलावती कुंअर, बगाढ़ी धर्मेंद्र यादव के दीपक कुमार तथा खनेठी के शहीद बच्चन सिंह के परिजनों को सम्मान से नवाजा गया। इस मौके पर शिक्षिका सुमन सिंह, नीतू सिंह, रिकू पटेल, संतोष सिंह, शंकर सिंह, व रजनीकांत दूबे आदि शिक्षकों ने भी नमन किया।

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.