Muzaffarpur Crime: पत्नी व साली दो माह से रच रही थी राकेश की हत्या की साजिश, जानिए पूरा मामला

शराब धंधेबाज राकेश कुमार की कहानी धीरे-धीरे खुलने शुरू हो गई है। पत्नी साली साढू व शराब के धंधे में पार्टनर सुभाष था साजिश में शामिलहत्या के लिए ही बालूघाट में किराए पर लिया था फ्लैट राकेश व सुभाष ने कई स्थानों पर खरीदी थी जमीन।

Dharmendra Kumar SinghTue, 21 Sep 2021 10:19 AM (IST)
पत्‍नी की साज‍िश की वजह से पत‍ि की हत्‍या। प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

मुजफ्फरपुर, जासं। शराब धंधेबाज राकेश कुमार की हत्या की साजिश दो माह से रची जा रही थी। हत्या व शव के डिस्पोजल की तैयारी की गई थी। इस साजिश में राकेश की पत्नी राधा देवी, उसकी साली कृष्णा देवी, साढ़ू विकास कुमार व शराब के धंधे के पार्टनर सुभाष शर्मा शामिल था। इसी साजिश को अंजाम तक पहुंचाने के लिए सुभाष शर्मा ने बाढ़ पीडि़त होने का झांसा देकर बालूघाट स्थित सुनील कुमार शर्मा के मकान में राधा के लिए एक फ्लैट किराये पर लिया था। बाद में राधा इसमें अपनी छोटी बहन कृष्णा, उसके पति विकास व अपने भाई को रखने लगा। इसका मकसद था कि जब भी राकेश यहां आए तो सब मिलकर उसकी घेराबंदी कर सकें।

सुभाष के साथ कई बार भाग चुकी थी राधा 

सुभाष और राधा के अवैध संबंध को लेकर राकेश नाराज रहता था। वह अक्सर राधा की पिटाई कर देता था। पिटाई के बाद सुभाष के साथ भाग कर उसके घर पर चली जाती थी। बाद में राकेश उसे समझा कर वापस लाता था। इससे राधा व सुभाष परेशान हो गए थे। दोनों ने राकेश को रास्ते से हटाने का निश्चय किया। उसने राकेश की हत्या की साजिश रची। अखाड़ाघाट कर्पूरी नगर में जहां राकेश का घर था। वहां उसके अन्य स्वजन भी रहते थे। सभी का एक दूसरे के घर में आना-जाना लगा रहता था। काफी सघन बस्ती होने के कारण वहां हत्याकांड को अंजाम देना संभव नहीं था। इसलिए बालूघाट में ठिकाना तलाशा गया। इसका मकसद यह भी था कि सुभाष को यहां आने-जाने में किसी तरह की कोई रुकावट नहीं होगी। उसने किसी के माध्यम से सुनील कुमार शर्मा की मां से संपर्क साधा और बाढ़ पीडि़त होने का झांसा देकर किराये पर फ्लैट देने का आग्रह किया। उसने मकान में अन्य फ्लैट के किरायेदारों से एक हजार रुपये अधिक किराया देना भी स्वीकार किया।

अखाड़ाघाट में सुभाष व राकेश की शराब के धंधे की चलती थी फ्रेंचाइजी 

अखाड़ाघाट रोड, बालूघाट व सिकंदरपुर क्षेत्र में सुभाष व राकेश की जोड़ी शराब के धंधे की फ्रेंचाइजी खोल रखा था। बड़े धंधेबाजों से शराब लेकर इस क्षेत्र के छोटे-छोटे विक्रेताओं को आपूर्ति की जाती थी। इस धंधे की कमाई से दोनों ने कई स्थानों पर जमीन भी खरीदी थी। पुलिस उसकी संपत्ति का पता लगा रही है। दो माह पहले जब राकेश के ठिकाने से पुलिस ने शराब की बड़ी खेप पकड़ी तो खेल बिगड़ गया। पुलिस के भय से राकेश शुरू में इधर-उधर छिपता रहा, फिर भाग कर दिल्ली चला गया। इसी बीच सुभाष का उसके घर पर ज्यादा आना-जाना हुआ और उसने उसकी पत्नी राधा को अपने प्रेमजाल में फंसा लिया।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.