पश्चिम चंपारण में सड़क हादसे में युवक की मौत, दो घायल

रात्रि करीब 1145 बजे तीनों एक बाइक पर सवार होकर बारात से लौट रहे थे। जैसे ही गुरवलिया मंदिर के समीप पहुंचे विपरीत दिशा से आ रहे पिकअप बैन ने ठोकर मार दिया। तीनों को गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज अस्पताल में पहुंचाया गया। चिकित्सकों ने एक को मृत घोषित कर दिया।

Ajit KumarMon, 06 Dec 2021 08:49 AM (IST)
बेतिया-लौरिया मुख्य पथ पर गुरवलिया मंदिर के समीप हुई घटना।

बेतिया (पश्चिम चंपारण), जासं। बेतिया-लौरिया मुख्य पथ पर गुरवलिया मंदिर के समीप रविवार की देर रात सड़क हादसे में एक युवक की मौत हो गई है। जबकि दो अन्य युवक गंभीर रूप से घायल है। तीनों एक बाइक पर सवार होकर बारात से घर लौट रहे थे। इसी दौरान विपरीत दिशा से आ रहे पिकअप वैन की चपेट में आ गए। मृतक की पहचान चनपटिया थाना क्षेत्र के झखरा निवासी भुनेश्वर यादव के पुत्र भोला यादव (18) के रूप में की गई है। वह दसवी का छात्र था। जबकि भोला का चचेरा भाई अरुण कुमार व बरवाचाप के रामजी ठाकुर का पुत्र विकास कुमार गंभीर रूप से घायल है। गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज अस्पताल के चिकित्सकों ने विकास की स्थिति गंभीर देख बेहतर इलाज के लिए रेफर कर दिया है। अरुण का इलाज गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज अस्पताल में हो रहा है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार रात्रि करीब 11:45 बजे तीनों एक बाइक पर सवार होकर बारात से लौट रहे थे। जैसे ही गुरवलिया मंदिर के समीप पहुंचे विपरीत दिशा से आ रहे पिकअप बैन ने ठोकर मार दिया। तीनों गंभीर रूप से घायल हो गए। पुलिस और लोगों के सहयोग से तीनों को गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज अस्पताल में पहुंचाया गया। जहां चिकित्सकों ने एक को मृत घोषित कर दिया। मनुआपुल थानाध्यक्ष मोहम्मद अलाउद्दीन ने बताया कि मामले की जांच शुरू कर दी गई है। बता दें कि रविवार की दोपहर बेतिया लौरिया पथ के नंदनगढ़ कॉलेज के समीप भीषण सड़क हादसे में चार युवकों की मौत हो गई थी। अभी लोग इस घटना से उबरे भी नहीं थे कि हादसे में एक अन्य युवक की मौत और दो अन्य के घायल की सूचना ने लोगों को झकझोर कर रख दिया है। 

दुर्घटना में घायल महिला की मौत

औराई, संस : थाना क्षेत्र के ससौली गांव निवासी केशिया देवी ने रविवार को पटना के पीएमसीएच में दम तोड़ दिया। 30 दिसंबर को सड़क किनारे अलाव के पास अनियंत्रित कार की ठोकर से वह जख्मी हो गई थीं। वहीं ससौली गांव के ही बजरंगी पासवान की मौके पर ही मौत हो गई थी। केशिया की मौत के बाद परिवार पर संकटों का पहाड़ टूट गया है। मात्र एक बेटा है। पति भी फाइलेरिया रोग से ग्रस्त है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.